Breaking News

आचार संहिता: विधानसभा निर्वाचन 2018 होने लगे प्रतिबंधात्मक आदेश जारी

अवकाश पर रोक, ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर प्रतिबंध तो हथियारों के लायसेंस थाने में करवाने होगे जमा

मंदसौर। लोकहित को दृष्टिगत रखते हुए विधानसभा निर्वाचन 2018 के दौरान कानून एवं व्यवस्था सामान्य बनाए रखने के लिए कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रदत्तर शक्तियों का प्रयोग करते हुए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए हैं। मंदसौर जिले की सीमा में कोई भी व्यक्ति आग्नेय शस्त्रों (फायर आर्म्स), घातक अस्त्र-शस्त्र जैसे बंदूक, पिस्तौल, रिवाल्वर, बल्लम, खंजर, शमशीर या अन्य किसी भी प्रकार के घातक हथियार जिनसे जनसाधारण को चोट पहुंच सकती है या जिसके प्रयोग से लोकहित को खतरा हो सार्वजनिक रुप से प्रदर्शित नहीं कर सकेगा, चाहे वह व्यक्ति लाइसेंस धारी ही क्यों न हो। कोई भी व्यक्ति अथवा संप्रदाय या समूह संबंधित अनुविभागीय दंडाधिकारी/संबंधित कार्यपालिक दंडाधिकारी से 24 घंटे पूर्व वैधानिक अनुमति प्राप्त किए बगैर किसी भी स्थान पर आमसभा, धरना, रैली, प्रदर्शन एवं बंद ना तो आयोजित करेगा और ना ही इसके लिए प्रचार-प्रसार करेगा। ऐसी आमसभा, धरना, रैली या बंद में विस्फोटक पदार्थ लेकर उपस्थित नहीं होगा। संबंधित अनुविभागीय अधिकारी दंडाधिकारी/रिटर्निंग ऑफिसर अपने क्षेत्राधिकार में ध्वनि विस्तारक यंत्र तथा प्रचार-प्रसार हेतु वाहन की अनुमति प्रदान करेंगे।

 

ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर प्रतिबंध
विधानसभा निर्वाचन 2018 अवधि के दौरान कोलाहल पर नियंत्रण बनाए रखना लोकहित में आवश्यक है। इस संबंध में मध्यप्रदेश कोलाहल नियंत्रण अधिनियम 1985 की धारा 10 के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कलेक्टर ने जिला मंदसौर की परिधि में 6 अक्टूबर 18 से 31 दिसंबर तक के लिए ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग के संबंध में प्रतिबंधात्मक आदेश पारित किया है।

 

अधिकारी/कर्मचारियों के अवकाश पर प्रतिबंध
कलेक्टर श्रीवास्तव ने निर्वाचन कार्य के सुचारू रूप से संपादन के लिए अधिकारियों/कर्मचारियों की आवश्यकता तथा निर्वाचन के महत्व को देखते हुए सभी प्रकार के अवकाश पर निर्वाचन संपन्न होने पर प्रतिबंध लगाया है। अनुभाग स्तर के तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के आकस्मिक अवकाश के समस्त आवेदन पत्रों का निराकरण संबंधित अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) अपने स्तर पर करेंगे। चिकित्सा अवकाश एवं अर्जित अवकाश के संबंधित आवेदन पत्रों को विभाग प्रमुख अपनी अनुशंसा के साथ जिला निर्वाचन अधिकारी को प्रेषित करेंगे। जिला कार्यालय प्रमुख के अवकाश व मुख्यालय छोड़ने की अनुमती जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा ही स्वीकिृत की जायेगी।

 

शासकीय कर्मचारियों की सेवाएं तत्काल वापस ले
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने मुख्यह कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मंदसौर, प्रभारी अधिकारी वित्तिय शाखा कलेक्टोरेट एवं जिला शिक्षा अधिकारी मंदसौर को निर्देश दिये की भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा निर्वाचन 2018 की घोषणा की जा चुकी है। आयोग द्वारा घोषणा किये जाने के आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित करने की दृष्टि से सांसद/विधानसभा सदस्यों एवं जिला पंचायत अध्यक्ष को उपलब्ध कराए गए शासकीय कर्मचारियों (निज सहायक) की सेवाएं तत्काल प्रभाव से वापस ले।

 

शस्त्र लायसेंस 31 दिसम्बंर 2018 तक निलम्बित
6 अक्टूबर को आदेश जारी कर, सम्पूर्ण मंदसौर जिले में सभी लायसेंसधारियों के शस्त्र लायसेंस 31 दिसम्बर 2018 तक के लिए तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिए है। लायसेंस में दर्ज शस्त्री संबंधित पुलिस थानों में तत्कााल जमा कराना अनिर्वाय होगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply