Breaking News

जिले में चल रही है माफियाओं के विरूद्ध प्रभावशाली कारवाई : पुलिस ने चिन्हित किये 31 नाम

मंदसौर। माफिया मुक्त मंदसौर के तहत मंगलवार को भी प्रशासन का पंजा शहर कोतवाली के सामने अवैध बिल्डिंग पर चला। प्रशासन के अनुसार इसमें हिस्ट्रीशीटर सुधाकर राव मराठा के रुपए लगे हैं। प्रशासन ने सोमवार को दोपहर 2 बजे कार्रवाई शुरू की थी जो मंगलवार को भी जारी रही। मंगलवार को सुबह 11 बजे ही नगर पालिका के दल बिल्डिंग के बचे हुए भाग को तोड़ने का अभियान जारी रखा। 1200 वर्गफीट क्षेत्र में 50 लाख रुपए से बनी तीन मंजिला इमारत को गिराने में प्रशासन को भारी बल लगाना पड़ा लगभग 200 से भी अधिक मजदूर, पोकलेन, जेसीबी के अलावा अन्य उपकरण भी लगना पड़े। पुलिस ने जिले में 31 भूमाफिया, अफीम तस्करों द्वारा संग्रहित कि गई अवैध संपत्ति का लेखा – जोखा भी सार्वजनिक किया है।

अंतर्राष्ट्रीय फरार अफीम तस्कर मो. शफी के भाई का बंगला भी टूटेगा

सुधाकर राव मराठा के बाद पुलिस ने अब कुख्यात अफीम तस्कर मो. शफी पर शिकंजा कसना शुरू किया है। मो. शफी के छोटे भाई मो. अयूब के हीरो होंडा शोरूम के पीछे गली में स्थित बंगले पर नगर पालिका ने नोटिस चस्पा किया है। इसमें लिखा है कि बंगले का निर्माण बिना अनुमति के किया गया है। तीन दिन में सामान हटाकर खुद ही तोड़ लें, नहीं तो नगर पालिका द्वारा तोड़ दिया जाएगा।

पुलिस द्वारा जारी सूची में यह हैं नाम

पुलिस विभाग ने हालांकि अधिकृत तौर पर सूची जारी नहीं कि परंतु पुलिस के सूत्रों ने बताया कि यह सूची लगभग अधिकृत है इसके मुताबिक ही उक्त अफीम तस्कर एवं भूमाफियाओं के खिलाफ सख्त से कार्रवाई करने की कानूनी प्रक्रिया चल रही है। पुलिस सूत्रों का कहना हैं कि भूमि के दस्तावेंजों को लेकर भ्रांति की स्थिति बन जाती है इसलिए पुलिस इस सूची को अधिकृत बताने से बच रही है क्योंकि इसमें भूमाफियाओं की चल – अचल सम्पत्तियों का विवरण है। पुलिस के मुताबिक सफेमा की कार्रवाई चुन्नू लाला, आजम लाला निवासी अखेरपुर, एजाज खां मेवाती नयापुरा, राकेश बलाई रीछालालमुंहा, कासम नूर अजमेरी गौरखेड़ी, विजयसिंह राजपूत चौंसला, वीरमलाल चांदाखेड़ी, दिनेश जवासिया, घनश्याम चौधरी कुचड़ौद, वरदीचंद लसुड़ावन, अब्दुल पिता बाबू बिल्लौद, पंकज पीपलखूंटा, सुखदेवी रीछालालमुंहा, धनराज पाटीदार नावनखेड़ी, मूलचंद पाटीदार सोनगरा, कमलसिंह राणा बंबोरी प्रतापगढ़, कमलसिंह राजपूत चिल्लौद पिपलिया, धर्मेंद्रसिंह धाकड़ी, परमानंद बालागुढ़ा, लक्ष्मीनारायण नालीखेड़ा, जाकिर मोहम्मद पावटी, नंदकिशोर चौहान बाबुल्दा, देवराम शिवगढ़, जगदीश पाटीदार धलपट, बालूसिंह गुर्जर ढाबला महेश, तूफानसिंह राजपूत नारियाखुर्द आदि आरोपीयों पर कार्रवाई होने की संभावना प्रबल होती जा रही है। यदि उपरोक्त प्रभावशाली व्यक्तियों के विरूद्ध प्रशासन कार्रवाई करने में सफल होता है तो यह माफियाओं पर कि गई कार्रवाईयों में अभी तक की सबसे बड़ी कार्रवाई होगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply