नगर पालिका में फिर से काम पड़े ठप्प

15 दिनों से सीएमओ गायब, अग्रिम जमानत याचिका भी वापस ली

मंदसौर। मुख्यनपाधिकारी श्रीमती सविता प्रधान गौड़ अपना गिरफ्तारी वारंट जारी होने के बाद से छु्ट्टी पर चल रही है। बुधवार को हाई कोर्ट में लगी उनकी अग्रिम जमानत याचिका को भी उनके वकील ने वापस ले ली। मंदसौर नगर पालिका में बिना सीएमओ के कई काम अटक पड़े है। वैसे ही जब से नपाध्यक्ष पद पर रहते हुए प्रहलाद बंधवार की हत्या के बाद से ही नगर पालिका व्यवस्थित नहीं चल पा रही है और अब एक बार फिर नपा के महत्वपूर्ण सभी कार्य ठप्प से हो गए है।

मंदसौर नपा में पदस्थ सीएमओ श्रीमती सविता प्रधान गौड़ ने मंडला में रहते हुए आर्थिक अनियमिताएं की थी। जिसके बाद शिकायतकर्ता की अनिल जैन ने उस मामले में कोर्ट पहंुच गए और विगत दिनों मंडला स्पेशल न्यायालय ने सीएमओ सविता प्रधान का गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया था। जिसके बाद पहले तो मंडला न्यायालय ने सीएमओ की अग्रिम जमानत याचिका खारिज की और उसके बाद हाई कोर्ट से भी राहत नहीं मिलते देख बुधवार को उनके वकिल ने अग्रिम जमानत याचिका वापस ले ली है। अब जब याचिका वापस ले ली है तो ऐसी दशा में या सीएमओं की गिरफ्तारी होगी या फिर सीएमओ फिर से अग्रिम जमानत याचिका दायर करेगी जो भी सभी प्रक्रियाओं में 15 से 20 दिनों का समय लगेगा ऐसे में नपा के कार्य जल्द ही सुचारू रूप से प्रारंभ हो पायेगे इसकी संभावनाएं कम ही लगती है।

बार – बार आ रही है रूकावटें

नपा प्रहलाद बंधवार की हत्या के बाद से सुचारू रूप से नहीं चल पाई है। पहले अध्यक्ष पद को लेकर नपा में असंमजस की स्थिति थी लम्बे वक्त बाद हनीफ शेख को राज्य शासन ने अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया था। इसके बाद दो – दो सीएमओं का विवाद नपा में चला। वो विवाद थमने के बाद लगा कि अब नपा अच्छे से चल पायेगी लेकिन अब फिर से सीएमओ श्रीमती प्रधान का मामला आ गया। खैर जो भी इन सब मामलों में परेशान तो आम जनता को ही होना पड़ रहा है।

Hello MDS Android App

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply