नगर पालिका सीएमओं की कार्यप्रणाली शंका के घेरे में

सिर्फ चमकोमाइसिन दे रही नपा, पूर्व मंत्री ने भी उठाए नपा पर प्रश्न

एमओएस के मामले में सिर्फ एक कार्रवाई बाकी को सिर्फ नोटिस

मंदसौर। वैसे तो नगर पालिका की कार्यप्रणाली सदैव ही शंका के घेरे में रहती है। वैसे भी नगर पालिका में कोई काम रूपयें दिए बिना नहीं होता। भ्रष्टाचार के मामले में नपा पर आरोप तो सदैव ही लगते रहे। लेकिन अब मुख्य नपाधिकारी सविता प्रधान गौड़ की कार्यप्रणाली से भी नपा की साख तगढ़ी बिगढ़ रही है और अब तो एक बार फिर पूर्व मंत्री व कांग्रेस के कद्दावर नेता नरेन्द्र नाहटा ने भी नपा की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह लगाया है और जो बात श्री नाहटा कह रहे है वो सत्य भी नजर आती है।

सीएमओं मेडम प्रधान बिल्कुल तनाशाही अंदाज में कार्य कर रही है। गरीबों की गुमटीयों पर बुल्डोजर चलाना था तो मेडम प्रधान ने न आंव देखा न तांव और नियमों को हवाला देकर गरीब गुमटी व्यवसाईयों को अतिक्रमण हटाने के नाम पर बेरोजगार कर दिया। मेडम प्रधान इतनी तानाशाह हो गई है कि वे किसी की नहीं सुन रही है उनकी कार्यप्रणाली से जहां नपा कठघरे में है वहीं कांग्रेस की परिषद की भी खूब किर किरी हो रही है।

भ्रष्टाचार के आरोप तो मेडम प्रधान के लिए आम है

सीएमओ मेडम प्रधान के लिए भ्रष्टाचार के आरोेप तो आम बात है। नीमच में भी जब वे सीएमओं रही थी उनके उपर खूब भ्रष्टाचार के आरोप लगे। सुर्खियों में बने रहने की शौकिन मेडम प्रधान अब एमओएस को लेकर अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत कर रही है ऐसी जन चर्चाएं है। सीएमओं ने द्वेषतापूर्ण गांधी चौराहे पर बन रहे महज 500 फीट के निर्माण को सिर्फ एमओएस के उल्लघंन पर ताबड़तोड तोड़ दिया लेकिन उस घटना के लगभग एक माह के बाद भी आज दिनांक तक नगर के अन्य किसी भी निर्माण इस तेजी से कार्रवाई नहीं हुई और वहीं कई निर्माणकर्ताओं ने तो और तेजी से कार्य करवा रहे है। कही न कहीं सीएमओ मेडम प्रधान की कार्यप्रणाली शंका के दायरे में है। इसलिए अब पूर्व मंत्री व कांग्रेस के कद्दावर नेता नरेन्द्र नाहटा को प्रेस वक्तव्य जारी करना पड़ा।

श्री नाहटा ने यह कहा – मैनेज होने की परंपरा को तोड़े कांग्रेस परिषद

पूर्व मंत्री नरेन्द्र नाहटा ने नगर पालिका मन्दसौर को बड़े भवनों के अतिक्रमण के विरूद्ध कार्यवाही के लिये बधाई दी है। आवष्यकता इस बात की है कि रसूखदार व्यक्तियों के निर्माण और नामान्तरण पर नगर पालिका पहले कार्यवाही करें ताकि जनता में विष्वास बन सकें।

श्री नाहटा ने कहॉ कि गुमटी हटानें के अभियान के समय सभी पार्टी के नेताओं ने चाहा था कि पहले बड़े भवनों के अतिक्रमण पर कार्यवाही होना चाहिए। जब नगर पालिका ने कार्य प्रारंभ किया है तो उसे बधाई दी जाना चाहिए। श्री नाहटा ने कहा उन्हें यह जानकार दुःख हुआ कि पार्टी आधार पर नगर पालिका के इस प्रयास का विरोध किया जा रहा है। विरोध करने वाले व्यक्ति किस आधार पर अतिक्रमण को उचित ठहरा सकते है।

नगर पालिका परिपद् के सदस्यो, अधिकारी एवं कर्मचारियों को यह तथ्य स्वीकार करना चािहए कि निर्माण और नामान्तरण में हो रही अवैध कार्यवाहियॉ और भ्रप्टाचार की जवाबदारी उनकी भी आती है। श्री नाहटा ने कहॉ कि वे किसी पर आरोप नही लगा रहे परन्तु जिस तरह ’’सब हो जाता है’’ संस्कृति बनाई गई, उनकी नैतिक जवाबदारी तो बनती ही है। एक निर्माण के दो नक्षों की व्यवस्था वर्पो से क्यांे चल रही है। यदि अब नये निर्माण करने वाले भी उसी व्यवस्था का पालन करें तो दोप परिपद् का है, निर्माण कार्यकर्ताओं का नहीं।

पिछले वर्पो में जिस तरह सब ’’मेनेज’’ हो जाने की व्यवस्था रही है उसके चलते आम नागरिक यह मान रहा है कि अन्ततः इन नोटिसों का भी यह हश्र्र होगा। अब नगर पालिका का दायित्व है कि वह ऐसे निर्माणकर्ताओं की सूची सार्वजनिक करें जिन्हें नोटिस दिये गये है। बाद में की गई कार्यवाही को भी सार्वजनिक किया जायें ताकि समूची व्यवस्था पारदर्षी बन सकें।

नगर पालिका को यह भी स्वीकार करना चाहिए कि जिन्हें नोटिस दिये गये होंगे उन्हें पहले से ही इंकार कर दिया जाता तो वे नियमों का उल्लंधन नही करते। इसमें आम नागरिक ही ज्यादा है नेतागण कम। परन्तु तब गलत काम को सब तरफ से प्रोत्साहन मिलता रहा है। आम आदमी को विष्वास तब आयेगा जब उससे पहले पहुॅच वाले व्यकितयों के द्वारा किये गये गलत कार्यो के विरूद्ध कार्यवाही हो।

कांग्रेस के लिए गढ्डा बड़ा कर जाऐगी सीएमओ

मंदसौर नगर पालिका में लगभग 40 वर्षो से अधिक समय से निर्वाचित होकर भाजपा की परिषद बनी है। लम्बे समय बाद पहला मौका आया जब किस्मत के बल पर मंदसौर नगर पालिका में कांग्रेस की परिषद बैठी हो। अब कांग्रेेस के पास मौका है वे अच्छे कार्य कर मंदसौरवासियों के दिल में जगह बना सकते हैै। नपाध्यक्ष मो हनीफ शेख निसंदेह बेहतरीन कार्य कर रहे है और अपने कार्यकाल को वे यादगार बना देंगे यह भी तय है लेकिन सीएमओ मेडम प्रधान जरूर कांग्रेस के लिए गढ्डा बड़ा करके जायेगी यह तय लग रहा है।

Hello MDS Android App

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply