Breaking News

नाकाम पुलिस : सात माह बाद भी नही सुलझी भुवानसिह की मर्डर केस की गुत्थी’

हत्याओं के प्रकरणों को सुलझाने में नाकाम रही पुलिस

सीतामऊ। अंचल के गांव भरतपुरा में 30 वर्षीय युवक की सनसनीखेज हत्या को सात माह बीत जाने के बाद भी हत्यारे पुलिस के शिकंजे से दूर है वहीं पुलिस अंधेरे में हाथ पांव मार रही है पूर्व में भी दो वृद्ध महिलाओं की हत्या का कोई सुराग नहीं लग पाने से हत्यारे पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ सके एवं प्रकरण फाइल में दफन हो गये इसी तर्ज पर यह तीसरी घटना भी फाइलों में दफन होती दिख रही है।

उल्लेखनीय है कि 26 दिसंबर 2017 को पिं्रस बस के ड्राइवर भुवान सिंह शौच के लिए गया था इसी बीच अज्ञात हत्यारों ने प्राणघातक हमला कर भगवान सिंह की हत्या कर दी थी पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी लेकिन कई महीने बीत जाने के बाद भी पुलिस हत्यारों तक नहीं पहुंच पाई जिससे हत्यारे पुलिस की गिरफ्त से दूर खुलेआम घूम रहे हैं इस संबंध में पुलिस कप्तान मनोज कुमार सिंह ने पांच थानों के निरीक्षकों को जांच सौपकर इनाम की घोषणा भी की थी लेकिन पुलिस हत्या तक पहुंचने में नाकाम रही पुलिस की इस नाकामी से बदमाशों के हौसले बुलंद होते जा रहा है।

इन हत्याओं का भी नहीं हो पाया खुलासा- 21 जून 2011 को वर्द्ध महिला नाथी बाई परसराम खाती अपने घर के बाहर सो रही थी। वही बदमाशो ने लूट की नीयत से नाथी बाई के पैर में चांदी के कड़ो को निकालने के लिए नाथीबाई के दोनों पैर काट दिये थे व नाथी बाई की हत्या कर दी थी। पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर मामले को जांच में लिया लेकिन आठ वर्ष बाद भी पुलिस हत्यारो तक नही पहुँच पाई वही उक्त प्रकरण भी फाइलों में दफन हो गया।

19 वर्ष पूर्व का भी मामला फाइलों में कैद- 23 सितंबर 1999 को वर्द्ध महिला की लाश मोड़ी माताजी के पास एक कुँए में बोरे में भरी मिली थी उक्त महिका की शिनाख्त मैना बाई पति परसराम के रूप में हुई थी। महिला 17 दिसबंर 1999 से लापता थी बदमाश लूट की नीयत से मैना बाई की हत्या कर बोरे में भरकर कुँए में फेंक गए थे। उक्त प्रकरण में भी पुलिस हत्यारो तक नही पहुँच पाई और प्रकरण फाईलो में दफन हो गया।

थाना प्रभारी का तबादला-भुवानसिह के हत्या की जाँच थाना प्रभारी केएल दांगी कर रहे थे लेकिन गत दिनों उनका तबादला जिला मुख्यालय पर हो गया है।
जांच में है मामला- इस सम्बंध में थाना प्रभारी भुवानसिह गोरे का कहना है कि उक्त मामले के कोई ठोस सुराग नही मिल पाने से मामला जांच में है जल्द ही हत्यारे पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply