Breaking News

नाहरू भाई ने मात्र 48 घंटों में बनाई ऑटोमेटिक सैनेटाइजर स्प्रे मशीन – जिला चिकित्सालय को देंगे दान

नयापुरा निवासी समाजसेवी व मशीन निर्माता नाहरू खां औद्योगिक प्रगति नवाचार व वैज्ञानिक सोच रखते हैं। उन्होंने यूट्यूब पर सर्च कर मात्र 48 घंटे में ऑटोमेटिक सैनिटाइजर स्प्रे मशीन बनाई है। इसमें प्रवेश करते ही मशीन में लगे 6 फव्वारों से सैनिटाइजर स्प्रे शुरू होगा और व्यक्ति के बाहर निकलते ही बंद हो जाएगा। पांच फीट लंबी मशीन में सैनिटाइजर के लिए 100 लीटर का टैंक रहेगा। मशीन को एक ट्रे में रखा जाएगा। इससे स्प्रे के बाद निकलने वाला पानी ट्रे में इकट्ठा होगा। शहर में कौमी एकता की मिसाल कहे जाने वाले नाहरूभाई पशुपतिनाथ व नालछामाता मंदिर में जनरेटर दान कर चुके हैं।

मंदसौर। आज कोरोन वायरस ने पूरी दुनिया में हाहाकार मचा रखा है। ऐसे में कोरोना वायरस के बचाव के लिए हर कोई नवाचार कर रहा है। कोई इसका वैक्सीन बनाने में लगा है तो कोई परंपरागत तरीकों से इसका उपचार खोज रहा है। ऐसे में मंदसौर के समाजसेवी और उद्योगपति नाहरू भाई ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए मात्र 48 घंटे में ऑटोमेटिक सैनेटाइजर स्प्रे मशीन बना दी। आने वाली परिस्थितियों से निपटने के लिए नाहरू भाई स्प्रे मशीन को जिला अस्पताल में दान करेंगे। जिससे अस्पताल में दाखिल होने वाले डॉक्टर, नर्स स्टाफ व मरीजों को सैनिटाइज्ड करने के बाद प्रवेश मिल सकेगा।

सबसे उल्लेखनीय बात यह है कि नाहरू भाई कोई इंजिनियरिंग की डिग्री हासिल किये हुए नहीं है। वे तो केवन दूसरी पास है लेकिन उनके जज्बे ने उन्हें आज मंदसौर का उद्योगपति बना दिया है। उन्होने स्वयं प्याज और लहसुन की ग्रेडिंग मशीन बनाकर व्यापारियों को इस क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाया था। आज नाहरू भाई के द्वारा बनाई गई ग्रेडिंग मशीन देश भर में जाती है।

यह है विशेषता

नाहरू भाई ने बताया कि मशीन की हाईट 5 फीट रखी गई है। इसमें 100 लीटर का टैंक भी लगाया गया है वहीं 5 से 6 फव्वारे मशीन के अंदर है। मशीन में 1 मिनिट में 15 से 18 लोग निकल सकेंगे।

कई बार सम्मानित हो चुके है नाहरू भाई

समाजसेवी नाहरू भाई यूं तो कई बार देश भर में सम्मान पा चुके है। लेकिन हाल ही में मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्हें कैप्टन ऑफ इण्डस्ट्रीज के अवार्ड से सम्मानित किया था। नाहरू भाई जब से मंदसौर में लॉकडाउन हुआ तब से लगातार गरीबों के भोजन के पैकेट बनवाकर उन्हें जरूरतमंदों तक पहुँचा रहे है। नाहरू भाई कौमी एकता की मिसाल भी है वे हिन्दू समाज के कई कार्यक्रमों में भी बढ़ – चढ़कर हिस्सा लेते है।

1 मिनट में 15 से अधिक लोग निकल सकेंगे

सैनिटाइजर स्प्रे बाॅक्स से निकलते समय आपके पेपर या रुपए गीले नहीं होंगे। एक मिनट में 15 से अधिक लोग निकल सकते हैं। हालांकि अभी इस मशीन लागत का आंकलन नहीं किया गया है, इसकी अधिकतम लागत डेढ़ लाख रुपए तक रहेगी।

काेशिश करने वालाें की हार नहीं हाेती- कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती, नाहरू खां कहते है बिना दौड़ में भाग लिए जीत की उम्मीद नहीं की जा सकती है। जीवन में किसी भी कार्य की शुरुआत पॉजिटिव सोच के साथ करते हैं। साइकिल दुकान पर भी कार्य किया है। हर व्यक्ति के जीवन का लक्ष्य होना चाहिए। मेरे इस हौसले में शाहिद खां, शहजाद खां व आबिद खां का सहयोग रहा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts