Breaking News

मंदसौर में एक साथ 10 कोरोना पॉजिटिव आए सामने : 24 वर्षीय युवती ने जीती कोरोना से जंग

मंदसौर. बुधवार रात को 10 लोगों की रिपोर्ट प्रशासन को मिली। इन सभी की रिपेार्ट पॉजिटिव पाई गई है। अब जिले मेंं कोरोना वायरस को अंाकड़ा 19 तक पहुंच गया है। सभी संक्रमितों को कोविड अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा है। कलेक्टर मनोज पुष्प ने बताया कि गुदरी निवासी 75 वर्षीय व्यक्ति की मौत हुई थी। जिसकी रिपोर्ट दो दिन बाद मिली थी। जिसमें मृतक को कोरोना पॉजिटिव आया था। जिसके बाद मृतक के संपर्क में आने वाले करीब 50 से अधिक लोगों को कोरोना सेंंटर में क्वारनटाइन कर सेंपल भेजे थे। इनमें से 40 लोगों की रिपेार्ट मिली है। जिसमें 30 नेगेटिव रिपोर्ट आई है और 10 पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। सभी पॉजिटिव मृतक के परिवारजन ही है। इसमें आठ महिलाएं और दो पुरुष है।

वरिष्ठ आईएएस कविंद्र कियावत द्वारा जिला कोरोना वायरस कन्ट्रोल रूम का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि टेलीमेडिसिन सेवा निरंतर रूप से चलनी चाहिए। इसके साथ ही व्हाट्सएप वीडियो कॉल के माध्यम से डॉक्टर वीडियो कॉल से ही लोगों को आवश्यक सेवा प्रदान करें। यह सभी सेवाएं लोक डाउन खुलने के पश्चात भी निरंतर रूप से चलनी चाहिए। जिससे लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। मेडिकल टीम के द्वारा सर्वे लगातार चलते रहना चाहिए। उसमें किसी प्रकार की नरमी न बरतें। कंट्रोल रूम पर प्रतिदिन कितने लोगों की कॉल आती हैं, कितने लोगों को संतुष्टप्रद समाधान किया जाता है।

24 वर्षीय युवती ने जीती कोरोना से जंग

प्रशासन को शहर के नगर पालिका कॉलोनी निवासी २४ वर्षीय युवती की दूसरी रिपोर्ट भी मिल गई है। जो नेगेटिव आई है। अब युवती पुरी तरह स्वस्थ्य है। जल्द ही युवती को कोविड अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। कलेक्टर मनोज पुष्प ने बताया कि युवती की दूसरी रिपोर्ट भी नेगेटिव आई है। अब युवती स्वस्थ्य है। जल्द ही डिस्चार्ज करने की प्रक्रिया की जाएगी। वरिष्ठ आईएएस कविंद्र कियावत द्वारा जिला कोरोना वायरस कन्ट्रोल रूम का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि टेलीमेडिसिन सेवा निरंतर रूप से चलनी चाहिए। इसके साथ ही व्हाट्सएप वीडियो कॉल के माध्यम से डॉक्टर वीडियो कॉल से ही लोगों को आवश्यक सेवा प्रदान करें। यह सभी सेवाएं लोक डाउन खुलने के पश्चात भी निरंतर रूप से चलनी चाहिए। जिससे लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। मेडिकल टीम के द्वारा सर्वे लगातार चलते रहना चाहिए। उसमें किसी प्रकार की नरमी न बरतें। कंट्रोल रूम पर प्रतिदिन कितने लोगों की कॉल आती हैं, कितने लोगों को संतुष्टप्रद समाधान किया जाता है। कितनी जगह पर मेडिकल टीम तत्काल पहुंचती है आदि व्यवस्थाओं के बारे में भी जानकारी ली गई।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts