Breaking News

मंदसौर से लड़ेंगे यशपाल सिंह सिसोदिया, भाजपा ने मध्यप्रदेश के लिए 177 उम्मीदवारों की सूची जारी की

  • मध्यप्रदेश में 230 विधानसभा सीटें, 53 उम्मीदवारों की दूसरी सूची कुछ दिनों बाद जारी होगी
  • मंदसौर से यशपाल सिंह सिसोदिया 3 बार चुनाव लड़ेंगे
  • मल्हारगढ़ से जगदीश देवड़ा 3 बाद चुनाव लड़ेंगे
  • सुवासरा से राधेश्याम पाटीदार चुनाव लड़ेंगे 

भोपाल/मंदसौर. भाजपा ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की पहली सूची शुक्रवार को जारी कर दी। इसमें 177 उम्मीदवारों के नाम हैं। दो मंत्रियों समेत 37 विधायकों के टिकट काटे गए हैं। वहीं 2013 के चुनाव में हार चुके कुछ नेताओं को भी मौका दिया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधनी सीट से ही चुनाव लड़ेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की गोविंदपुरा सीट और पूर्व मंत्री कैलाश विजयवर्गीय की सीट महू का इस सूची में जिक्र नहीं है।

 

भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार की सुबह मध्यप्रदेश की 177 सीटो पर अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए है। इसमें मंदसौर व मल्हारगढ़ से नाम रिपीट किए है। वहीं कांग्रेस की सूची अब तक जारी नहीं हुई है। मंदसौर से यशपालसिंह सिसौदिया (विधायक) को उम्मीदवार बनाया गया है। वहीं मल्हारगढ़ से जगदीश देवड़ा (विधायक) को उम्मीदवार बनाया गया है। सीतामऊ सीट पर पूर्व विधायक राधेश्याम पाटीदार को उम्मीदवार बनाया है। वर्ष-2013 में भी पार्टी ने पाटीदार को ही उम्मीदवार बनाया था। इस बार फिर पार्टी ने पाटीदार को ही मौका दिया है। इसके अलावा गरोठ सीट पर उम्मीदवार की घोषणा अभी नहीं हुई है। ऐसे में अब गरोठ सीट पर ही सबकी निगाहें अटकी है।

कांग्रेस की सूची नहीं हुई जारी 
कांग्रेस की सूची जारी होने की अफवाहें गुरुवार की सुबह से चल रही थी। एक लिस्ट भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। इसके बाद पार्टी पदाधिकारियों ने इस सूची को फर्जी बताया था। वहीं गुरुवार की शाम को संभावना जताई जा रही थी कि सूची जारी होगी, लेकिन सूची जारी नहीं की गई। शुक्रवार को भी दोपहर १२ बजे तक कांग्रेस की ओर से कोई लिस्ट जारी नहीं हुई। वहीं कांग्रेस कार्यालय पर दोपहर २ बजे युवक कांग्रेस की बैठक होने की सूचना है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि बैठक के बाद सूची जारी हो सकती है।

नामांकन जमा कराने का दौर आज से शुरु
28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर शुक्रवार को अधिसूचना जारी होगी। इसी के साथ ही शुक्रवार से ही नाम निर्देशन पत्र दाखिल करने का दौर शुरु हो चुका है। नामांकन दाखिल करने के दौर के साथ ही राजनीतिक सरगर्मिया भी तेज होगी। मंदसौर एसडीएम कार्यालय के आसपास सुरक्षा व्यवस्था को लेकर बेरीकेट्स व पुलिस फोर्स व चैकिंग प्वाइंट लगाया गया है। वहीं चुनाव चिन्ह भी चस्पा किए गए है। शुक्रवार से शुरु हो रहे नामांकन के दौर में 9 नवंबर तक नामांकन दाखिल किए जाएंगे। इन दिनों में 4 नवंबर को रविवार और 7 नवंबर को दीपावली का अवकाश रहेगा। इसके अलावा सभी दिनों में नामांकन दाखिल करने का काम चलता रहेगा। इसके बाद 12 नवंबर को इनकी जांच होगी और 14 नवंबर तक नाम वापसी होगी। इसके बाद प्रत्याशियों की सूची का अंतिम प्रकाशन होगा और चुनाव चिन्ह आवंटित होंगे। इसके बाद प्रचार का दौर चलेगा और 28 नवंबर को मतदान होगा। इसके बाद 11 दिसंबर को मतगणना होगी। इसे लेकर पुलिस व प्रशासन ने भी अपनी तैयारियां पूरी कर ली है।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह करेंगे रोड शो 
भारतीय जनता पार्टी मन्दसौर जिलाध्यक्ष देवीलाल धाकड़ ने बताया कि 4 नवंबर रविवार को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान रोड शो कर मन्दसौर की जनता से आशीर्वाद प्राप्त करेगें। मुख्यमंत्री का रोड शो खानपुरा केशव सत्संग भवन से प्रारम्भ होकर मण्डी गेट, सदर बाजार, धानमण्डी, बडा चौक, गणपति चौक, शुक्ला चौक, वरुण देव चौराहा, घण्टाघर, भारतमाता चौराहा, भण्डारी ब्रदर्स से होटल नीलम होते हुए नयापुरा रोड, श्री हंसराज कबाडी के घर से गोल चौराहा होते हुए बीपीएल चौराहा, गुप्ता कचौरी, आनन्द गरबा चौराहा से सीधा महारानी लक्ष्मीबाई चौराहा पर समापन होगा।

प्रत्याशी के अलावा चार समर्थक जा सकेंगे
नामांकन दाखिल करने पहुंचने वाले प्रत्याशी को रिटर्निंग अधिकारी के समक्ष भीड़ को बाहर ही छोडक़र जाना होगा। रैली में भीड़ जुटाकर शक्तिप्रदर्शन कर नामांकन दाखिल करने जाने वाले प्रत्याशियों को भीड़ को बाहर ही छोड़ फॉर्म जमा करने जाना होगा। नामांकन दाखिल करने के दौरान प्रत्याशी के अलावा उसके 4 समर्थक और साथ रहेंगे। यानी कुल 5 लोग ही रिटर्निग अधिकारी तक जा सकेंगे। जहां अधिकारी बैठेंगे उस कक्ष में सीसीटीवी कैमरें लगाए गए है तो दफ्तर के 100 मीटर दूर पुलिस बल तैनात रहेगा और सुरक्षा के लिए बैरिगेट्स भी लगा दिए गए है। नामांकन जमा कराने की पूरी प्रक्रिया की निर्वाचन आयोग वीडियोग्रॉफी करवाएंगा तो प्रत्याशी के निकलने वाले जुलूस व अन्य गतिविधियों पर भी नजर आयोग की टीम रखेगी।

एसडीएम कार्यालयों में होंगे नामांकन दाखिल
निर्वाचन के काम में इस बार संशोधन किया गया है। अब नामांकन प्रत्याशियों को एसडीएम कार्यालय पहुंचकर जमा कराना होंगे। जिले में आकर नामांकन जमा अब नहीं कराना होगा। रिटर्निंग अधिकारी यानी एसडीएम कार्यालय पहुंचकर प्रत्याशी अपना नामांकन दाखिल कर सकेंगे। मंदसौर में एसडीएम कार्यालय तो गरोठ, सीतामऊ व मल्हारगढ़ में एसडीएम कार्यालय पर रिटर्निंग अधिकारी के समक्ष पहुंचकर प्रत्याशी को अपना नामांकन दाखिल करना होगा। हर दिन की रिपोर्ट प्रतिदिन रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय के यहां से जिला रिटर्निंग अधिकारी तक पहुंचाई जाएगी।

यह है निर्वाचन का कार्यक्रम
– 2 नवंबर से 9 नवंबर तक नाम निर्देशन पत्र जमा कराने का दौर
– इसमें 4 नवंबर रविवार और 7 नवंबर दीपावली का रहेगा अवकाश
– 12 नवंबर को नामांकन पत्रों की होगी जांच
– 14 नवंबर तक नाम वापसी का चलेगा दौर
– 27 नवंबर को मतदान
– 11 दिसंबर को मतगणनाबीजेपी ने तीन सीटो पर रिपीट किए उम्मीदवार, कांग्रेस की सूची नहीं हुई जारी

 

दो मंत्रियों को टिकट नहीं

  • माया सिंह का ग्वालियर पूर्व से टिकट कट गया है। वे शिवराज सरकार में नगरीय प्रशासन मंत्री हैं। उनकी जगह सतीश सिकरवार को टिकट दिया गया है।
  • वन मंत्री रहे गौरीशंकर शेजवार की जगह सांची से उनके बेटे मुदित शेजवार को उम्मीदवार बनाया गया है।
  • व्यापमं घोटाले में आरोपी पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा के भाई उमाकांत को सिरोंज से टिकट दिया गया है।
  • देवास-शाजापुर से सांसद मनोहर ऊंटवाल को आगर से प्रत्याशी बनाया गया है।
  • आरडी प्रजापति का चंदला (छतरपुर) से टिकट काटकर उनके बेटे राकेश प्रजापति को टिकट दिया गया है।
  • ललिता यादव वर्तमान में छतरपुर से विधायक हैं। अब उन्हें बड़ा मलहरा सीट से टिकट दिया गया है।

 

2013 में हार गए थे ये नेता, फिर भी मिला टिकट
हरदा से कमल पटेल, उदयपुरा से रामकिशन, पवई से ब्रजेश प्रताप सिंह, इच्छावर से करण सिंह वर्मा, महेश्वर से भूपेंद्र आर्य, कसरावद से आत्माराम पटेल, गुड़ (सतना) से नागेंद्र सिंह को टिकट दिया गया है। ये 2013 में चुनाव हार गए थे।

दिल्ली में हुई थी बैठक 
एक दिन पहले ही दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हुई थी। इसी में संभावित उम्मीदवारों के बारे में चर्चा की गई थी। बैठक में मोदी के अलावा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शामिल हुए थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply