Breaking News

महाशिवरात्रि पर्व पर आज शिवालयों में उमडेगा श्रद्धालुओं का सैलाब

पशुपतिनाथ मंदिरमें महारूद्र्राभिषेक, चारों पहर की चार विशेष आरती होगी

मंदसौर। शुक्रवार को शिवालयों में शिवभक्तों की महाशिवरात्रि पर्व पर अपार भीड उमडेगी, सैकडो, नर-नारी बढ-चढकर पूजा अर्चना अभिषेक में भाग लेकर धर्मलाभ लेगें, शिवना तट पर विराजित जगप्रसिद्ध भूत भावन भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पर सुबह 04 बजे गर्भगृह के पट खुलेगे तथा प्रातः 6 बजे विशेष पूजन अभिेषेक किया जाएगा, रात्रि में चार पहर के चार रूद्राभिषेक, चार आरती होगें। नगर के सभी शिवालयों में आर्कषक विधुत साज सज्जा की गई है। कही महाआरती के आयोजन होगे तो कही महाप्रसादी भी वितरित होगी तो कही जागरण भी होगा। महाशिवरात्रि के पर्व को लेकर कलेक्टर के निर्देश के बाद मंदिर के तटों को गेरूआ रंग में रंगा गया है। मंदिर के तटों की अच्छी साफ – सफाई भी की गई है।

भगवान आशुतोष की रात्रिकालीन आराधना के संदर्भ में रात्रि 10 बजे से पूजन कर महारूद्रपाठ शुरू होगा और फिर अभिषेक शुरू किया जावेगा, रातभर प्रतिमा का विशेष श्रृंगार किया जाएगा चारो अभिषेक व आरती के समय प्रतिमा का श्रृंगार बदला जाएगा हर बार आकर्षक नयनाभिराम श्रृंगार किया जाएगा एवं धर्मालुजनों को प्रसाद वितरित किया जाएगा।

11 क्विंटल खीर का वितरण किया जावेगा।

प्रातः काल आरती मण्डल की युवा विंग द्वारा सुबह आरती के पश्चात से ही भगवान को 11 क्विंटल साबुदाने की खीर का भोग लगाकर मंदिर परिसर में ही भक्तो को की जावेगी।

सभी शिवलायों में आकर्षक विद्युत साज सज्जा की गई

मंदसौर नगर के अति प्राचीनतम शिवालयों जिनमें नीलकण्ड महादेव,जागेöर महादेव, भूतेश्वर महोदव, अमलेश्वर महादेव, विश्वपति महादेव, तापेश्वर महादेव, बडकेश्वर महादेव, वटकेश्वर महादेव, मंछाूपर्ण महादेव, भूरीया महादेव, जलेश्वर महादेव, सिद्धेश्वर महादेव, अभिनन्देश्वर महादेव, नरबदेश्वर महोदव सहित अनेक मंदिरो में साफ सफाइ कर विशेष विद्युत साज सज्जा आज महाशिवरात्री के पर्व को लेकर की गई है इन शिवालायों में प्रसादी एवं ठंडाई की व्यवस्था भी की गई है।

जलेश्वर महादेव को लगेगा 1 क्विंटल ड्रायफ्रूट के लड्डू का भोग

गणपति चौक जनकुपूरा स्थित प्राचीन बावड़ी में स्थित श्री जलेश्वर महादेव मंदिर पर महाशिवरार्ति पर्व उत्साह एवं उल्लास के साथ मनाया जाएगा । मंदिर समिति द्वारा ठंडाई एवं ड्रायफ्रूट की प्रसादी का वितरण किया जाएगा । तैयारियां पूर्ण कर ली गई है । मंदिर की आकर्षक विद्युत साज-सज्जा की जा रही है।

बावड़ी का जलस्तर बढ़ते ही होता है जलाभिषेक- समिति ने बताया कि नगर के सबसे प्राचीन शिवालय की गिनती में श्री जलेश्वर महादेव मंदिर भी आता है । यहां यह शिवलिंग प्राचीन बावड़ी के निकट स्थापित है।  जब-जब बावड़ी के पानी का जलस्तर बढ़ता है भगवान शिव का जलाभिषेक स्वयं होता रहता है। इस वर्षाकाल से लेकर अभी तक बावड़ी के पानी का जलस्तर शिवलिंग तक बना हुआ है। मोटर लगाकर यदि पानी खाली नहींकिया जाए तो मंदिर गर्भगृह में पहुंचना मुश्किल हो जाता है। मंदिर परिसर में ही भगवान श्री गणेश की आर्कषक खड़ी प्रतिमा भी विराजमान है । समिति ने अपील की है कि चमत्कारिक श्री जलेश्वर महादेव मंदिर पहुंचकर दर्शन लाभ लें।

श्री जागेश्वर महादेव में 3 क्विंटल प्रसाद का लगेगा भोग

नगर के नीम चौक स्थित अति प्राचीन चमत्कारिक शिवालय श्री जागेश्वर महादेव मंदिर में परम्परानुसार मनाये जाने वाले महोत्सव की तैयारियां लगभग 3 क्विंटल पेड़ा प्रसाद तैयार करने के क्रम 18 फरवरी से ही प्रारंभ हो गया था। जिसका वितरण आज 21 फरवरी शिवरात्रि को प्रातः 6 बजे से ही मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों को प्रदाय किया जाना प्रारंभ हो जाएगा जो 22 फरवरी को प्रातः 6 बजे महाआरती तक अनवरत् जारी रहेगा।

Hello MDS Android App

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts