Breaking News

मामला – भीलवाड़ा में बस – क्रूजर दुर्घटना का

मध्यप्रदेश शासन के द्वारा दी गई 2 लाख की सहायता से नहीं हो सकता इनका दुख कम, मासूम लड़ रही है जिन्दगी से जंग

मन्दसौर। राजस्थान सरकार की रोड़वेज बस ने यमराज का रूप् लेकर संधारा के शर्मा परिवार का बढ़ा वार किया जिसके कारण आज ग्यारहजनों को एक साथ मौत के काल में समाना पड़ा। डाईवर का लाईसेंस ही एक्सपायर हो चुका था बिना फिटनेस की बस डाईवर दोड़ा रहा था कौन सी निंदा में सोया हुआ था राजस्थान का परिवहन विभाग क्या इन रोड़वेज के उपर नहीं हो सकती है कार्यवाही राजस्थान सरकार के मुख्यमंत्री के द्वारा सिर्फ शोक व्यक्त करके कर ली अपनी इतिश्री जबकि इस घटना पर करना थी राजस्थान सरकार को बड़ी सहायता इस लापरवाही के कारण 11 जने तो असमय अपनी जान गंवा चुके हैं। लेकिन इस जंग से तीन जाने आज जंग लड़ रही है। घायल मोना पति स्व. प्रदीप शर्मा एवं इसकी मासूम दो साल की बालिका वेदिका पिता प्रदीप शर्मा के ऑपरेशन के लिए कोटा रैफर किया गया। अनुज पिता जगदीश शर्मा गंभीर घायल अवस्था में जिंदगी की जंग लड़ रहा है। शर्मा परिवार केसाथ आज मोना का पति प्रदीप शर्मा एवं इनकी माताजी कौशल्याबाई पति देवीलाल शर्मा भी इस मौत के काल में समा गई। आज मोना घायल अवस्था में भीलवाड़ा हॉस्पिटल मेंभर्ती एवं इसकी मासूम बालिका के पांव के ऑपरेशन के लिए कोटा रैफर किया गया। मध्यप्रदेश शासन के द्वारा जो सहायता मंजूर दो लाख रूपए की गई इस सहायता से इनका जीवन नहीं सुधर सकता है। जिस मोना के लिए उसके मामा भाग दौड़ कर रहे थे आज मोना के मामा संजय जोशी मंगल जोशी के पिताजी धन्नालालजी जोशी भी सदमे को सहन ना करके अपनी जान गंवा चुके है। ऋषियानंद नगर मंदसौर के आज मोना के मामा एवं सभी शासन से यह मांग करते है कि मोना एवं वेदिका व घायल अनुज का उच्च उपचार करवाकर इनकी जान बचावें एवं दो लाख रूपए की सहायता से यह परिवार नहीं संभल सकता । मृतक के परिवारों को एवं घायलों के परिवारों को सम्मानीय राशि मध्यप्रदेश शासन मंजूर करें एवं बचे हुए परिवार की वेदिका एवं सबका जीवन गुजर बस करने की उच्च व्यवस्था करें। आज ब्राह्यण समाज में इस बात का रोष है शासन के द्वारा इनकी कम राशि क्यों मंजूर की जिला कलेक्टर इस ओर ध्यान दें।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts