Breaking News

युवराजसिंह हत्याकांड का मास्टरमाइंड दीपक तंवर उदयपुर में पकड़ा गया

मंदसौर। विहिप के पदाधिकारी युवराजसिंह हत्याकांड के मामले में फरार मास्टरमाइंड दीपक तंवर को उदयपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से एक देशी पिस्टल और दो जिंदा कारतूस भी मिले हैं। मंदसौर की पुलिस ने आरोपित पर 10 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किए थे। पर उन तक पहुंच नहीं पाई। इधर सूत्रों की माने तो दीपक तंवर ने राजस्थान में सरेंडर इसलिए किया है कि अब उन्हें राजस्थान की जेल में ही रहने को मिलेगा।

उदयपुर के हिरणमगरी थानाधिकारी डॉ. हनवंतसिंह राजपुरोहित ने बताया कि 17 फरवरी को सबसिटी सेंटर से यूआईटी ओपन ओडिटोरियम थियेटर होटल वेस्टवुड के सामने वाली रोड पर दीपक तंवर पिता जीवन तंवर (34) निवासी मंदसौर को गिरफ्तार कर एक देशी पिस्टल मय स्टील की मेगजीन लगी हुई, दो जिंदा कारतूस जब्त किए। आरोपित ने पूछताछ में विहिप नेता युवराजसिंह हत्याकांड में खुद को फरार बताया। 9 अक्टूबर 2019 को गीताभवन अंडरब्रिज के पास युवराजसिंह चौहान की हत्या का मास्टरमाइंड दीपक तभी से फरार था। हत्याकांड के बाद से दीपक फरारी काटने के उदयपुर, मुंबई, तिरूपति, इंदौर, उज्जौन, आगर, मथुरा, हरिद्वार, ऋषिकेेश, दिल्ली, जयपुर, अहमदाबाद, इंदौर, आगरा, हरिद्वार, उदयपुर घूम रहा था और अब इंदौर जाने की फिराक में था।

रिश्तेदारों के मोबाइल से कर रहा था बात

दीपक घटना के दिन मंदसौर से भाग कर उदयपुर आ गया था और मोबाइल तोड़ दिया था। वह अपने चचेरे मामा कालू निवासी अंबामाता के पास रहने लगा। दीपक पुलिस से बचने के लिए मोबाइल का प्रयोग नहीं कर रहा था। काम पड़ने पर वह रिश्तेदारों के मोबाइल से ही बात कर रहा था। दीपक तंवर फरारी के दौरान उदयपुर में चचेरे मामा के पास, इंदौर में मौसी किरण के यहां, आगर में बहन राखी के यहां रुका था और धार्मिक स्थलों में रूककर फरारी काट रहा था।

अभी तम मामले में सात आरोपित हुए गिरफ्तार

दीपक तंवर ने इस घटनाक्रम के दौरान पुलिस को गुमराह करने की पूरी कोशिश की थी। वह अपनी लोकेशन उदयपुर बताने के लिए पहले से ही उदयपुर चला गया था।

बाद में मंदसौर में अपने शूटर छोटू उर्फ फैजान, अंकित तंवर व लाला गोस्वामी को भेजकर युवराज सिंह की तीन गोली मारकर हत्या करा दी। पुलिस ने तीनों शूटरों को तो जल्द ही 24 घंटे मंें गिरफ्तार कर लिया था लेकिन मास्टरमाइंड दीपक तंवर तक नहीं पहुंच सकी थी। हत्याकांड में शामिल अन्य आरोपित विक्की उर्फ हेमंत गौसर, अनिल, जितेंद्र जाटव, सुनील गोस्वामी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। ।

रिमांड पर है दीपक

मंगलवार को उदयपुर पुलिस ने दीपक तंवर को कोर्ट में पेश किया गया था जहां से उसे 21 फरवरी तक पुलिस रिमांड पर सौंपा गया है। पुलिस उससे अवैध हथियार को लेकर पूछताछ करेगी। मंदसौर पुलिस से उप निरीक्षक मनोज महाजन व प्रआ प्रदीप तोमर भी जल्द ही उदयपुर जाकर तंवर से पूछताछ करेंगे और उसे प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार कर हत्या के मामले में अग्रिम कार्रवाई करेंगे।

50 हजार नगद ले गया था दीपक

आरोपित दीपक तंवर भागते समय 50 हजार रुपए ले गया था। उसके खाते में 70 हजार रुपए पहले से ही थे। इन्हीं रुपयों से उससे अपना गुजारा किया था।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts