Breaking News

लॉकडाउन: नो व्हीकल झोन – पूरे मंदसौर के सभी मार्ग बंद, बेरिगेट्स को जंजीरों से बांधा

सभी चौराहे पूरी तरह से सूनसान

मंदसौर। पूरे भारत के साथ कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ते हुए मंदसौर भी लॉकडाउन के तहत पूरी से बंद पड़ा है। नगर के सभी प्रमुख चौक, चौराहे, मार्ग पूरी तरह से बंद है। नो व्हीकल झोन घोषित होने के बाद पुलिस ने सम्पूर्ण मंदसौर के रास्ते बेरिगेट्स लगाकर बंद कर दिये हैं और जंजीरो और लोहे के तारों से बांध दिया ताकि कोई उसे हटाकर निकल न सकें।

हालत यह हैं कि किसी भी व्यक्ति को अभिनंदन नगर क्षेत्र से नई आबादी महाराणा प्रताप तक आने में पसीना आ जायें इतने रास्तें बंद है। कोई भी व्यक्ति अपने मोहल्ले अपनी कॉलोनी से बाहर गाड़ी लेकर नहीं जा सकता है और मान भी लिया जाये कि वो व्यक्ति जैसे – तैसे करके निकल भी जायें तो हर चौराहे और मार्ग पर पुलिस तैनात है जो अब सीधे गाड़ी जब्त करने की कार्रवाई कर रही है। इतने ताम झाम करने का असर यह हुआ कि शहर में अब लॉकडाउन के नियमांे का पालन अच्छे से किया जा रहा है। लोग अपने घरों से बाहर निकलना बंद हो गए है।

सुबह भी छूट के समय यह मार्ग नहीं खोले जा रहे है लोगांे को बेरिगेट्स के यहां ही गाड़ीयां खड़ीकर एक से दो किमी पैदल चलकर अपना काम करना पड़ रहा है।

छूट के समय कम हुई भीड़
लॉकडाउन में जहां पहले छूट के समय अत्यधिक भीड़ बाजारों में उमड़ रही थी। अब मंदसौर को झोन में बांटने व समस्त रास्ते बंद करने के बाद सुबह छूट के समय भी भीड़ कम हो गई है।

पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है सामान
लॉकडाउन के दौरान अभी तक किसी भी वस्तु की कमी मंदसौर में नहीं आई है। इसी प्रशासन की अच्छा प्रबंधन ही कहेंगे। दैनिक उपयोग की जरूरी वस्तुएं दूध, सब्जीयां, फल, राशन सबकुछ भरपूर मात्रा में उपलब्ध है।

बेरिगेट्स कम पड़े तो पलंग पेटी से रास्ते बंद कर दिए
पूरे शहर के मार्गो को इस तरह पक्के से बंद करने का काम यातायात विभाग का पहली बार ही पड़ा है। इसलिए उनके पास बेरिगेटस् ही कम पड़ गए है। तो यातायात पुलिस ने कई मार्गो पर पलंग पेटी और लोहे के पाइप की जुगाड़ लगाकर उन्हंे बंद कर दिया पर छोड़ा किसी मार्ग को नहीं है।

धानमंडी में नहीं लगने दी भीड़
अभी तक देखने में आ रहा था कि सुबह छूट के समय धानमंडी क्षेत्र में अत्यधिक भीड़ जमा हो रही थी और सोशयल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया जा रहा था। गुरूवार को पुलिस की सख्ती के कारण धानमंडी में भीड़ जमा नहीं हो पाई।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts