Breaking News

श्री तलाई वाले बालाजी मंदिर भक्त मंडल द्वारा मन्त्र अमृतं तत्वार्थ महोत्सव का शुभारंभ करेंगे पूज्य शंकराचार्यजी

वेद, पुराण, उपनिषद, मानस तथा ब्रह्म सूत्र के दिव्य मंत्रों से जीवन को सकारात्मक दिशा देने की सीख पर आठ दिवसीय व्याख्यानमाला आज से

मंदसौर। श्री तलाई वाले बालाजी भक्त मंडल द्वारा आगामी 25 दिसम्बर से एक अभिनव एवं आलोकिक आयोजन मंदसौर शहर में किया जा रहा है। इसके तहत वेद, पुराण, उपनिषद, मानस तथा ब्रह्म सूत्र एवं अन्य दिव्य ग्रंथों के दिव्य मंत्रों की व्याख्या की जाएगी। वर्तमान समय में मनुष्य को प्रतिदिन विभिन्न तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इस कारण से प्रत्येक व्यक्ति चाहे वह पुरूष, महिला, बालक, बालिकाएं सभी अपने आप को तनाव ग्रस्त महसूस करते हैं। ऐसे में किस तरह से अपने जीवन के सभी उद्देश्यों को प्राप्त किया जा सके, इसके लिए उन्हें उचित मार्गदर्शन का अभाव रहता है। मानव जीवन पर धर्म शास्त्रों में उल्लेखित दिव्य मंत्रों के सकारात्मक प्रभावों पर व्याख्यानमाला का आयोजन मन्त्र अमृतं कार्यक्रम के तहत होगा। इस कार्यक्रम का शुभारंभ भानपुरा पीठाधीश्वर, जगतगुरू शंकराचार्य पूज्य स्वामी श्री ज्ञानानंद तीर्थ महाराज के सानिध्य में आपके ही करकमलों से होगा। संजय गांधी उद्यान में होने वाले इस आयोजन में आठ दिवस तक जीवन में आने वाली चुनौतियां एवं जीवन को दिशा देने हेतु विभिन्न आयामों पर मार्गदर्शन देने के लिए व्याख्यान माला होंगे। शुभारंभ समारोह में विशिष्ठ आतिथ्य सोमनाथ विश्वविद्यालय के प्राचार्य तथा देश के प्रकाण्ड विद्वान पं. नरेन्द्र पंड्या प्रदान करेंगे। यह जानकारी देते हुए श्री तलाई वाले बालाजी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं एडव्होकेट श्री धीरेन्द्र त्रिवेदी तथा भक्त मंडल के डॉ. कुशल शर्मा, श्री गिरिश कटलाना, श्री मिलिन जिल्लेवार, श्री ब्रजेश जोशी, श्री कारूलाल सोनी, श्री नरेन्द्र अग्रवाल, श्री विकास आचार्य, न्यासीगण श्री ओमप्रकाश व्यास, श्री जयप्रकाश सोमानी, श्री भागीरथ हिवे, श्री गोपाल गोयल, श्री अशोक गुप्ता, श्री महेश कटलाना, श्री निरंजन अग्रवाल, श्री धन्नालाल माली ने बताया कि श्री तलाई वाले बालाजी मंदिर ट्रस्ट द्वारा किए जाने वाले इस आयोजन में अहमदाबाद के पुराण मर्मज्ञ एवं स्वर्ण पदक विजेता आचार्य हरेश जोशी द्वारा प्रतिदिन सायं 7 से 9 बजे तक दिव्य मंत्रों का विश्लेषण कर जीवन को सकारात्मक रूख देने एवं प्रत्येक आयु वर्ग के व्यक्ति चाहे वह महिला हो या पुरूष उसके जीवन को आलोकित किए जाने पर मार्गदर्शन दिया जाएगा। श्री त्रिवेदी ने बताया कि 1 जनवरी तक चलने वाले इस आयोजन में अलग-अलग दिव्य ग्रंथों जो भारतीय संस्कृति की अनमोल धरोहर है में से आपके द्वारा दिव्य मंत्रों का चयन कर उनका विश्लेषण एवं विस्तृत विवेचन किया जाएगा। मंत्रों की शक्ति एवं साधना हमारे जीवन में किस तरह उपयोगी है, इस पर वे प्रतिदिन उदबोधन देंगे। श्री तलाई वाले बालाजी न्यास द्वारा आमजन से इस आयोजन में पधारकर धर्मलाभ लेने का आग्रह किया गया है।
ब्रजेश जोशी

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply