सिविल सर्जन मिश्रा उड़ा रहें खुलकर नियमों की धज्जियां, नहीं मान रहे स्वास्थ्य मंत्री के आदेश

जिला चिकित्सालय के बाहर ही कर रहे है प्रायवेट प्रेक्टिस

मंदसौर। जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डॉ ए के मिश्रा खुलकर नियमांे की धज्जियां उड़ा रहे है। वे मप्र शासन के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट की मंशाओं पर पानी फेरते हुए उनके आदेशों की भी खुलकर अनदेखी कर रहे है।

उक्त बात कहते हुए शहर कांग्र्रेस महामंत्री कमलेश जैन ने बताया कि जिम्मेदार पदों पर बैठे डॉ मिश्रा नियमों की तोड़कर अपनी जिम्मेदारी को नहीं समझ रहे है। श्री जैन ने बताया कि उनके उपर पूरे नगर की चिकित्सा व्यवस्था की जिम्मेदारी है वहीं वे अभी प्रभारी जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी भी है जिसके तहत पूरे जिले की चिकित्सा व्यवस्था की जिम्मेदारी उनके कंधों पर है। उनका दायित्व हैं कि जिले में कही भी मप्र शासन के बनाए हुए नियमों का उल्लघंन न हो। लेकिन स्वयं डॉ मिश्रा ही खुलकर मप्र शासन के नियमों की धज्जियंा उड़ा रहे है। श्री जैन ने बताया कि डॉ मिश्रा स्वयं जिला चिकित्सालय के बाहर एक मेडिकल स्टोर वाले की शरण में प्रायवेट प्रेक्टिस कर रहे है। जहां से वे अच्छी खासी आमदानी भी कर रहे है। श्री जैन ने बताया कि शासन के नियमानुसार कोई भी सरकारी डॉक्टर प्रायवेट प्रेक्टिस नहीं कर सकता है। लेकिन मंदसौर सिविल सर्जन खुद ही खुलकर जिला चिकित्सालय के बाहर ही प्रायवेट प्रेक्टिस कर रहे है। इस की वजह से गरीब जनता को शासन की चिकित्सा सेवाओं का उचित लाभ नहीं मिल पा रहा है। इससे समझा जा सकता हैं कि वे दूसरे डॉक्टरों को क्या सीख देगे या उनपर कैसे नकेल कस सकेगे। उनकी शय के कारण ही जिला चिकित्सालय के अन्य डॉक्टर भी खुलकर प्रायवेट प्रेक्टिस कर रहे है। यही नहीं जिला चिकित्सालय मंदसौर में कमलनाथ सरकार के सरकारी डॉक्टरों के सुबह प्रातः 10 बजे से सायं 4 बजे तक अस्पताल में ही रहने के नियम की भी डॉ मिश्रा के ढीले रवैये के कारण अन्य डॉक्टरों द्वारा खुलकर प्रायवेट प्रेक्टिस की जा रही है। श्री जैन ने बताया कि डॉक्टर मिश्रा की इन करतूतों के बार में दूरभाष पर मप्र के लोकप्रिय स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसी जी सिलावट को उनके निजी क्लिनिक के फोटोग्राफ सहित शिकायत की है और उन्होने भी इस मामले को जल्द दिखवाने की बात कही है।

Hello MDS Android App

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply