Breaking News

हत्‍या – मात्र 50 रूपये के लिए एक युवक को मौत के घाट उतारा

थानाप्रभारी गोपाल सूर्यवंशी ने बताया कि युनूस खान उम्र 45 साल, नंदलाल उर्फ मोड़ा ग्वाला उम्र 48 साल, ओमप्रकाश उर्फ बग्गी उम्र 50 और भुरिया मोहम्मद उम्र 30 चारों निवासी सीतामऊ को गिरफ्तार किया है। धुलेंडी के दिन चारों आरोपियों ने ईट भट्टे के पीछे गांजा पीया और वापस आ रहे थे कि ईट भट्टे के पास अनिल आया और भूरिया और बग्गी से 50 रूपए उधार मांगने लगा। भूरिया और बग्गी ने अनिल को रूपए देने से मना कर दिया। तो अनिल ने भुरिया और बग्गी के साथ गाली गलौज की। इस दौरान नंदलाल और यूनूस ने अनिल को समझाया। तो अनिल ने दोनों को भी गालियां दी।

गड्डे में गिरा दिया और ईट व चाकू से किए वार
उन्होंने बताया कि इसके बाद चारों आरोपी अनिल को ईट बनाने की मिट्टी गलाने के गड्डे के पास ले गए और अनिल को धक्का दे दिया और वहां पर रखी ईंट से अनिल पर कई वार किए और चाकू से हमला किया। इससे उसकी मौत हो गई। थानाप्रभारी ने बताया कि मृतक अनिल को बग्गी ने 300 रूपए और भूरिया ने 600 रूपए पहले उधार दे रखे थे।

चारों ने योजना बनाकर किया पुलिस को गुमराह
थानाप्रभारी सूर्यवंशी ने बताया कि यूनुस, नंदलाल, ओमप्रकाश और बग्गी ने हत्या करने के बाद आपस में योजना बनाईकि यदि पुलिस पूछताछ करे तो बताना कि कोईअनजान व्यक्ति था जो उसे उठा रहा था। जिसकेा हम नहीं पहचानते है। जिससे पुलिस भ्रमित हो जाएगी। उन्होंने बताया कि जांच में सामने आया कि मृतक अनिल को चारों आरोपियों के साथ फकीरचंद्र प्रजापत के ईट के भट्टे के पास कयामपुर दरवाजे पर देखा गया था जिसके संबध में अलग-अलग समय पर चारों को बुलाया गया। लेकिन चारों एक साथ आते और एक ही कहानी बताते। जब किसी एक को बुलाया जाता तो चारों साथ आते। जिसके चलते पुलिस को इन चारों पर संदेह हुआ और फिर चारों से अलग-अलग पूछताछ की गई तो हत्याकरना कबूल किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply