Breaking News

हल्दी के दूध पीने से मिलते हैं यह गजब के फायदे, आजमा कर देखिये

यूं तो हल्दी का प्रयोग कई तरह से किया जाता है लेकिन अगर दूध में हल्दी मिलाकर इसका सेवन किया जाए तो कई तरह की बीमारियों से बेहद आसानी से राहत पाई जा सकती है।

हल्दी के बिना भारतीय किचन में शायद ही कोई सब्जी बनती हो। इतना ही नहीं, यह रूप निखारने के साथ−साथ अन्य कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करता है। यूं तो हल्दी का प्रयोग कई तरह से किया जाता है लेकिन अगर दूध में हल्दी मिलाकर इसका सेवन किया जाए तो कई तरह की बीमारियों से बेहद आसानी से राहत पाई जा सकती है। तो चलिए जानते हैं हल्दी के दूध से होने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में−

माइग्रेन में लाभकारी
अगर आपको सिर में काफी तेज दर्द हो रहा है तो हल्दी का दूध पीना वास्तव में फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, हल्दी का दूध खून को पतला करके रक्तसंचार को बेहतर बनाता है जिससे सिरदर्द की समस्या से निजात मिलती है।

चोट लगने पर 
अगर कभी किसी कारणवश चोट लग जाए तो गर्म दूध में हल्दी डालकर सेवन करना चाहिए। दरअसल, हल्दी में पाए जाने वाले औषधीय तत्व चोट को जल्द ठीक करने मे मदद करते हैं। साथ ही हल्दी के एंटी−बैक्टीरियल तत्व संक्रमण से भी बचाता है। जिससे चोट लगने पर इंफेक्शन की संभावना कम हो जाती है।

कैंसर से बचाव
हल्दी में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो कैंसर उत्पन्न करने वाले सेल्स को नष्ट करता है। जिसके कारण कैंसर से लड़ने में मदद मिलती है। इसलिए अगर आप इसका सेवन करते हैं तो कैंसर से खुद का बचाव कर सकते हैं।

नहीं होगी बीमारियां
कुछ लोगों को मौसम बदलते ही कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन अगर हल्दी के दूध का सेवन किया जाए तो इससे व्यक्ति की रोग−प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। खासतौर से, बदलते मौसम में होने वाले जुखाम, खांसी व अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव में हल्दी का दूध एक रक्षा कवच की तरह काम करता है।

अनिद्रा से राहत
आज के समय में लोग जिस तरह तनावग्रस्त हैं, उसका विपरीत असर नींद पर दिखाई देता है। लेकिन अगर रात को सोने से पहले हल्दी के दूध का सेवन किया जाए तो इससे मस्तिष्क में सेरोटोनिन का उत्पादन अधिक होता है और व्यक्ति को काफी अच्छी नींद आती है।

लीवर के लिए लाभदायक
आपको शायद मालूम न हो लेकिन हल्दी का दूध लीवर के लिए काफी उपयोगी है। अगर इसे डाइट का हिस्सा बनाया जाए तो फैटी लीवर या लीवर सिरोसिस जैसी बीमारियों से स्वयं को सुरक्षित किया जा सकता है। ऐसा हल्दी के डीटोक्सीफयिंग गुण के कारण होता है, जो हानिकारक रसायनों से लिवर को प्रभावित नहीं होने देता।

पाचन तंत्र बनता है बेहतर
हल्दी का दूध पाचन तंत्र के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। अगर इसका सेवन किया जाता है तो पाचन तंत्र संबंधी कई परेशानियों जैसे पेट में गैस, पाचन में गड़बड़, अपच, भूख न लगना, पेट में सूजन आदि से आसानी से निपटा जा सकता है।

-मिताली जैन

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply