जीवनी

जीवन परिचय : कमलनाथ (मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री)

जीवन परिचय : कमलनाथ (मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री)
कमलनाथ (Kamalnath):- कमलनाथ एक भारतीय राजनेता हैं जो कांग्रेस पार्टी से आते हैं | वर्तमान में मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को मिली जीत के बाद कमलनाथ मध्य प्रद...
Read more

अजमीढ़ महाराज जी का जीवन परिचय

अजमीढ़ महाराज जी का जीवन परिचय
चंद्रवंश की अठाइसवी पीढ़ी में महाराजा अजमीढ़जी का जन्म हुआ था। महाराजा अजमीढ़जी हस्ती के जेष्ठ पुत्र थे। जिनोने हस्तिनापुर बसाया था। द्विमीढ़ एव पुरुमीढ़ दोनों अजमीढ़जी क...
Read more

हे, केशव तुमको कोटि कोटि अभिवादन

हे, केशव तुमको कोटि कोटि अभिवादन
प्रसंग – संघ संस्थापक डॉ. हेडगेवार का जन्मदिवस राश्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना के विचार को सुनकर ना जाने कितनों ने उपहास उडाया, ना जाने कितनों ने अविश्वास दिखाया...
Read more

पं.दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि – मेरे दीनदयाल

पं.दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि - मेरे दीनदयाल
लो श्रद्धांजली राष्ट्र पुरूष, शतकोटि हृदय के कुंज खिले हैं, आज तुम्हारी पूजा करने, सेतु हिमाचल संग मिले हैं गीत की ये पंक्तियॉं दुहराते समय मन श्रद्धा भाव से पुलकित हो उइ...
Read more

सरदार पटेल ने रियासतों का विलीनीकरण करके राष्ट्रीय एकता का निर्माण किया

सरदार पटेल ने रियासतों का विलीनीकरण करके राष्ट्रीय एकता का निर्माण किया
स्वतंत्र भारत के प्रथम उपप्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को हुआ था। उन्होंने लन्दन जाकर बेरीस्टर की पढ़ाई की ओर महात्मा गांधी के विचारों से प्रे...
Read more

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कर्मठ कार्यकर्ता स्व. ठाकुर डॉ. अशोक मण्डलोई का जीवन दर्शन

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कर्मठ कार्यकर्ता स्व. ठाकुर डॉ. अशोक मण्डलोई का जीवन दर्शन
नाहरगढ़ जिला मन्दसौर में 20 नवम्बर 1954 को जन्मे ठा. अशोक मण्डलोई ने एक जाने पहचाने सामाजिक कार्यकर्ता व कर्मठ स्वयं सेवक के रूप में क्षेत्र में अपनी पहचान कायम की। आप नाह...
Read more

एक सर्जन नहीं संत थे स्व. डॉ. विजय कुमार संघई

एक सर्जन नहीं संत थे स्व. डॉ. विजय कुमार संघई
धर्मशास्त्र कहते है कि – चौरासी लाख योनियोंमें  मुनष्य की  योनी सबसे बडी, एवं सर्प की योनी सबसे छोटी होती है। मनुष्य योनी में जन्म लेने का मतलब जन्म और मृत्यु के बंधन से...
Read more

स्व. महेन्द्रसिंह का निधन कांग्रेस के लिये अपूरणीय क्षति : श्री कालूखेड़ा अर्जुनसिंहजी व माधवरावजी के मध्य सेतु थे

स्व. महेन्द्रसिंह का निधन कांग्रेस के लिये अपूरणीय क्षति : श्री कालूखेड़ा अर्जुनसिंहजी व माधवरावजी के मध्य सेतु थे
(विक्रम विद्यार्थी की कलम से)  वरिष्ठ विधायक, पूर्व सांसद एवं पूर्व मंत्री श्री महेन्द्रसिंह कालूखेड़ा के निधन से मध्यप्रदेश में तथा विशेषकर मंदसौर-गुना संसदीय क्षेत्र में...
Read more

किसी एक पंथ, परिवार, जाति, समुदाय के नहीं, समग्र मानव समाज के लिये सद्गुणों-सद्विचारों के प्रेरक-प्रेरणास्त्रोत रहे गौलोकवासी पं. मदनलालजी जोशी शास्त्री -बंशीलाल टांक

किसी एक पंथ, परिवार, जाति, समुदाय के नहीं, समग्र मानव समाज के लिये सद्गुणों-सद्विचारों के प्रेरक-प्रेरणास्त्रोत रहे गौलोकवासी पं. मदनलालजी जोशी शास्त्री -बंशीलाल टांक
महापुरूषों का जन्म प्रारब्धानुसार चाहे जिस कुल-जाति-सम्प्रदाय में हो परन्तु वै इन सब बंधनों से उपर उठकर अपने आचरण-व्यवहार-सद्गुणों से जीते जी उस उच्च स्थिति में प्रतिष्ठि...
Read more

महाराणा प्रताप सिंह जी की जीवनी

महाराणा प्रताप सिंह जी की जीवनी
महाराणा प्रताप का जन्म ज्येष्ठ माह में शुक्ल पक्ष की द्वादशी 9 मई 1540 ई में राणा उदय सिंह के निवास कुम्भल गढ़ दुर्ग में माता महारानी जयवन्ता कुँवर के गर्भ से हुआ था। महार...
Read more

महान राष्ट्रभक्त और प्रतापी योद्धा थे महाराणा प्रताप

महान राष्ट्रभक्त और प्रतापी योद्धा थे महाराणा प्रताप
महाराणा प्रताप मेवाड़ के शासक और एक वीर योद्धा थे जिन्होंने कभी अकबर की अधीनता स्वीकार नही की। उनका जन्म सिसोदिया कुल में हुआ था। महाराणा प्रताप जीवनपर्यन्त मुगलों से लड़...
Read more

श्री शिवराज सिंह चौहान

श्री शिवराज सिंह चौहान
जन्म 5 मार्च 1959, पिताश्री प्रेमसिंह चौहान और माता श्रीमती सुंदरबाई चौहान। वर्ष 1992 में श्रीमती साधना सिंह के साथ विवाह। स्नातकोत्तर (दर्शनशास्त्र) तक स्वर्ण पदक के साथ...
Read more

चित्तोड़ की महारानी पद्मिनी

चित्तोड़ की महारानी पद्मिनी
सिंहल के राजा गंधर्व और रानी चम्पावती के घर एक सुंदर कन्या का जन्म हुआ जिसका नाम रखा गया पद्मिनी। राजकुमारी पद्मिनी नाम के के अनुरूप ही कोमल, अत्यंत सुन्दर वर्ण और बुद्धि...
Read more

किशोर क्रांतिकारी शहीद हेमू कालाणी की जीवनी

किशोर क्रांतिकारी शहीद हेमू कालाणी की जीवनी
Hemu Kalani हेमू कालाणी का जन्म अविभाजित भारत के सिंध प्रदेश के सक्खर जिले में 23 मार्च 1924 को हुआ था। हेमू के पिता का नाम श्री वेसुमल एवं दादा का नाम मेघराम कालाणी था।...
Read more