Breaking News
जयंती

अजमीढ़ महाराज जी का जीवन परिचय

अजमीढ़ महाराज जी का जीवन परिचय
चंद्रवंश की अठाइसवी पीढ़ी में महाराजा अजमीढ़जी का जन्म हुआ था। महाराजा अजमीढ़जी हस्ती के जेष्ठ पुत्र थे। जिनोने हस्तिनापुर बसाया था। द्विमीढ़ एव पुरुमीढ़ दोनों अजमीढ़जी क...
Read more

वाल्मीकि जयंती – महर्षि वाल्मीकि विश्व विख्यात ‘रामायण` के रचयिता

वाल्मीकि जयंती - महर्षि वाल्मीकि विश्व विख्यात ‘रामायण` के रचयिता
हिन्दू पंचांग के अनुसार आश्विन मास की शरद पूर्णिमा की तिथि पर महर्षि वाल्मीकि का जन्मदिवस ‘वाल्मीकि जयंती’ के नाम से मनाया जाता है| वर्ष 2018 में वाल्मीकि जयंती 24 अक्टूब...
Read more

पं.दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि – मेरे दीनदयाल

पं.दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि - मेरे दीनदयाल
लो श्रद्धांजली राष्ट्र पुरूष, शतकोटि हृदय के कुंज खिले हैं, आज तुम्हारी पूजा करने, सेतु हिमाचल संग मिले हैं गीत की ये पंक्तियॉं दुहराते समय मन श्रद्धा भाव से पुलकित हो उइ...
Read more

पुण्यतिथि विशेष : तबाही से बचाएगा महात्मा गांधी के विचारों रास्ता

पुण्यतिथि विशेष : तबाही से बचाएगा महात्मा गांधी के विचारों रास्ता
शहीद दिवस : हमें गांधीजी के विचारों की आज भी जरूरत आज दुनिया जिस तरह-तरह के संकट के दौर से गुजर रही है, उसमें महात्मा गांधी के मूल संदेश को बार-बार याद करने की जरूरत बहुत...
Read more

सरदार पटेल ने रियासतों का विलीनीकरण करके राष्ट्रीय एकता का निर्माण किया

सरदार पटेल ने रियासतों का विलीनीकरण करके राष्ट्रीय एकता का निर्माण किया
स्वतंत्र भारत के प्रथम उपप्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को हुआ था। उन्होंने लन्दन जाकर बेरीस्टर की पढ़ाई की ओर महात्मा गांधी के विचारों से प्रे...
Read more

संगठन के अभिभावक थे यजुर्वेदी जी

संगठन के अभिभावक थे यजुर्वेदी जी
हमारे श्री विश्वनाथ जी यजुर्वेदी इस नश्वर संसार से विदा लेकर ईश्वर की शरण में चले गए। उनके विदा लेने के साथ ही मंदसौर और नीमच जिले के सामाजिक जीवन का एक और नक्षत्र अनंत म...
Read more

सद्भाव के प्रतीक हिन्दूओं के ‘रामदेव’ और मुसलमानों के ‘रामसापीर’

सद्भाव के प्रतीक हिन्दूओं के 'रामदेव' और मुसलमानों के 'रामसापीर'
राजस्थान में अनेक ऐसे महापुरूष हुए जिन्होंने मानव देह धारण कर अपने कर्म और तप से यहां के लोक जीवन को आलोकित किया। उनके चरित्र, कर्म और वचनबद्धता से उन्हें जनमानस में लोकद...
Read more

गुरु-शिष्य के प्रेम का सेतु गुरु पूर्णिमा है आज

गुरु-शिष्य के प्रेम का सेतु गुरु पूर्णिमा है आज
    आध्यात्मिक जगत में गुरु पूर्णिमा का विशिष्ट स्थान है। यह पर्व आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को बड़े उल्लास एवं उत्साह से मनाया जाता है। इसी दिन गुरुओं...
Read more

सूर्यपुत्र की आराधना का महापर्व हैं शनि जयंती (25 मई 2017 को)

सूर्यपुत्र की आराधना का महापर्व हैं शनि जयंती (25 मई 2017 को)
जानिए शनि जयंती का महत्व और फल प्रिय पाठकों/मित्रों,शनिदेव को ग्रहों में न्यायाधीश का पद प्राप्त है। मनुष्य के अच्छे-बुरे कर्मों का फल शनिदेव ही देते हैं। जिस व्यक्ति पर...
Read more

Buddha Purnima 2017: बुद्ध पूर्णिमा: महत्व, मान्याताएं और प्रावधान

Buddha Purnima 2017: बुद्ध पूर्णिमा: महत्व, मान्याताएं और प्रावधान
बुद्ध पूर्णिमा वैशाख मास की पूर्णिमा को मनाई जाती है। इसे वैशाख पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन को भगवान गौतम बुद्ध की जयंती और उनके निर्वाण दिवस दोनों के ही त...
Read more

महान राष्ट्रभक्त और प्रतापी योद्धा थे महाराणा प्रताप

महान राष्ट्रभक्त और प्रतापी योद्धा थे महाराणा प्रताप
महाराणा प्रताप मेवाड़ के शासक और एक वीर योद्धा थे जिन्होंने कभी अकबर की अधीनता स्वीकार नही की। उनका जन्म सिसोदिया कुल में हुआ था। महाराणा प्रताप जीवनपर्यन्त मुगलों से लड़...
Read more

आज नगर में धूमधाम से मनेगी हनुमान जयंती

आज नगर में धूमधाम से मनेगी हनुमान जयंती
मंदसौर निप्र। आज मंगलवार को हनुमान जयंती  नगर सहित जिले में बड़े धूमधाम से मनाई जायेगी। इस हेतु नगर के हनुमान मंदिरों पर आर्कषक विद्युत साज सज्जा की गई है। नगर के श्री बडे...
Read more

जानिए क्यों हैं? हनुमान जी मंगलकर्ता और विघ्नहर्ता…

जानिए क्यों हैं? हनुमान जी मंगलकर्ता और विघ्नहर्ता...
प्रिय पाठकों/मित्रों, परंपरागत रूप से हनुमान को बल, बुद्धि, विद्या, शौर्य और निर्भयता का प्रतीक माना जाता है। संकटकाल में हनुमानजी का ही स्मरण किया जाता है। वह संकटमोचन क...
Read more