Breaking News
विधानसभा चुनाव 2018

मध्य प्रदेश में विधानसभा की कुल 230 सीटें हैं। इन 230 सीटों में 35 सीट अनुसूचित जाति और 47 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक कुल पांच करोड़ तीन लाख 34 हजार दो सौ साठ मतदाता हैं जो अलग अलग दलों के उम्मीदवारों की किस्मक का फैसला करेंगे। मध्य प्रदेश में 100 फीसद मतदाता सूची फोटोयुक्त है। इसके साथ सभी मतदाताओं के पास 100 फीसद फोटोयुक्त पहचान पत्र है। 2013 में मध्यप्रदेश में कुल मतदान केंद्रों की संख्या 53 हजार 896 थी जो 2018 में बढ़कर 65 हजार 341 हो गई है यानि मतदान केंद्रों की संख्या में 21.24 फीसद की बढ़ोतरी हो गई है।

मध्य प्रदेश में चुनावी प्रक्रिया

गैजेट अधिसूचना की तारीख- 2 नवंबर 2018(शुक्रवार)
नामांकन की अंतिम तारीख- 9 नवंबर 2018(शुक्रवार)
नामांकन परीक्षण की तिथि- 12 नवंबर 2018(सोमवार)
उम्मीदवारों द्वारा नाम वापस लेने की अंतिम तारीख- 14 नवंबर 2018(बुधवार)
मतदान की तारीख- 28 नवंबर 2018(बुधवार)
मतगणना की तिथि- 11 दिसंबर 2018(मंगलवार)
चुनावी प्रक्रिया संपन्न होने की अंतिम तारीख- 13 दिसंबर 2018(गुरुवार)
मध्य प्रदेश में चुनावी पारा धीरे धीरे चढ़ रहा है। इस चुनाव को आम चुनाव 2019 से पहले सेमीफाइनल की तरफ देखा जा रहा है। जानकारों का कहना है इस दफा शिवराज सिंह चौहान सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर है। किसानों के आंदोलन, एससी-एसटी एक्ट का मामला शिवराज सिंह चौहान के लिए मुश्किल साबित हो सकता है। कांग्रेस अध्यक्ष इस चुनाव में स्थानीय मुद्दों से ज्यादा राष्ट्रीय मुद्दों को महत्व दे रहे हैं। कांग्रेस के रणनीतिकारों को लगता है जैसे जैसे मतदान की तारीख करीब आएगी बीजेपी चुनावों का ध्रूवीकरण कर सकती है लिहाजा कांग्रेस अध्यक्ष आक्रामक भूमिका में हैं।