Breaking News

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस – 2019 : समाज के सभी वर्गो के लोग उत्साहपूर्वक योगाभ्यास में सहभागी बनें

 

मंदसौर। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर जिले भर में सामूहिक योग कार्यक्रम आयोजित हुये। जिलास्तरीय कार्यक्रम नगर के नई आबादी स्थित संजय गांधी उद्यान में हुआ। कार्यक्रम में मंदसौर विधायक श्री यशपाल सिंह सिसौदिया, जिला पंचायत अध्ययक्षा श्रीमती प्रियंका मुकेश गिरी गोस्वातमी, कलेक्टर मनोज पुष्प, अपर कलेक्टर अनिल डामोर व अन्य गणमान्य अतिथियों सहित सभी जिलाधिकारी, स्कूली बच्चों, कॉलेज के विद्यार्थियों एवं एनसीसी केडेट्स, दशपुर योग शिक्षण संस्थान मंदसौर, पतंजलि योगपीठ मंदसौर, प्रजापिता ब्रम्हकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की मंदसौर ईकाई, एनसीसी, स्काउट-गाइड आदि संस्थानों के योगसाधकों ने सैंकडो गणमान्य नागरिकों के साथ योगाभ्यास किया। इस सामूहिक योग कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों, शासकीय सेवकों, खेल संगठनों व अन्य सामाजिक संस्थाओं के योगसाधकों, गणमान्य नागरिकों एवं विद्यार्थियों ने एक साथ योगाभ्यास किया। समाज के सभी वर्गों के लोगों ने उत्साहपूर्वक इस सामूहिक योगाभ्यास में भाग लिया।

जिले में सामूहिक योग कार्यक्रम में देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस पर दिये गये संदेश का सीधा प्रसारण हुआ। जिला, तहसील व ब्लॉक मुख्यालय से लेकर ग्राम पंचायत मुख्यालय तक जिले भर में कई स्थानों पर सामूहिक योग कार्यक्रम आयोजित हुये। जिले में सभी जगह भारत सरकार के आयुष मंत्रालय की गाईडलाईन एवं प्रोटोकाल के अनुरूप सामूहिक योग कार्यक्रम किये गये।

उल्लेखनीय है कि 11 दिसम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 193 सदस्यों ने रिकार्ड 177 सह समर्थक देशों के साथ 21 जून को अंतराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का संकल्प सर्वसम्मति से अनुमोदित किया। 21 जून 2019 को पांचवा अंतराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। इस कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगो से अष्ठांग योग के आसन- ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्धचक्रासन त्रिकोणासन, भद्रासन, वज्रासनध्वीरासन, अर्ध उष्ट्रासन, उष्ट्रासन, शशांकासन, उत्तानमंडूकासन, मरीच्यासनध्वक्रासन सहित अन्य आसनों का अभ्यास कराया गया। इन योगासनों को करने से मनुष्य की रीढ़ की हड्डी को लचीला बनाया जा सकता है। मनुष्य की पाचन शक्ति में सुधार होता है। इन आसनों को करने से सर्वाईकल की समस्या से छुटकारा मिलता है। यह शरीर और मन को धैर्य रखने में सहायक है। इन आसनों को करने से तनाव व क्रोध से मुक्ति मिलती है और कमर दर्द को ठीक तथा रीढ़ की हड्डी में लचीलापन आता है। योगाभ्यास में पेट के बल लेटकर करने बाले आसन- मकरासन, भुजंगासन, सलभ आसन आदि का अभ्यास कराया गया। पेट के बल करने वाले आसनो से मनुष्य को तनाव से मुक्ति मिलती है। सायटिका की पीड़ा से छुटकारा मिलता है और यह अभ्यास मन व शरीर को संतुलित बनाता है। योग प्रशिक्षकों ने कमर के बल लेटकर करने वाला आसन- सेतुबंधासन और पवन गुप्तासन का भी अभ्यास उपस्थित लोगों को कराया। इन आसनों को नियमित रूप से करने से उदर के अंगो में तनाव कम होता है और यह पाचन शक्ति को बढ़ाता है। इसके पश्चात प्राणायाम के अंतर्गत अनुलोम-विलोम, भ्रामरी प्राणायाम, ऋणमुद्रासन और श्वास मुद्रायाम का अभ्यास सामूहिक रूप से किया गया। इनके अभ्यास से मन शांत रहता है। इसके बाद साधकों ने ध्यान भी किया। अंत में सभी योग साधकों से मन में संकल्प लेने को कहा गया कि वे अपने अंर्तमन को हमेशा शांत रखेंगे।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर जिला जेल मंदसोर में हुआ योगाभ्यादस

जिला जेल उप अधीक्षक मंदसौर ने बताया कि जिला जेल मंदसोर में पांचवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की अवसर पर भारत स्वाभिमान ट्रस्ट एवं पतंजलि युवा भारत इकाई मंदसौर के तत्वाधान में प्रतिदिन जिला जेल मंदसौर जेल परिसर के अंदर 17 जून से 21 जून तक पांच दिवसीय योग अभ्यास कार्यक्रम चलाया गया। 21 जून 2019 को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रातः 7.00 बजे से 8.30 बजे तक पांचवा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। जिसमें जेल के सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों के साथ बंदियों ने सामूहिक रूप से योगाभ्यास किया। कार्यक्रम में सूर्य नमस्कार, हलासन, वज्रासन मंडूकासन आदि आसनों का अभ्यास किया गया साथ ही कपालभाति, भस्त्रिका, अनुलोम-विलोम प्राणायाम का अभ्यास कराया तथा योग से होने वाले लाभ के बारे में बंदियों को विस्तृत रूप से जानकारी दी गई।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts