Breaking News

अखाद्य बर्फ का निर्माण ब्लू कलर में ही करना पड़ेगा अन्यथा होगी कार्यवाही

मंदसौर। खाद्य एवं औषधि प्रशासन अधिकारी कमलेश जमरा ने मंगलवार को अपने टीम के साथ जग्गाखेड़ी स्थित औद्यौगिक क्षेत्र में मोहन बर्फ डिपो, सांई बर्फ डिपो एवं शंकर आईस फैक्ट्री का निरीक्षण करते हुए उन्हे निर्देशित दिया हैं कि आपके द्वारा अखाद्य बर्फ बनाई जाती हैं तो उसमें फूड कलर इंडिगों केसमाईन या ब्रिलियण्ट ब्लू कलर मिला होना चाहिए ताकि उपभोक्ताओं को अखाद्य एवं खाद्य बर्फ में अंतर आसानी से नजर आ जावें। यदि आपके द्वारा निरीक्षण के दौरान सफेद बर्फ पाई जाती हैं तो वह खाद्य बर्फ भी मानी जाकर नियमानुसार कार्यवाही की जावेगी।
विभाग की टीम ने राजेन्द्र मिनरल्स्, अर्चना इण्डस्ट्रीज एवं श्री नाथ फूड एवं बेवरेज से पानी के पाउचों के नमूनें लेकर भोपाल प्रयोगशाला भेजे गए है। जॉच रिपोर्ट आने पर नियमानुसार कार्यवाही की जावेगी। स्मरण रहें कि नगर में बर्फ निर्माताओं द्वारा सफेद कलर का ही बर्फ बनाया जा रहा है। लेकिन अपने बचाव के लिए अपनी दुकानों पर छोटे अक्षरों में कही न कहीं यह लिख दिया जाता था कि यह अखाद्य बर्फ है। लेकिन अब रंगों के कारण अखाद्य व खाद्य बर्फ की पहचान आमजन आसानी से कर सकेगे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts