Breaking News

अध्यापक संशोधित तबादला नीति अविलम्ब जारी करने की मांग शिक्षक संघ म.प्र. ने मुख्यमंत्री से की

मन्दसौर। अध्यापकों की बहुप्रतिक्षित तबादला नीति हेतु शिक्षक संघ म.प्र. संभागीय उपाध्यक्ष उज्जैन आशीष बंसल द्वारा म.प्र. मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को तबादली नीति में संशोधन हेतु शासन को सुझावात्मक प्रस्ताव भेजे है। जिसमें प्रा.वि. से 2 से कम एवं माध्यमिक विद्यालय में 3 से कम अध्यापक होने पर भी अतिथि शिक्षक रखकर अध्यापकों को तबादले में राहत दी जाए।
साथ ही विकलांग चाहे नियुक्ति दिनांक से पूर्व या पश्चात कभी भी हो उसे निःशक्त अधिकार अधिनियम के अंतर्गत स्थानांतरण हेतु स्वतंत्र रखा जाए, वृद्ध माता-पिता, आश्रित भाई-बहन को भी गंभीर बीमारी में परिवार का अंग मानकर अध्यापकों को स्थानांतरण में राहत दी जाए, पति अथवा पत्नी जो जहां जाकर अध्यापन कार्य कराना चाहे दोनों को ही स्थानांतरण में स्वैच्छिक छूट दी जाए। साथ ही संविदा एवं अतिथि शिक्षक की भर्ती अध्यापक के नियम के अनुसार ही वर्ग-1 में भूगोल, अर्थशास्त्र की पारस्परिक स्थानांतरण की छूट दी जाए। साथ ही अध्यापक का स्थानांतरण भी दोनों विषयों के रिक्त पद पर समान रूप से किया जाए। नियुक्ति दिनांक से 5 वर्ष की सेवा का नियम भी शिथिल कराने की मांग पत्र द्वारा मुख्यमंत्री महोदय से की गई है।
शिक्षक संघ म.प्र. उज्जैन संभाग द्वारा संघ की शिक्षकों अध्यापकों एवं गुरूजियों की मांगों को लेकर शासन स्तर पर पत्र व्यवहार एवं आंदोलन कर मांगों को लेकर शासन स्तर पर पत्र व्यवहार एवं आंदोलन कर मांगों को मनवाने का क्रम निरंतर प्रयत्नशील है। इसी कड़ी में शिक्षक संघ द्वारा गत दिवस आयोजित संभागीय बैठक में अध्यापकों की 21 वर्षाें से लंबित तबादला नीति हेतु पुरजोर मांग की गई थी, साथ ही 13 प्रस्ताव पारित कर शासन को भेजे गए थे जो कि नीतिगत निर्णय हेतु प्रक्रियाधीन है।
ज्ञात हो कि शिक्षक संघ म.प्र. अविलंब अध्यापकों की तबादला नीति की मांग शासन से करता आ रहा है। परिवर्तन न हो पाने से 20 वर्षों से एक ही स्थान पर पुरूष अध्यापक रहने से कार्य एवं अध्यापन के प्रति अरूचि उत्पन्न हो रही है जो छात्रहित, शिक्षक हित, समाज हित एवं राष्ट्रहित में घातक है। संघ शासन से मांग करते हुए तबादला नीति में उक्त सुझाव जोड़कर अविलंब ही लोक जागरण एवं लोक कल्याण हेतु तबादला नीति जारी करने की मांग करता है।
इस आशय की मांग शिक्षक संघ म.प्र. के प्रांतीय संरक्षक रामकृष्ण नवाल, प्रांतीय उपाध्यक्ष  दिलीपकुमार सांखला, उज्जैन संभागीय उपाध्यक्ष आशीष बंसल मंदसौर, जिलाध्यक्ष जयेश नागर, जिला उपाध्यक्ष मनीष पारिख, ललित सोनगरा, सचिव अजय चेलावत, कोषाध्यक्ष सुरेश गुप्ता, मंदसौर तहसील अध्यक्ष संदीप मलासा, सीतामऊ तहसील अध्यक्ष जगदीश गुप्ता (काला), मल्हारगढ़ तहसील अध्यक्ष अंशुल धनोतिया, राधेश्याम सेठिया, रामनिवास गोराना, राजेन्द्र शर्मा, अमरसिंह मीणा, हेमन्त वर्मा, दीपेश श्रीवास्तव आदि ने की है। यह जानकारी संभागीय उपाध्यक्ष आशीष बंसल ने दी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts