Breaking News

अपना घर की नन्हीं बालिका दुर्गा का हार्ट ऑपरेशन सफल रहा

मन्दसौर। अपना घर निराश्रित बालिका गृह की नन्ही बालिका दुर्गा जो कि 7 वर्ष की है यह बालिका 16 मई 2017 से अपना घर में निवासरत है। इस बच्ची के हृदय का मेदांता हॉस्पिटल इंदौर में सफल ऑपरेशन हुआ। दुर्गा के दिल में छेद था।  शासन के नियमानुसार यहां शा. चिकित्सक बालिकाओं के चैकअप के लिये आते है और सभी बालिकाओं का चैकअप अपना घर की नर्स श्रीमती मीना घावरी की उपस्थिति में होता है। रूटीन चैकअप के दौरान डॉ. अनिल पामेचा व डॉ. के.एल. राठौर ने बताया कि बालिका दुर्गा के दिल में छेद है ऐसी हमें शंका है। आप बालिका की जिला चिकित्सालय में जांच कराकर इंदौर दिखाये। नर्स श्रीमती घावरी ने बालिका का एक्सरा कराकर जांच करवाई व डॉ. राठौर को दिखाया व डॉ. राठौर ने जिला चिकित्सालय मंदसौर के हृदय कार्डीनेटर सुरेश मुवेल से सम्पर्क करने को कहा व बालिका के दिल में छेद होने और जांच की पूरी जानकारी नर्स द्वारा अपना घर के संस्थापक अध्यक्ष राव विजयसिंह, अध्यक्ष ब्रजेश जोशी व अधीक्षिका भारती शर्मा को दी। श्री राव ने श्री मुवेल से बालिका के संबंध में चर्चा की।

इसी दौरान जिला एवं सत्र न्यायाधीश तारकेश्वरसिंह द्वारा आयोजित किशोर न्याय बोर्ड की त्रैमासिक बैठक में 14.11.2018 को अपना घर अधीक्षिका   भारती शर्मा ने बालिका के दिल में छेद होने की जानकारी शबनम कदीर मंसूरी प्रिंसीपल मजिस्ट्रेट किशोर  न्याय बोर्ड मंदसौर व अब्दुल कदीर मंसूरी ए.डी.जे. जिला न्यायालय मंदसौर को बैठक में दी। बैठक में तुरंत बालिका दुर्गा के लिये श्री एवं श्रीमती मंसूरी ने उसी बैठक में उपस्थित सीएमएचओ डॉ. महेश मालवीय से चर्चा और तुरंत बालिका के उपचार हेतु व्यवस्था कराये जाने को कहा। बैठक में अपना घर के अध्यक्ष ब्रजेश जोशी व अधीक्षिका भारती शर्मा से बालिका के बारे में पूरी जानकारी ली गई व बालिका के विषय में चर्चा कर श्री व श्रीमती मंसूरी ने शिघ्र बालिका के लिये इंदौर जांच कराने व ऑपरेशन कराए जाने को कहा। सीएमएचओ डॉ. महेश मालवीय ने तुरंत हृदय कार्डिनेटर श्री मुवेल से बात कर डॉ. श्वेता को अपना घर भेजा व बालिका का चैकअप किया। बालिका का आर.बी.एस.के. कार्ड बनाया गया जिससे बालिका का निःशुल्क ईलाज किया जा सके। बालिका को सीएमएचओ डॉ. मालवीय के मार्गदर्शन में मेदांता हास्पिटल इंदौर जाने को कहा। बालिका के लिये रेडक्रास से एम्बुलेंस की व्यवस्था करवाई गई। बालिका को अपना घर की नर्स मीना घावरी व अधीक्षिका भारती शर्मा द्वारा इंदौर मेदान्ता हॉस्पिटल ले जाया गया। वहां बालिका की जांच की गई व जांच के पश्चात् बालिका को डॉ. संदीप श्रीवास्तव को दिखाया गया, उन्होनंे बालिका के दिल में छेद होने की पुष्टि की तथा ऑपरेशन के लिये 10 से 15 दिन में ऑपरेशन की दिनांक दिए जाने को कहा।

इसके पश्चात् मेदान्ता हास्पिटल में जांच व ऑपरेशन किये जाने की जानकारी जिला चिकित्सालय जाकर श्री मुवेल को दी गई। श्री मुवेल के सहयोग से उनके द्वारा मेदान्ता हास्पिटल में संपर्क कर जल्द से जल्द स्वीकृति आदेश पत्र आर.बी.एस.के. के अन्तर्गत 85000 रूपये की राशि स्वीकृत कराकर स्वीकृति का आदेश अपना घर को 20 दिसम्बर 2018 को प्रदान किया गया।  बालिका का 1 दिसम्बर 2018 को ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के दौरान ब्लड की आवश्यकता पड़ी। अपना घर के संस्थापक अध्यक्ष श्री राव द्वारा इंदौर में पदस्थ श्रीमती ज्योति शर्मा  पुलिस विभाग व समाजसेवी अमरजीतसिंह सुदन से ब्लड उपलब्ध कराने को कहा। श्रीमती शर्मा के सहयोग से अमरजीतसिंह द्वारा रजत, राहुल व राकेश शर्मा द्वारा बालिका को ब्लड दिया गया। 7 दिसम्बर  2018 को बालिका दूर्गा को डिस्चार्ज किया गया। रेडक्रास की एम्बुलेंस के सहयोग से बालिका को अपना घर लाया गया व सफल ऑपरेशन के बाद बालिका स्वस्थ्य है। मेदान्ता हास्पिटल के निर्देशानुसार बालिका दुर्गा को समय-समय पर ईलाज के लिए अपना घर द्वारा इंदौर ले जाया जाएगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts