Breaking News

अपना घर में आचार्य रामानुजजी का जन्मदिवस मनाया गया

जिनका चरित्र अच्छा होता है उन्हें सफलता मिलती है

मंदसौर निप्र। देश की राजनीति यदि सत्यता के साथ जुड़ जाए तो भारत फिर से विश्व गुरू होने का गौरव प्राप्त कर लेगा आज देश का दुर्भाग्य यह है कि धर्म के नाम पर तो राजनीति हो रही है और राजनीति के नाम पर धर्म हो रहा है। दोनों केवल अपने-अपने क्षेत्र में काम करें यही देशहित में उचित होगा। समाज ही राम पैदा करता है और रावण भी पैदा करता है। शक्ति दोनो के पास है एक अपराध के लिए है तो दूसरा सत्य , चरित्र और मानवता के लिए पहचाना जाता है।
उक्त विचार आचार्य रामानुजजी ने बालगृह अपना घर में आयोजित अपने जन्मदिवस के समारोह को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। आचार्यश्री को मुकूट एवं शाल ओढ़ाकर संस्था के संस्थापक अध्यक्ष राव विजयसिंह, अध्यक्ष ब्रजेश जोशी, समरसता मंच के संरक्षक गुरूचरण बग्गा, संयोजक सुरजमल गर्ग चाचाजी, तलई वाले बालाजी मंदिर टस्ट के अध्यक्ष धीरेन्द्र त्रिवेदी, समाजसेवी सत्यनारायण सोमानी, वैश्य समाज जिलाध्यक्ष नरेन्द्र अग्रवाल, सकल दिगम्बर जैन समाज के अध्यक्ष राजेन्द्र अग्रवाल, सुरेश सोमानी, प्रदीप भाटी ने जन्मदिवस की बधाई देते हुए आशीर्वाद प्राप्त किया। आचार्यश्री ने अपना घर द्वारा संचालित योजनाओं के नवीन फोल्डर का भी विमोचन किया।
आचार्यश्री रामानुजजी ने अपने जन्मदिवस के प्रसंग पर कहा कि मैं मंदसौर का ऋण कभी चुका नही सकता क्योंकि इसी शहर ने मुझ रामानुज को आचार्य रामानुज बनाया है हमे ऐसी तरक्की नही चाहिए जो मानवता को मारती हो भगवान मंदिर में नही मानवता में मिलते है चरित्र अच्छा रहेगा तो सबकुछ ठीक रहेगा। आचार्य श्री ने 2 अक्टूबर के प्रसंग पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और लालबहादुर शात्री का भी स्मरण करते हुए कहा कि गांधीजी सत्य के लिए लड़े और सत्य के लिए ही मरे सुख शांति और सफलता उन्ही को मिलती है जिनका चरित्र अच्छा हो। उन्होने गोलोकवासी भागवताचार्य पं. मदनलाल जोशी का भी स्मरण किया और कहा कि मुझे उन्होने कर्मकाण्ड से कथा प्रवक्ता बनने के लिए प्रेरित किया।
आचार्य रामानुजजी के अपना घर आगमन पर बालिकाओं ने पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। माँ सरस्वती का पूजन अर्चन किया गया , बालिकाओं द्वारा स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया। गुरूवंदना राजेन्द्र तिवारी ने प्रस्तुत की।
अपना घर बालगृह को प्रतिवर्ष अनाज प्रदान करने वाले कृषक शंकरलाल चांगली का शॉल श्रीफल ओढ़ाकर सम्मान किया गया एवं नवदम्पति अपना घर की बिटियां सलोनी एवं विजय शर्मा को आचार्यश्री ने आशीर्वाद दिया। आचार्यश्री ने प्रातः भगवान पशुपतिनाथ मंदिर एवं सायंकाल तलई वाले बालाजी मंदिर में दर्शन कर पूजा अर्चना की। समारोह में विनोद मेहता, जयप्रकाश बटवाल, चंद्रशेखर मण्डलोई, विकास सुराणा, छगनलाल पारिख, सत्यनारायण छापरवाल, भरत कोठारी, दिनेश तिवारी, नानालाल आटोलिया, बंशीलाल टांक, अशोक झलौया, रामु शर्मा, ओमप्रकाश व्यास, ब्रजमोहन गर्ग, प्रमोद पारिक, सचिन पारिख, नीलेश राव, प्रितेश राव, राहुल सोनी, लोेकेश पालीवाल, मनीष कुमावत, हरीश रावलिया सहित बड़ी संख्या में गणमान्यजन उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन ब्रजेश जोशी ने किया तथा आभार राव विजयसिंह ने माना।

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts