Breaking News

अपनी कार को चोरी होने से ऐसे बचा सकते हैं आप

शहरों में आजकल कार चोरी की वारदातें बढ़ती ही जा रही हैं। आज के समय में जबकि कारों में अत्याधुनिक सुरक्षा इंतजाम होते हैं और घरों, बाजारों के बाहर सीसीटीवी कैमरे भी लगे होते हैं उसके बावजूद बढ़ती कारों की चोरी सिस्टम पर सवालिया निशान भी है। यदि किसी की कार चोरी हो गयी तो उसे वह वापिस मिल जाये इस बात की संभावना काफी कम रहती है क्योंकि यदि दिल्ली महानगर की ही बात करें तो चोरी होने के कुछ घंटे के भीतर कार के पुर्जे पुर्जे अलग कर मेरठ भेज दिये जाते हैं। हाल ही में खबर आई थी कि अब मेरठ की बजाय कार के विभिन्न हिस्से अलग-अलग करके सीधे नेपाल पहुंचा दिये जाते हैं। कारों के हर पुर्जे का अपना एक अलग बाजार है जहां चोर माल भेजते रहते हैं। शातिर चोर कारों को इतनी तेजी से पुर्जा पुर्जा कर देते हैं कि किसी को सोचने का मौका भी नहीं मिलता। दिल्ली के बारे में ही कहा जाता है कि यदि कार चोरी हो गयी है तो वह एक घंटे के भीतर ही यहां से बाहर चली जाती है।

कैसे होती हैं कारें चोरी
आजकल के चोर बड़े स्मार्ट हो गये हैं। वह पहले की तरह सामान्य टूल्स की मदद से कार खोलने की जगह ‘स्मार्ट की’ का उपयोग करते हैं। इसके लिए बाकायदा ‘स्मार्ट की’ का कैसे उपयोग करना है और कार सर्विस सेंटरों में टूल्स का कैसे उपयोग किया जाता है, उसके लिए प्रशिक्षण भी प्राप्त करते हैं। यूट्यूब के जमाने में यह प्रशिक्षण घर बैठे ही मिल जाता है। इन लोगों के पास हर कंपनी के हर मॉडल की ‘स्मार्ट की’ होती है या फिर यह उस ‘की’ को बनाने की क्षमता रखते हैं। स्मार्ट ‘की’ से कार को खोलने से कोई अलार्म भी नहीं बजता है जिससे चोरों का काम और आसान हो जाता है। यह स्मार्ट चोर कारों की पूरी इंजीनियरिंग से भी वाकिफ होते हैं और उसके सिक्योरिटी सिस्टम को रिसेट कर देते हैं फिर आपकी प्यारी कार इनके इशारों पर चलने लगती है।
कार चोरी होने से कैसे बचाएँ
-अकसर हम कीमती सामान कार में छोड़ कर चल देते हैं और भले शीशे बंद हों लेकिन दूसरों की नजर उस पर पड़ते ही या तो सामान चोरी हो सकता है या फिर कोई लालच में कार ही ले जा सकता है। इसलिए ऐसा करने से बचें। यदि कुछ कीमती सामान कार में रखना भी पड़े तो उसे डिग्गी में बंद कर दें।
-कार में गियर लॉक जरूर लगाएं और जब भी पार्क करें तो गाड़ी का बैक साइड दीवार से लगा हो तो बेहतर रहेगा।
-जब आप कार में नहीं हों तो चाबी को इंग्निशन (कार चालू करने की जगह) में लगा कर कभी भी नहीं छोड़ें।
-जब भी कार से बाहर जायें तो यह सुनिश्चित कर लें कि सभी खिड़कियां व दरवाजें बंद हों।
-कार की सुरक्षा को बेहतर करने के लिए अच्छी कंपनी का अलार्म लगवाएं।
-कार में जीपीएस जरूर लगवाएं।
-घर पर या बाहर अपनी कार की चाबियाँ कभी भी इस तरह न रखें कि कोई उस पर हाथ साफ कर सके। यदि आपकी चाबियों के दो सेट में से एक भी गायब हो जाए तो पुलिस में शिकायत जरूर करवा दें।
-अपनी कार पार्किंग में ही खड़ी करें। पार्किंग लाइन के बीच ही कार को पार्क करें और कार में सेंट्रल लॉकिंग सिस्टम जरूर लगवाएं।
-यदि रास्ते में कोई अजनबी आपसे लिफ्ट की डिमांड करे तो उनसे बचें क्योंकि कई बार जाल बिछाकर आपको फंसाया भी जा रहा होता है।
-यदि आप लंबे सफर के दौरान थक गये हैं और कुछ देर आराम करना चाहते हैं तो कार साइड में लगा कर शीशे को सिर्फ इतना ही खुला रखें जिससे कि हवा आए और गाड़ी बंद कर थोड़ी देर सो जाएं लेकिन इस समय गाड़ी की चाबी निकाल कर अपनी जेब में जरूर रख लें।
-यदि किसी शहर में आप अजनबी हैं तो सभी से रास्ता पूछने की बजाय किसी पेट्रोल पंप या होटल आदि वालों से ही रास्ता पूछना चाहिए।
-कई बार ऐसा भी होता है कि राह चलते आपकी कार खराब हो गयी है ऐसे में आप लोगों को हाथ दिखा कर मदद मांगते हैं। ऐसी मदद आपको भारी पड़ सकती है। आजकल ऑन रोड सर्विस उपलब्ध कराने वाली कई कंपनियां बाजार में हैं और इनका सेवा शुल्क बहुत ज्यादा नहीं है। आप इन कंपनियों की सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। यदि साल में एक बार भी आपको इनकी मदद आड़े वक्त पर लेनी पड़ जाये तो समझिए कि आपका साल भर का पैसा एक बार में ही वसूल हो जायेगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts