Breaking News

अफीम की खेती में पारदर्शिता और पकड़ के लिए 50 किसानों पर एक मुखिया नियुक्त होगा

अफीम की खेती में पारदर्शिता और पकड़ बनाने के लिए नारकोटिक्स विभाग ने इस बार बड़ा फेरबदल किया है। इसके अनुसार अब प्रत्येक 50 किसान पर एक मुखिया नियुक्त किया जाएगा। इनके चयन के लिए भी नियम बनाए हैं। सबसे बड़ा नियम कि किसान का पढ़ा-लिखा होना जरूरी है। नए नियम के बाद अब मुखियाओं की संख्या पिछले सालों की अपेक्षा अधिक होगी। जिले में अब 87 मुखिया बढ़ जाएंगे।

नारकोटिक्स विभाग ने इस बार नीति में परिवर्तन के साथ कई अन्य बदलाव भी किए गए हैं। इसमें सबसे बड़ा बदलाव मुखियाओं की संख्या को लेकर किया है। पहले विभाग हर गांव में सबसे अच्छी उपज देने वाले किसान को मुखिया नियुक्त करता था। इसमें गांव में किसानों की संख्या का निर्धारण नहीं था। इससे कहीं 100 किसानों तो कहीं 150 किसानों पर एक मुखिया नियुक्त किया जाता था। अब हर 50 किसान पर एक मुखिया नियुक्त किया जाएगा। इससे विभाग हर किसान पर पूरी तरह से पकड़ रख सकेगा तथा मुखिया के पढ़े-लिखे होने से विभागीय अधिकारियों को तकनीकी पक्ष में भी सहायता मिल सकेगी।

आरोपों को देखते हुए लिया निर्णय 
इस साल मुखियाओं को लेकर सरकार से विभाग को कोई भी निर्देश प्राप्त नहीं हुए थे। इसके चलते अधिकारी पुराने मुखियाओं से ही काम चला रहे थे। मुखियाओं को लेकर लगे आरोपों को देखते हुए हाल ही में सरकार ने हर 50 किसान पर एक मुखिया नियुक्त करने के निर्देश जारी किए है। इसके बाद अब जिले के 545 गांवों के 16026 किसानों पर 632 मुखिया होंगे। इस नियम के अनुसार यदि किसी गांवों में किसानों की संख्या अधिक है तो वहां 2 से 3 मुखिया भी होंगे। दरअसल, इस साल सरकार द्वारा मुखियाओं की नियुक्ति को लेकर कोई निर्देश नहीं दिए जाने के चलते वपुराने मुखियाओं से ही काम चलाया जा रहा था। पट्टा वितरण के दौरान इसी को लेकर मुखियाओं पर विभिन्न प्रकार की अनियमितताओं को लेकर आरोप लगे थे।

निर्देश प्राप्त होते ही प्रक्रिया शुरू की  – मुखिया बनाने के लिए ये मापदंड किए तय 
मुखिया बनाते समय इस बार विभाग विशेष ध्यान रखेगा। इसमें मुखिया बनने वाला व्यक्ति गांव में सर्वोच्च अफीम औसत देने वाला हो, शिक्षित, उसके खिलाफ कोई कोई आपराधिक प्रकरण ना हो, उसे मिले पट्टे में आधे से अधिक पर अफीम की खेती की हो। इसके अलावा इस साल दूरदराज के खेतों में बीच के किसी पात्र किसान को मुखिया बनाया जाएगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts