Breaking News

अब बस एक दिन का इंतजार और….

मंगलवार को मिल जायेंगा क्षेत्र को नया विधायक भाजपा और कांग्रेस दोनों पूरे आत्मविश्वास में

मंदसौर। 11 दिसंबर को मंदसौर सहित चारों विधानसभाओं पर जनता को अपना नया विधायक मिल जायेगा। अब इंतजार बस एक दिन का रह गया। जब से मतदान हुआ तब से हर कोई यह जानने की कोशिश में लगा है कि किसकी सरकार बनेगी कोई विधायक बन रहा है ? चौक चौराहों, चाय की पान की दुकानों पर सिर्फ और सिर्फ इसी विषय पर बात हो रही है। लेकिन मंगलवार को दोपहर 12 बजे तक इन बातों पर विराम लग जाएगा क्योंकि इस दिन क्षेत्र को नया विधायक और नई सरकार मिल जायेगी।

 

दोनों कर रहे है अपनी अपनी जीत के दावे
चुनाव को लेकर एग्जिट पोल आ चुके है और पोल जो भी आए हो भाजपा और कांग्रेस दोनों के ही लोग पूरे आत्मविश्वास में लग रहे है। कि सरकार भी हमारी बन रही है और विधायक भी। पिछले चुनावों में यह देखा गया था कि कांग्रेस बैकफुट पर रहती थी और उसके कार्यकर्ताओं में इतना उत्साह विगत् दो से तीन विधानसभाओं चुनावों में नहीं देखा गया। भाजपा के कार्यकर्ता हर बार की तरह इस बार भी सरकार बनने को लेकर आश्वस्त लग रहे है।

 

एक – एक पर भाजपा और कांग्रेस मजबूत तो दो पर टक्कर
मंदसौर जिले की चार विधानसभाओं में से गरोठ विधानसभा पर कांग्रेस तो मल्हारगढ़ विधानसभा में भाजपा मजबूत दिखाई दे रही है। वहीं मंदसौर और सुवासरा सीट पर कांटे की टक्कर हो रही है। यहां पर कोई कुछ भी कहने से बच रहा है। सुवासरा में वैसे तो कांग्रेस के हरदीपसिंह डंग मजबूत है लेकिन यहां पर निर्दलीय कांग्रेस के बागी ओमसिंह भाटी ने मामला बिगाढ़ रखा है जिससे भाजपा के राधेश्याम पाटीदार रेस में बने हुए है। मंदसौर में कांग्रेस के नरेन्द्र नाहटा और भाजपा के यशपालसिंह सिसौदिया में मुख्य मुकाबला हो रहा है और दोनों में कांटे की टक्कर है। मतदान के दस दिनों के बाद भी कार्यकर्ताओं को छोड़कर इनकी जीत के लिए कोई जानकार आश्वस्त नहीं है। यहां पर सपॉक्स के सुनील बंसल की अहम भूमिका हो सकती है अब 11को ही पता चलेगा की बंसल ने कितना दम भरा और किसे अधिक नुकसान पहुंचाया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts