Breaking News

अवमानक खाद्य पर एडीएम कोर्ट ने किया 70 हजार का जुर्माना

खाद्य विभाग ने की कार्यवाही लिए नमूने

मंदसौर। जिले का खाद्य एवं औषधि विभाग लगातार सक्रिय होकर कार्यवाही व निरीक्षण कर आमजन को अच्छे से अच्छे खाद्य पदार्थ मिले इसके लिए प्रयासरत है। खाद्य एवं सुरक्षा अधिकारी कमलेश जमरा ने बताया कि मंगलवार को कार्यवाही करते हुए सीतामउ रोड़ अरनिया निजामुद्दीन में स्थित न्यू बंजारी बालाजी रेस्टारेन्ट से घी व सेंव, नयाखेड़ा महू – नीमच रोड़ स्थित राजस्थानी भोजनालय से लस्सी और मकवाना किराना नयाखेड़ा से खड़े धनिया के सेम्पल लिए गए। श्री जमरा ने बताया कि गर्मी के समय में खाद्य वस्तुओं का विशेष ध्यान रखना पड़ता है और यदि बनी हुई खाद्य वस्तु हो तो जिम्मेदारी दुगुनी हो जाती है। ऐसे में खाद्य एवं औषधि विभाग द्वारा लगातार कार्यवाही व खाद्य संस्थानों का निरीक्षण किया जा रहा है। मंगलवार को लिए गए सेम्पलों को आगे भोपाल में जांच हेतु भेजा जाएगा।

अवमानक नमने पर एडीएम ने किए आदेश

श्री जमरा ने बताया कि चार महिने पहले लिये गये नमूने जो कि जांच रिपोर्ट में अवमानक पाये गये थे उनके प्रकरण एडीएम न्यायालय में प्रस्तुत किये गये थे जिनका निर्णय आदेश हो चुका है। उनमें ड्रीम डेयरी नारायणगढ़ और साहू गोकुल डेयरी मल्हारगढ़ का दूध का सेम्पल अवमानक पाए जाने पर 20 हजार रूपये जुर्माना एडीएम न्यायालय द्वारा लगाया गया है। वहीं श्री महामाया नमकीन पिपलियामंडी के बेसन और नमस्तेजी श्रीमान नमकीन बाबरेचा फंटा का नमकीन मिथ्याछाप पाया गया दोनों पर एडीएम न्यायालय द्वारा 50 हजार रूपये का जुर्माना लगाया गया है।

फैल हुए नमूने पेश होंगे न्यायालय में

श्री जमरा ने बताया कि अप्रैल माह में सीतामउ स्थित शिवशाही ज्यूस सेन्टर से आमरस का नमूना लिया था जिसकी जांच रिपोर्ट में आम रस में अखाद्य रंग पाया गया और मस्ताना चाय से कोल्डिंªक का नमूना लिया गया था जो मिथ्याछाप पाया गया। श्री जमरा ने बताया कि उक्त दोनों प्रकरण एक माह के बाद सक्षम न्यायालय में प्रस्तुत किये जायेंगे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts