Breaking News

अवैध गुमटीयों पर चला नगर पालिका का डंडा

जिला सहकारी बैंक के बाहर रखी 17 गुमटीयों को हटाया, दिनभर चली कार्यवाही

मंदसौर। नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की हत्या में गुमटी का भी एक कारण सामने आया था। उसके बाद पुलिस ने रविवार से ऑपरेशन शिंकजा शुरु कर दिया है। जिसमें हत्यारोपी मनीष बैरागी की अवैध कमाईके जरियों को जमीदोंज कर दिया है। पुलिस ने आरोपी मनीष बैरागी की श्रीकोल्ड चौराहा के पास अवैध रूप से रखी गुमटी और अंकुर आपर्टमेंट के पास अवैध रूप से बनी पक्की दुकानों को तोड़ दिया है।इसके अलावा श्रीकोल्ड चौराहा के पास अतिक्रमित करीब डेढ़ दर्जन गुमटियों को भी नगर पालिका के अमले के साथ पुलिस ने हटाया है। रविवार को नगर पालिका के अमले ने श्रीकोल्ड चौराहे पर स्थित जिला सहकारी बैंक के बाहर रखी अवैध गुमटीयों को हटा दिया। नपा का अमला प्रातः 11 बजे मौके पर पंहुचा और गुमटीयों को हटाने का कार्य प्रारंभ किया। नपा के अमले ने बैंक के बाहर रखी 17 गुमटीयों को हटाया। गुमटीयों को हटाने के समय भारी पुलिस बल तैनात किया गया था स्वयं सीएसपी राकेश मोहन शुक्ल भी वहीं मौजूद थे। जेसीबी, ट्रेक्टर की मदद से गुमटीयों को हटाया गया। नपा द्वारा गुमटी हटाने से पूर्व गुमटी संचालकों को समझाइश दी गई थी वहीं गुमटी संचालकों को आरोप था कि नपा ने उन्हें पूर्व में कोई सूचना नहीं दि थी। कार्रवाई करीब तीन से साढ़े तीन घंटे तक चली। पुलिस ने इसके बाद अंकुल अपार्टमेंट के पास आरोपी मनीष बैरागी की शासकीय जमीन पर बनी दो पक्की दुकानों को जमीदोंज किया। यहां पर ऑटो सेंटर बनाकर संचालित किया जा रहा था।

वर्षो से रखी थी गुमटीयां
बैंक के बाहर यह गुमटीयां वर्षो से रखी हुई थी। यहां पर चाय, एमपीऑनलाईन, साइकिल, हेयर सेलून जैसी दुकानें संचालित होती थी। कई गुमटीधारक गुमटीयों को किराये पर देकर 4 से 5 हजार तक किराया वसूल करते थे।

बंधवार हत्याकांड में आई थी गुमटीयां सुर्खियों में
विगत् दिनों नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्याकंाड के मुख्य आरोपी मनीष बैरागी ने प्रेस वार्ता में कहा था कि जिला सहकारी बैंक के बाहर उसकी गुमटीयां है जिसे प्रहलाद दादा हटाने की कह रहे थे व मेरी गुमटी के आगे ही एक पत्रकार को गुमटी लगाने की इजाजत दे दी थी। हत्याकांड में गुमटीयों का रोल आने के बाद से ही लग रहा था कि नपा शहर में लगी अवैध गुमटीयों को हटाएंगी और रविवार को यह अभियान प्रारंभ भी हो गया और जिम्मेदारों के अनुसार यह अभियान लगातार चलेगा।

लगातार चलेगी कार्यवाही, लोग स्वेच्छा से हटा लें गुमटीयां
मुख्य नगर पालिका अधिकारी सविता प्रधान गौड़ ने बताया कि अवैध गुमटीयां पूरे शहर की सुंदरता को खराब कर रही है। जिसकी जहां इच्छा हो रही है वह वहां गुमटीयां रख रहा है। ऐसा नहीं चलेगा। नपा के अमले ने रविवार को श्रीकोल्ड चौराहे से 17 अवैध गुमटीयों को हटाया है और एलान करवाकर सभी अवैध गुमटी धारकों को कहा जा रहा है कि वह स्वेच्छा से अपनी गुमटीयां हटा लें। प्रधान ने बताया कि सबसे पहले पूरे शहर को अवैध गुमटीयों से साफ किया जाएगा। उसके बाद एक प्रोजेक्ट बनाकर जिसकोे आवश्यकता होगी उसे स्थान दिया जाएगा।

 

मांगा पांच दिन का मिला एक दिन का पुलिस रिमांड
दो दिन पहले पुलिस को मनीष का मेडिकल करवाकर न्यायालय में सौंपना था।जिसको लेकर पुलिस आरोपी मनीष बैरागी को लेकर जिला अस्पताल पहुंची और उसका मेडिकल करवाया।इसके बाद पुलिस ने न्यायालय में आरोपी मनीष बैरागी और पिस्टल देने वाले आरोपी अजय जाट को न्यायालय में पेश किया। जानकारी के अनुसार यहां पर दोनों आरोपियों को पांच दिन का रिमांड मांगाा गया। इसके बाद मनीष ने पुलिस पर मारपीट का आरोप भी लगाया।मनीष के अभिभाषक का कहना था कि मनीष ने पूरी बात पहले ही बता दी है।ऐसे में अब रिमांड की कोईआवश्यकता नहंी है।न्यायालय ने आरोपी मनीष बैरागी और अजय जाट को एक दिन के दिन पुलिस रिमांड पर सौंपा है।वहीं पुलिस ने दीपाजंय नामक युवक सहित नगर पालिका कर्मचारियों और अन्य वे लोग जो मनीष से संबंधित है।उनसे पूछताछ की है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हैदर की भी तलाश की जा रही है।हैदर घटना के दिन मनीष से दोपहर में मिला था।हैदर ने पिछले पांच से छह दिनों से मोबाइल बंद कर रखा है।

इनका कहना….
पुलिस प्रशासन और नगर पालिका के द्वारा ऑपेरशन शिंकजा मुहिम चलाई जा रही है।ऑपरेशन शिकंजा रविवार से शुरु किया गया है।जितने भी वांटेंड अपराधी, हिस्ट्री शीटर, प्रोपर्टीसे संबंधित अपराध करने वाले या जो फरार है। जिन्होंने दादागीरी और रंगदारी कर अवैध रूप से गुमटियां रखी हुईहै। और जिन्होंने अवैध रूप से गुमटियां स्थापित कर रखी है।जिसे ऑपरेशन शिंकजा के तहत हटाया जा रहा है।श्रीकोल्ड चौराहा पर एक गुमटी रखी थी उसको लेकर आरोपी द्वारा खुलासा किया गया था।उसकी गुमटी के पास एक गुमटी रखी गईथी।हत्या के कारणों में एक कारण गुमटी का भी बताया था। श्रीकोल्ड चौराहा के पास से करीब डेढ़ दर्जन गुमटियों को हटाया गया है। यह सब अतिक्रमण कर रखी गई थी।इसके अलावा आरोपी मनीष बैरागी ने शासकीय भूमि पर अवैध रूप से पक्का निर्माण कर दो दुकानें बना दी थी। उनको भी तोड़ा गया है।और श्रीकोल्ड तिराहे के पास अवैध रूप से रखी गुमटी को भी तोड़ा गया है। -सुंदर सिंह कनेश, एएसपी मंदसौर।

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts