Breaking News

आई.पी.एस. इंग्लिश स्कूल ने 15 अगस्त के अवसर पर बालिका शिक्षा योजना के तहत 11 बालिकाओं को चैक वितरित किये

मन्दसौर। गांधी नगर स्थित आई.पी.एस. इंग्लिश स्कूल में 15 अगस्त का झण्डावंदन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि पूर्व न्यायाधीश श्री रघुवीरसिंह चुण्डावत, एल.आई.सी. उदयपुर के पूर्व डिविजनल मैनेजर चन्द्रपालसिंह चुण्डावत तथा डाइट कॉलेज के प्रभारी श्री दिलीपसिंह राठौर तथा संस्था डायरेक्टर डॉ. प्रीतिपालसिंह राणा उपस्थित थे।
अपने अतिथि उद्बोधन में पूर्व न्यायाधीश श्री चुण्डावत ने कहा कि वर्तमान दौर में शिक्षा में पाठ्यक्रम का बदला जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। आज स्कूली शिक्षा पाठ्यक्रम में जिन महापुरूषों तथा धर्म पथ पर कार्य करने वाले महानुभावों के पाठ हटा दिये गये है जो वर्तमान पीढ़ी में संस्कार और सम्मान कम होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज पाठ्यक्रम में सूरदास, तुलसीदास, मीराबाई, रसखान जैसे कवियों का उल्लेख समाप्त हो चुका है। महाराणा प्रताप के इतिहास को भी अप्रमाणिक रूप से प्रस्तुत किया जा रहा है।
इस अवसर पर श्री दिलीपसिंह राठौर ने भी बच्चों को व्यवहारिक उदाहरणों से समझाते हुए 15 अगस्त पर देश के बलिदानी महापुरूषों पर प्रकाश डाला। समारोह को एल.आई.सी. के पूर्व अधिकारी श्री चुण्डावत ने भी संबोधित किया।
स्वागत भाषण संस्था डायरेक्टर डॉ. प्रीतिपालसिंह राणा ने दिया। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय शिक्षक गौरव जोशी ने किया। तथा आभार मैनेजिंग डायरेक्टर भानुप्रतापसिंह राणा ने माना।
इस अवसर पर राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत नृत्य एवं गीत बालक-बालिकाओं द्वारा प्रस्तुत किया गया। समारोह के अंत में विद्यालय की अति महत्वाकांक्षी योजना के तहत जिन बालिकाओं के अभिभावक आर्थिक रूप से असक्षम होकर बालिकाओं की शिक्षा अध्ययन को बीच में ही रूकवा देते है ऐसे बालकों को बालिका शिक्षा प्रोत्साहन हेतु विद्यालय की ओर से 2-2 हजार रू. के चैक अतिथियों के माध्यम से दिलवाये गये। ताकि उनकी विद्या अध्ययन में किसी प्रकार की बाधा उत्पन्न न हो।
इस अवसर पर पालक संघ अध्यक्ष कैलाश सूर्यवंशी, स्कूली स्टाफ, बड़ी संख्या में आये अभिभावकगण व बच्चे उपस्थित थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts