Breaking News

आचार्य डॉ शिवमुनिजी मसा का हुआ मंगल प्रवेश, निकला चल समारोह, धर्मसभा भी हुई

मंदसौर निप्र। शुक्रवार को मंदसौर में श्रमण संघीय आचार्य डॉ शिवमुनिजी मसा एवं संतमण्डल का भव्य मंगल प्रवेश हुआ । आचार्य श्री इंदौर में चातुर्मास पूर्ण करने के उपरांत विहार करते हुए दो दिवसीय प्रवास हेतु मंदसौर पहुॅचे है। श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ मंदसौर की विनती पर आचार्य श्री ने शुक्रवार को उप प्रवर्तक श्री अरूणमूनिजी मसा, संत श्री सुरेशमूनिजी मसा, श्री शिरीमुनिजी मसा,  श्री शुभममूनिजी मसा, श्री शमितमुनिजी मसा, श्री निशांतमुनिजी मसा ,श्री शाश्वतमुनिजी मसा, श्री शुद्धेशमुनिजी मसा नवदिक्षित संतश्री शौर्यमुनिजी के साथ नवनिर्मित  श्री जैन दिवाकर मूल तपों भवन स्थानक जीवागंज में भव्य मंगल प्रवेश किया।

मंगल प्रवेश के उपरांत आचार्य श्री व अन्य जैन संतो के मंगलमयी प्रवचन हुए। आचार्य श्री मंगलप्रवेश व मंगल प्रवचन में हजारों की संख्या में स्थानकवासी जैन समाज सहित नगर के कई गणमान्य नागरिकण शमिल हुए। इसके पूर्व श्रमण संघीय शिरोमणी ध्यान योागी 1008 आचार्य डॉ श्री शिवमुनिजी मसा ने मेनपुरिया चौराहे से संतमण्डल के साथ मंदसौर में प्रवेश किया। यहां श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन संघ अध्यक्ष अनिल संचेती सहित स्थानकवासी जैन समाज के कई वरिष्ठजनों ने उनकी अगवानी की।

इस अवसर पर स्थानकवासी जैन समाज का चल समारोह निकाला गया। भगवान श्री महावीर के जयकारे लगाते हुए तथा जैन दिवाकर चौथमलजी मसा की जय जय कार करते हुए धर्मालुजनों ने उन्हे मंदसौर में प्रवेश कराया।जनकुपुरा स्थानक तीर्थ स्थल के समान पवित्र धाम है।आचार्य डॉ शिवमूनिजी  मसा ने यहा आयोजित घर्मसभा में कहा कि जनकुपुरा स्थानक सभी स्थानकवासी जैन समाज के अनुयायियों के लिये तीर्थ स्थल के समान पवित्र धाम है। जिन्होने भी इसके नवनिर्माण में सहयोग प्रदान किया है वह बधाई के पात्र है। इस स्थानक का नवनिर्माण कराकर जनकुपुरा श्रीसंघ ने 300 वर्ष पुराने जैन स्थानक को नये स्वरूप में लाकर जैन धर्म की जो प्रभावना की है वह अनुकरणीय है।

धर्मसभा में उपप्रर्वतक श्री अरूणमूनिजी मसा श्रवण संघीय मंत्री श्री शिरिषमुनिजी मसा, महामंत्री श्री शुभममुनिजजी मसा ने अपने विचार रखे। धर्म सभा का संचालन श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ जनकुपुरा अध्यक्ष अनिल संचेती ने किया। धर्मसभा में बडी संख्या में धर्मालुजजनों ने आचार्य श्री व अन्य जैन संतो की अमृतमयी वाणी का लाभ लिया। इस अवसर पर  नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार, पूर्व मंत्री नरेन्द्र नाहटा, महेन्द्र चौरडिया,  सौभाग्यमलजी जैन, प्रकाश रातडिया, सुरेन्द्र लोढा, बापूलाल संचेती, विनोद कुदार, महावीर जैन , रविन्द्रसिंह रांका, पुष्पा रांका, कांतिलाल रातडिया, कमल कोठारी  आदि गणमान्य  नागरिको ने सहभागीता की तथा आचार्य श्री व अन्य जैन संतो की अगवानी कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts