Breaking News

आचार्य श्री रामानुजजी के मुखारविन्द से होने वाली नौ दिवसीय रामकथा का स्वरूप व्यतम होगा : आयोजन समिति की वृहद बैठक सम्पन्न

मन्दसौर। नगर में आगामी 6 से 14 जनवरी तक होने वाली श्री रामकथा का स्वरूप भव्यतम होगा, कथा स्थल माहेश्वरी धर्मशाला के परिसर को आकर्षक ढंग से सुसज्जित कर श्री बालाजी धाम नामकरण किया जाएगा। शुभारंभ दिवस पर श्री तलाई वाले बालाजी मंदिर से ऐतिहासिक पोथीयात्रा निकाली जाएगी, हाथी- घोड़े, गाजे- बाजे और महिलाओं की कलश यात्रा इसकी शोभा बढ़ाएंगे। श्री हरिकथा आयोजन समिति के तत्वावधान में आयोजित श्री रामकथा में आचार्य श्री रामानुजजी कथा प्रवचन करेंगे। इस वृहद आयोजन के संबन्ध में महाराजा अग्रसेन मांगलिक भवन नरसिंह पुरा में आयोजन समिति के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र अग्रवाल की अध्यक्षता में नगर के गणमान्यजनों एवं समाज प्रमुखों की एक बड़ी बैठक हुई,जिसमे समाजसेवी मोहनलाल शर्मा, तलाई वाले बालाजी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष धीरेन्द्र त्रिवेदी, समाजसेवी सत्यनारायण गर्ग, नन्दकिशोर अग्रवाल, कारूलाल सोनी, वासुदेव खेमानी, ब्रजेश जोशी मंचासीन थे।

 

समिति के अध्यक्ष नरेंद्र अग्रवाल ने कहा कि आचार्य श्री रामानुजजी के मुखारविंद से होने वाली रामकथा को ऐतिहासिक भव्यता प्रदान की जायेगी, सभी समाज प्रमुखों एवं गणमान्यजनों का अच्छा सहयोग मिल रहा है, कथा को भव्यता प्रदान करने हेतु लगातार समाज प्रमुखों की यह तीसरी बैठक आहुत की गई थी अब प्रतिदिन बैठकों का दौर चलेगा ताकि आमजन से प्राप्त सुझावोंके आधार पर और अच्छी व्यवस्था सुनिश्चित की जावेगी। श्री अग्रवाल ने कहा कि 6 जनवरी को दोपहर 12.15 बजे श्री तलाई वाले बालाजी मंदिर गांधी चौराहा से नगर में एक भव्य शोभायात्रा निकाली जावेगी जो कि नगर के प्रमुख मार्गाे से होती हुई कथा स्थल पर पहुंचेगी जहां व्यासपीठ पर विराजित आचार्य श्री रामानुजजी कथा का रसपान करवाएंगे। 7 से 14 जनवरी तक प्रतिदिन कथा दोपहर 1 से 5 बजे तक होगी ।

समाजसेवी मोहनलाल शर्मा ने कहा कि श्री रामकथा को लेकर नगर में काफी उत्साह है,नगर व बाहर के भी अनेक श्रद्धालु कथा सुनने आएँगे,आयोजन की तैय्यारियाँ व्यापक रूप से की जा रही है। तलाई वाले बालाजी मंदिर ट¬स्ट के अध्यक्ष धीरेन्द्र त्रिवेदी ने कहा कि पोथी यात्रा इतनी भव्य हो कि कथा श्रवण करने श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़े। समाजसेवी कारूलाल सोनी ने कहा कि इस समिति के माध्यम से प्रति वर्ष देश के शीर्षस्थ विद्वानों की कथा के आयोजन कराए जाएं। श्री नन्दकिशोर अग्रवाल ने कहा कि श्री रामकथा के लिए अपार उत्साह देखा जा रहा है व्यापक तैय्यारियों के लिए समिति सभी की जिम्मेदारियां तय कर दायित्व सौपे।वासुदेव खेमानी ने कहा रामकथा का आयोजन यादगार रहेगा और हमारे जीवन को नई दिशा मिलेगी। वरिष्ठ पत्रकार डॉ घनश्याम बटवाल ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि आचार्य श्री रामानुजजी जैसे विद्वान वक्ता के मुख से कथा श्रवण करेंगे तथा सुझाव दिया कि कथा स्थल का नाम बालाजी धाम रखा जाए,जिस पर सभी ने सहमति दी।

बैठक में सर्वश्री राजेन्द्र अग्रवाल, अमरकांत गर्ग, पुरषोत्तम शिवानी,द्रष्टानन्द नैनवानी, नरेंद्र त्रिवेदी, डॉ दिनेश तिवारी प्रो.अशोक अग्रवाल, प्रदीप भाटी, सुरजमल गर्ग चाचा, विनोद मेहता, सुरेश सोमानीआदि ने महत्वपूर्ण सुझाव व विचार प्रस्तुत किये। इस अवसर पर श्रीरामकथा में विशेष रूप से सहयोग करने वाले सर्वश्री कारूलाल सोनी, नंदकिशोर अग्रवाल, धिरेन्द्र त्रिवेदी, अजय सोनी, डॉ. कुशल शर्मा, सुनील बंसल, प्रदीप भाटी, दिनेश लखेरिया, गोविन्द मामाजी, ओमप्रकाश गाजवा, अजय फाफरिया, मनीष सोमानी, रमेश लड्डा, सुरेश बाबानी, अमरकांत गर्ग, ओमप्रकाश व्यास, शिवप्रतापसिंह राणा, गोविन्दसिंह सिसौदिया, नवीन त्रिवेदी, रमेश पहलवान, नीरंजन अग्रवाल, मोहनलाल शर्मा, रमाशंकर शर्मा, गिरिश कटलाना, डॉ. दिनेश तिवारी, गोपालदास पसारी, धर्मेन्द्र जाजु, डॉ. अशोक अग्रवाल, बाबुलाल सोनी, जयप्रकाश सोनी, पृथ्वीराज सोनी, विजयराज सोनी, नरेन्द्र त्रिवेदी, कन्हैयालाल सोनगरा, सचिन पारिख, विनोद रावल आदि का आयोजन समिति की और से सम्मान किया गया ।

बैठक में नन्दूभाई आडवाणी,राजमल गर्ग, कैलाश अग्रवाल, कल्याणमल अग्रवाल, नंदकिशोर सोमानी, सुशील गुप्ता, आनंदीलाल पड्यां, रमेश काबरा, भगवानदास वासवानी, धन्नालाल माली, जगदीश काला, दिलीप सेठिया, भरत कोठारी, पुरषोत्तम शिवानी, मुकेश गौड़, शेषनारायण माली, राजेन्द्र तिवारी, ब्रजेश शर्मा, सुरेश पाठक, शैलेन्द्र माथुर, दिनेश गोयल, हेमन्त अग्रवाल, ओम अग्रवाल सर, कन्हैयालाल सोनगरा, नितिन शिंदे, विनोद गगरानी, विजय सोमानी, कैलाश घोडेडला सहित बडी संख्या में नगर के गणमान्यजन उपस्थित थे। आरभ में मंचासीन महानुभावों ने श्री तलाई वाले बालाजी की तस्वीर पर माल्यार्पण कर बैठक का शुभारंभ किया। संचालन ब्रजेश जोशी ने किया, आभार जयप्रकाश बटवाल ने माना।

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts