Breaking News

आज घर घर विराजेगे रिद्धी सिद्धी के दाता

आज गणेश चतुर्थी के पावन अवसर पर रिद्धी सिद्धी के दाता श्री गणपति जी घर घर विराजेगे साथ ही नगर के विभिन्न चौक चौराहो पर गणेश जी की चित्ता आर्कषक प्रतिमाएॅ विधि विधान के साथ स्थापित कर दस दिनों तक विध्नहर्ता की आराधना की जायेगी। इस बार अनेक स्थानों पर भगवान श्री गणेश की आदमकद प्रतिमाएॅ विभिन्न मुख मुद्राओं वाली स्थापित कि जा रही है। इसके लिये नगर में 70 से अधिक स्थानो पर वॉटर प्रूफ पाण्डाल बनाये गये है

गायत्री शक्तिपीठ द्वारा 500 घरों में विराजेंगे सुपारी विनायक

गायत्री परिवार द्वारा पर्यावरण संवर्द्धन अभियान के अंतर्गत श्री गणेश चतुर्थी पर शास्त्र सम्मत वस्तुओं सुुपारी, दीपक, खारक आदि से निर्मित भगवान गणपतिजी की प्रतिमाओं की स्थापना 500 घरों में करवाई जायेगी।   उपरोक्त जानकारी देते हुए गायत्री परिवार महिला मंडल की श्रीमती किरण शिन्दे व श्रीमती निरंजना गौड़ ने बताया कि प्रतिमा के आकार से बड़ी होती है आराधना व सूंदरता से बड़ी है उसकी षुद्धता। हमारी संस्कृति में मिट्टी को सबसे शुद्ध कहा गया है व इससे निर्मित भगवान की ही स्थापना की जानी चाहिये यदि मिट्टी न हो, तो सुपारी को भी भगवान गणेश का प्रतिक निरूपित किया गया है। हमारे यहां समस्त शुभकार्यों की पूजा में सुपारी को भगवान गणेशजी के रूप में पूजित करने का विधान है।

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts