Breaking News

आज मनाया जायेगा बुराई पर अच्छाई के प्रतिक का त्यौहार

सुबह रावण की होगी पूजा, शाम को होना वध और दहन

मंदसौर। सनातन हिन्दू संस्कृति का सबसे बड़ा उत्सव विजयादशमी पर्व आज 19 अक्टोबर शुक्रवार को कॉलेज ग्राउण्ड में मनाया जायेगा। दशपुर उत्सव समिति द्वारा मालवाचंल के सबसे भव्य दशहरा उत्सव की सभी तैयारियां कर ली गई है। सायंकाल 6.30 बजे से सतरंगी आतिशबाजी के अदभुत नजारों के साथ दशहरा उत्सव आरम्भ होगा। रावण का 51 फीट ऊँचा पुतला बनकर तैयार हो चुका है जिसे गुरूवार को खड़ा कर दिया गया। मेघनाथ एवं कुंभकर्ण के भी 41-41 फीट के पुतले बनाये गये है। दशहरा उत्सव के दौरान कोटा-बुन्दी के आतिशबाजों द्वारा गगनचुम्बी भव्य सतरंगी आतिशबाजी के नजारे पेश किये जायेगे।

खानपुरा में प्रातः होगी रावण की पूजा गौधूलि वेला में होगा वध नगर के खानपुरा में सीमेन्ट से निर्मित अतिप्राचीन रावण की विषालकाय प्रतिमा जो बैठी मुद्रा में है। दषहरे के पर्व पर आज प्रातः रावण की पूजा अर्चना की जायेगी। मान्यता के अनुसार रावण के पैरों में लछ्छा बांधने से नागरिकों को एकात्रा (बुखार)  की बिमारी से निजात मिलती है। वर्शों से नामदेव समाज द्वारा प्रातः रावण की प्रतिमा पर जाकर विधिवत् पूजा की जाती है। वहीं दषहरे के दिन गौघूलि वेला (षाम) को हर्शोल्लास के साथ रावण वध की पंरपरा का निर्वहन किया जाता है।

पिपलिया में इस बार 41 फिट के रावण के पुतले के साथ ही 18-18 फिट के मेघनाथ व कंुभकर्ण के पुतलों का होगा दहन, भ्रष्टाचार मुक्त रहेगा रावण दहन कार्यक्रम !

पिपलियामंडी। विजयादशमी पर इस बार 41 फिट के रावण के पुतले के साथ ही 18-18 फिट के मेघनाद व कंुभकर्ण के पुतलों का दहन होगा। यहां टीलाखेड़ा बालाजी मंदिर परिसर में कलाकार रावण के पुतले को तैयार करने में जुटे हुए है। हालांकि रावण दहन तो हर बार होता है, लेकिन इसमें खास बात यह है कि रावण के पुतले में भी हर बार की तरह होने वाले खर्च से आधी राशि में और अच्छा कार्य करने का टेण्डर पिपलिया के किशोर रोचानी मित्र मण्डल ने लिया है। जानकारी के अनुसार विजयादशमी पर 19 अक्टूबर को शाम 7.30 बजे यहां शासकीय बालक उमावि परिसर में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी रावण के साथ ही मेघनाथ व कंुभकर्ण के पुतलों का दहन होगा। साथ ही टेडी बियर भी आकर्षण का केन्द्र रहेगें। जबकि हर वर्ष रावण के पुतले का ही दहन होता है।

बढ़ती महंगाई के दौर में जहां एक ओर हर वस्तु के दाम बढ़े है, वहीं दूसरी और रावण के पुतले की उंचाई 10 फिट और बढ़कार कम राशि में बनाने का टेण्डर किशोर रोचानी मित्र मण्डल ने इस बार लिया। हर बार नगर परिषद् मात्र 31 फिट के रावण के पुतले का टेण्डर 90 हजार रुपए में स्वीकृत करती है, वहीं आतिशबाजी पर 75 हजार रुपए खर्च होते है। लेकिन इस बार पिपलिया के किशोर रोचानी मित्र मण्डल ने यह टेण्डर मात्र 51 हजार रुपए में लिया, वहीं पुतले की उंचाई 10 फिट और बढ़ाकर 41 फिट का बनाया है। रोचानी ने बताया नगर परिषद् ने टेण्डर में मेघनाथ व कंुभकर्ण के पुतलों को बनाने की शर्त नही है, इसके बावजूद 18-18 फिट के दो पुतले इनके भी तैयार किए गए है। नगर परिषद् हर बार आतिशबाजी के नाम पर 75 हजार रुपए खर्च करती है, उसी प्रकार की आतिशबाजी इस बार रोचानी मित्र मण्डल 45 हजार रुपए में करेगा। कम लागत में अच्छा कार्य करने का टेण्डर लेने वाले किशोर रोचानी ने बताया बुराई पर अच्छाई के विजय के पर्व विजयादशमी पर रावण के पुतलों का दहन होता है, मैं पिछले तीन वर्ष से इसका टेण्डर लेने के लिए प्रयासरत रहा, लेकिन मुझे टेण्डर नही दिया जा रहा था, मुझसे ज्यादा राशि भरने वाले का टेण्डर हो जाता था। रोचानी ने बताया एसे कार्य में क्या क्या भ्रष्टाचार करना ?

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts