Breaking News

आरोपी को पकड़ने का वीडियो बना पुलिस के लिए सिरदर्द – पुलिस और अपराधियों के संबंधों पर बड़ा खुलासा

इसके बाद जब शाहरुख मुल्तानी को पकड़ने का वास्तविक वीडियो जारी हुआ तो जनता की आंखें वीडियो को देखकर फटी की फटी रह गई क्योंकि जो नीमच पुलिस एसपी मनोज सिंह अपराधी को पकड़ कर फूले नहीं समा रहे थे उनके दावों की हवा इस वीडियो में उस वक्त फूस… हो गई जब कुख्यात कय्यूम लाला के घर से बकायदा जैकेट पहनते हुए आरोपी शूटर शारुख मुल्तानी यह कहता हुआ पाया गया कि मुझको एसपी साहब लेने आए हैं ।
उसी वीडियो में कुछ अन्य लोगों के साथ नीमच एसपी मनोजसिंह साहब इत्मीनान से चाय पीते हुए नजर आए । इस पूरे वीडियो में पुलिस और अपराधियों के बीच की जुगलबंदी जगजाहिर हो चुकी है । इसीलिए डायमंड ज्वेलर्स के अनिल सोनी तथा सुनील सोनी बंधुओं का जो भय है वह दिखावा नहीं है यानी उनकी जान को खतरा है ।।
उसका आधार यह वीडियो हो सकता है । यानी पुलिस की कार्यवाही से उपरी तौर पर तो ऐसा लग रहा है कि कार्रवाई की गई है लेकिन जो इस प्रकार के अपराधियों के साथ जो गठबंधन दिखाई दे रहा है उससे तो ऐसा लगता है कि इन अपराधियों पर जो अदालतों में जो मुकदमा चलेगा उसमे पुलिस द्वारा जानबूझकर कमजोर साक्ष्य जुटाने की संभावना बलवती होती है । केस कमजोर होने की वजह से आसानी से छूट जाए और पुलिस की कार्यवाही से जनता भी शांत हो जाए और सीमा पार अपराधी फिर से शहर में अपने काले कारनामों को अंजाम देने के लिए तैयार होजाए । यानी पुलिस और अवैध वसूलीबाज मिलकर ये काले कारनामे कर रहे है एसा प्रतीत होता है । इस वीडियो के आधार पर सोनी बंधुओं ने मांग की है कि सीमा पार से जो अपराधिक गतिविधियां संचालित हो रही हो उसको पूरी तरह नेस्तानाबूद किया जाए नहीं तो आने वाले समय में किसी भी तरह से मंदसौर में शांति होने की संभावना नजर नहीं आती है । हम आपको बता दे की भाजपा सरकार में यूपी के कैराना की तरह ही सोनी बंधू दहशत के चलते पलायन का मन बना रहे है ।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में मंच से प्रदेश के गुंडों को चेतावनी देते हुए कहा था गुंडों मध्य प्रदेश छोड़ो| लेकिन सीएम की कथनी और करनी में बड़ा अंतर है| प्रदेश में जहां गुंडे बदमाश बेख़ौफ़ है वहीं पुलिस को उनके प्रति रवैया सख्त होने के बजाय बड़ा ही नरम दिखाई पड़ता है| ऐसा ही एक मामला नीमच में देखने को मिला जब डायमंड ज्वेलर्स के संचालक पर गोली चलाने के मामले में आरोपी को नीमच एसपी पहुंचे तो आरोपी को पकड़ने के बजाय वे खुद की खातिरदारी करवाने में लगे रहे। वहीं आरोपी गुंडे को भी तनिक भी यह नहीं लगा कि वो पकड़ा गया है और न ही उसे किसी सजा डर दिखा| देखेगा भी कैसे जब पुलिस ऐसे गुंडों से नरमी से पेश आएगी और अपनी खातिर में लगी रहेगी| ऐसे हालातों को देखकर क्या सीएम की वो चेतावनी गुंडों को डरा पायेगी| क्या ऐसी स्थिति में गुंडे बदमाश मध्य प्रदेश छोड़ पाएंगे यह बड़ा सवाल पुलिस प्रशासन और सीएम दोनों के सामने खड़ा है|

दरअसल, 29 नवम्बर को डायमंड ज्वेलर्स के शो रूम पर रात करीब सात से आठ बजे के बीच फोन आता है, की एक करोड़ की फिरौती दो, नही तो जान से जाओगे। इसके दो दिन बाद शोरुम पर 1 दिसम्बर को चार फायर होते है। जिसमें उनके भतीजे को गोली लगती नहीं लेकिन छु कर निकलती है । फिर एक महिने बाद 10 जनवरी को नीमच से आते वक्त डस्टर गाडी में चार फायर होते है, जिसमे अजय सोनी को गोली लगती है और वो गंभीर रुप से घायल हो जाते हैं। अजय उदयपुर के अस्पताल में भर्ती है। उसकी हालत ठीक नहीं है। इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई जाती हैं ,जिसके सिलसिले में आज नीमच एसपी मनोज सिंह आरोपी को पकड़ने के लिए उसके घर जाते हैं, मगर उसे पकड़ने के बजाय अपनी ही खातिरदारी करवाने में लग जाते हैं। चाय नाश्ते के मजा लेने मशगूल रहते हैं| डायमंड ज्वैलर्स के संचालक अनिल सोनी ने भाई पर हमले के पीछे कय्यूम लाला, बेटे आजम लाला व अन्य बदमाशों की भूमिका बताई है। साथ ही नीमच एएसपी राकेश कुमार सगर पर भी मिलीभगत के आरोप लगाए हैं| मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के सख्त रुख के बाद नीमच पुलिस डायमंड ज्वैलर्स गोलीकांड के आरोपी गुंडे शाहरुख ढोल को अखेपुर (राजस्थान) से लाई थी। दावा किया था कि शाहरुख ने सरेंडर किया है। पुलिस के इस दावे पर शुक्रवार को मीडिया में जारी एक वीडियो ने सवाल खड़े कर दिए हैं। इसमें नीमच एसपी मनोजकुमार सिंह शाहरुख की मौजूदगी में चाय पीते नजर आ रहे हैं। इस मामले में एसपी सिंह ने अब चुप्पी साध ली।

वीडियो डायमंड ज्वैलर्स संचालक अनिल सोनी ने शुक्रवार को यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में जारी किया। इसमें शाहरुख कह रहा है- नीमच एसपी आए हैं और मैं पेश होने जा रहा हूं, उनके साथ। इसके बाद शाहरुख अपने कमरे से निकल कर बाहर गली में आता है। गली में ही कुछ लोगों के साथ कुर्सी पर बैठे नीमच एसपी सिंह कप से चाय पीते दिख रहे हैं। गुंडा शाहरुख भी कुछ लोगों के साथ पास ही में खड़ा है। अगले ही पल एसपी सिंह चाय पीने के बाद उठकर वहां से चले जाते हैं। बताया जाता है वीडियो गुंडे शाहरुख के कहने पर उसके एक साथी ने बनाया था। पुलिस का दावा है डायमंड ज्वैलर्स के संचालक अनिल सोनी व गुंडों (लालाओं) के बीच 21 बार बात हुई। हमारे पास इनकी रिकॉर्डिंग है। उधर सोनी ने मंदसौर सीएसपी को पत्र लिखकर सुरक्षा मांगी है। कहा है अगर मेरे साथ कुछ होता है तो नीमच-मंदसौर पुलिस जिम्मेदार होगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts