Breaking News

इन्टरनेट बैंकिंग क्या है?

Hello MDS Android App

कुछ लोग Internet Banking को बैंकिंग के लिए सुरक्षित माध्यम नहीं मानते है लेकिन यह सही नहीं है असल में इन्टरनेट बैंकिंग भी बैंकिंग के लिए एक सुरक्षित और तेज और बहुत सारी सुविधाओं से लेस एक ऐसा माध्यम है जिसमे अगर आपको इन्टरनेट के उपयोग की बेसिक जानकारी है तो भी आप सुविधाओ का लाभ अपने घर बैठे बैठे ही ले सकते है।

Internet banking in hindi/इन्टरनेट बैंकिंग क्या है?
क्या है इन्टरनेट बैंकिंग/ Internet Banking in detail- इन्टनेट बैंकिंग बैंकिंग का वो आधुनिक स्वरुप है जिसमे आपको पारम्परिक बैंकिंग सुविधाएँ घर बिहे बैठे इन्टरनेट के माध्यम से मिल जाती है और आप वो तमाम बैंकिंग कार्य कर सकते है जो आप बैंक में जाकर करते है जैसे – कॉलेज की फीस भरना, मोबाइल पेमेंट, बिल जमा करना और रिचार्ज करना या ऑनलाइन शोपिंग के लिए भुगतान और भी ढेरों काम है जो इन्टरनेट बैंकिग से किये जा सकते है वो भी घर बैठे बैठे।
कैसे करें इन्टरनेट बैंकिंग के लिए आवेदन / Apply for Internet Banking– इसके लिए सबसे पहले आपको सम्बन्धित बैंक में जाकर एक रजिस्ट्रेशन एप्लीकेशन फॉर्म भरना होता है जिसके बाद बैंक आपको लॉग इन के लिए आई और पासवर्ड उपलब्ध करवाता है जिसके बाद आप बैंक की website पर लॉग इन कर सकते है।

सुविधाएँ / Faclities of E-Banking– बैंको द्वारा इन्टरनेट बैंकिंग के माध्यम से दी जाने वाली कुछ मुख्य सुविधाएं निम्न है
~ Online income tax return भर सकते है ।
~ किसी को भी पैसे ट्रान्सफर कर सकते है।
~ Online Shoping करते समय भुगतान कर सकते है
~ आप ऑनलाइन डिमांड ड्राफ्ट बना सकते है।
~ अपने चेक का भुगतान रोक सकते है।
~ कुछ बैंक्स ने अभी अभी एटीएम पिन भूल जाने पर दोबारा generate करने की भी सुविधा अपने ग्राहकों को दी है।
~ उसके अलावा भी बहुत सारी अन्य सुविधाएँ है जो आप इन्टरनेट बैंकिंग के जरिये प्राप्त कर सकते है।

क्या इन्टरनेट बैंकिंग सुरक्षित है /is E-banking Safe – असल में इन्टरनेट के उपयोग करना जितना आसान है और सुविधा पूर्ण है उतना ही आपको सावधानी भी बरतनी होती है और अगर कोई कहता है कि इन्टरनेट बैंकिंग सुविधाजनक नहीं है तो यह गलत है इन्टरनेट बैंकिंग पूरी तरह सुरक्षित है और साथ सी अभी कई तरह के सुरक्षा के उपाय किये गये है जिसमे मोबाइल पर भेजा जाने वाला otp की सुविधा शामिल है। इसलिए कुछ बेसिक बातों का ध्यान रखते हुए हम अपने बैंकिंग अनुभव को next लेवल पर लेकर जा सकते है।

नेट बैंकिंग करते वक़्त ध्यान रखेंगे योग्य बातें जिससे सुरक्षति रहे आपका पैसा
Tips for safe & secure internet banking, online banking: सभी बैंक अपने ग्राहकों को सुरक्षित ऑनलाइन बैंकिंग के कई सुझाव देते हैं लेकिन, इसके बावजूद भी कई लोग फ्रॉड का शिकार हो जाते हैं। इंटरनेट पर हर पल कई हैंकर लगातार दूसरों के बैंक अकाउंट पर नजर बनाए रहते हैं और लोगों की एक छोटी सी गलती करने का बेसब्री से इंतजार करते रहते हैं। अगर आप इस जाल में नहीं फंसना चाहते हैं तो ध्यान रखे इन बातों का –

1. फिशिंग अलर्ट- फिशिंग एक टेक्निकल शब्द है, जिसे किसी घपले या घोटाले के लिए इस्तेमाल किया जाता है। जब कोई फ्रॉड व्यक्ति या संस्था आपको फर्जी ई-मेल भेजती है तो इसे फिशिंग कह सकते हैं। ये ई-मेल बिल्कुल विश्वसनीय जैसे लगते हैं और इसके जरिए आपका बैंक अकाउंट नंबर, पासवर्ड और कई व्यक्तिगत जानकारी मांगी जा सकती है। ऐसे ई-मेल से हमेशा सावधान रहें और इनमें दिए गए लिंक्स (links) पर क्लिक न करें।

2. बैंक संबंधित जानकारी रखें गुप्त- इंटरनेट के प्रयोग के समय किसी भी संदिग्ध लिंक पर क्लिक न करें। किसी भी लुभावने ऑफर को देखकर उसपर क्लिक करना और उसमें दिए गए निर्देशों पर अमल करना खतरे का काम होता है। इससे आपकी कई व्यक्तिगत जानकारियां फ्रॉड लोगों तक पहुंच जाती है।
एक ऐसा ड्रिंक जो चर्बी को पिघला डालता है!- 2 हफ्तों में 20 किलो! सुबह आपको..एक ऐसा ड्रिंक जो चर्बी को पिघला डालता है!- 2 हफ्तों में 20 किलो! सुबह आपको.. खाली पेट दो चम्मच खाने से वज़न घटता है| १० दीनो मे १८ किलो वज़न घटा! क्लिक करेखाली पेट दो चम्मच खाने से वज़न घटता है| १० दीनो मे १८ किलो वज़न घटा! क्लिक करे वजन कम करने के लिए बेकिंग सोड़ा! १ सप्ताह में ५ किलो कम.वजन कम करने के लिए बेकिंग सोड़ा! १ सप्ताह में ५ किलो कम.

3. पासवर्ड रखें गुप्त- कुछ समय के अंतराल पर अपने बैंक अकाउंट पासवर्ड को बदल लेना सही होता है। पासवर्ड हमेशा लंबा और मिक्स टाइप का रखें। नंबर के साथ अंग्रेजी कैरेक्टर का पासवर्ड में मित्रित इसतेमाल करना काफी अच्छा माना जाता है। इससे आपका अकाउंट जल्दी हैक नहीं हो सकता है। असुरक्षित (unsecured) वाई-फाई में ऑनलाइन बैंकिंग न करें और इसके लिए हमेशा अपने निजी कंप्यूटर का इस्तेमाल करें। अपने पासवर्ड को डायरी या मोबाइल में न दर्ज करें।

4. लॉक आइकन पर रखें नजर- अपने बैंक अकाउंट के आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल किसी भी वेबसाइट पर तभी करें जब ऊपर यूआरएल (url) पर लॉक का चिन्ह दिखाई दे। ये आपके पासवर्ड को गुप्त रखता है। इस चिन्ह से पता चलता है की जिस वेबसाइट पर आप काम कर रहे हैं वो सुरक्षित है।

5. आपातकाल में बैंक को करें इनफॉर्म- अगर आपको अपने बैंक अकाउंट में पैसे कम दिखाई पड़ें तो तुरंत उसी समय अपने बैंक को इसके बारे में जानकारी दें। इस केस में पैसे वापस मिलने की गुंजाइश होती है अगर आप बैंक को बताने में देरी करेंगे तो पैसे कभी वापस नहीं मिलेंगे। इसके अलवा प्रत्येक पैसों के लेन-देन पर अपने मोबाइल पर एसएमएस से जानकारी लें और इसे हमेशा एक्टिवेट रखें।

6. लॉगआउट करना न भूलें- जब भी आप इंटरनेट से अपने पैसों की लेन-देन करें उसके तुरंत बाद अपना अकाउंट लॉगआउट करना न भूलें। आपके अकाउंट के खुले रहने पर दूसरा व्यक्ति उसका गलत इस्तेमाल कर सकता है।

7. फ्रॉड की जानकारी बैंक को दें- अगर आपके इंटरनेट बैंक अकाउंट के साथ किसी भी तरह का फ्रॉड हो जाए तो इसकी जानकारी तुरंत बैंक को दें। बैंक इसपर तुरंत कार्यवाई करेगा। या फिर आपको लगता है की आपने किसी गलत इंसान से अपने इंटरनेट बैंक अकाउंट के डिटेल शेयर कर लिया है तो तुरंत बैंक को खबर करें और नया पासवर्ड तुरंत बनाएं।

8. स्मार्ट फोन कितने हैं सुरक्षित- अगर आपके पास बैंक जाने या कम्यूटर पर बैंकिंग करने का टाइम नहीं है तो अपने फोन से भी ऑनलाइन बैंकिंग सुरक्षित है। अपने फोन को हमेशा लॉक रखें और पासवर्ड किसी दूसरे व्यक्ति से शेयर न करें।

9. फोन पर बैंकिंग सुरक्षित रखना बैंक की जिम्मेदारी- ज्यादातर फोन बैंकिंग डिटेल्स को सेव नहीं कर सकते हैं और सारी जानकारी एक सुरक्षित डाटा सेंटर में लोड रहती है। जब कभी आपका फोन खो जाए या चोरी हो जाए तो घबराने की जरूरत नहीं है, सिर्फ अपने मोबाइल ऑपरेटर को रिपोर्ट करके अपना नंबर बंद करवा दें।

10. एंटीवायरस रखें अपडेट- ऑनलाइन बैंकिंग के इस्तेमाल के लिए अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर एंटीवायरस हमेशा अपडेट रखें। इसके साथ ही सबसे लेटेस्ट एंटीवायरस का इस्तेमाल करना भी जरूरी है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *