Breaking News

इस तरह तीन चरणों में पूरी होती है I.A.S. परीक्षा

आई.ए.एस. की परीक्षा तीन चरणों में पूरी होती है। पहले प्राथमिक परीक्षा, दूसरे चरण में मुख्य और तीसरे चरण में परिक्षार्थियों का साक्षात्कार लिया जाता है। प्राथमिक परीक्षा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण 17 मार्च 2017 को बंद हुआ। यह परीक्षा 18 जून 2017 को आयोजित की गई थी। दूसरे चरण की मुख्य परीक्षा अक्टूबर/नवंबर 2017 के महीने में आयोजित की जाएगी। दोनों परिक्षाओं में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को अंतिम चरण की परीक्षा के रूप में साक्षात्कार के लिए अप्रैल/मई, 2018 के महीने में बुलाया जाएगा।

आई.ए.एस. प्राथमिक परीक्षा का पैटर्न
 आई.ए.एस. की प्राथमिक परीक्षा कागज एवं कलम आधारित होती है। यह परीक्षा एक ही दिन, दो सत्रों में आयोजित की जाती है। पेपर 1 के अंतर्गत (सामान्य क्षमता परीक्षण) और पेपर 2 में (सिविल सेवा योग्यता परीक्षण) संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। नीचे की तालिका द्वारा IAS Exam Pattern के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं:
 

परीक्षा की अवधि

 

प्रत्येक पेपर के लिए 2 घंटे या 120 मिनट (नेत्रहीन अभ्यर्थियों के लिए 20 मिनट का अतिरिक्त समय)

प्रश्नों की संख्या

पेपर में 200 प्रश्न और पेपर II में 200

प्रश्नों का कुल अंक

400 अंक

प्रश्न के प्रकार

वस्तुनिष्ठ प्रश्न

प्रश्न के अंक

 

पेपर का 200 अंक और पेपर II का 200

नकारात्मक अंक

 

एक प्रश्न के लिए 1/3 अंक काटा जाएगा

परीक्षा का माध्यम

हिंदी और अंग्रेजी

 
यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. परीक्षा की प्राथमिक परीक्षा का पाठ्यक्रम
 
आई.ए.एस. की प्राथमिक परीक्षा का मूल्यांकन दोनों पेपर (पेपर I और पेपर II) के आधार पर किया जाता है। दोनों विषयों के लिए अलग-अलग 200 अंक निर्धारित होते हैं। परीक्षार्थी को उत्तर के रूप में उपलब्ध विकल्पों में से एक का चयन करना होता है। आई.ए.एस. चयन प्रक्रिया के अगले चरण की पात्रता पाने के लिए परीक्षार्थी को दोनों विषयों में यू.पी.एस.सी. द्वारा निर्धारित न्यूनतम 33% अंक प्राप्त करना आवश्यक है। आई.ए.एस. की प्राथमिक परीक्षा के लिए परिक्षार्थियों को निम्न विषयों की पढ़ाई करनी होगी।
 
यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. प्राथमिक परीक्षा पेपर 1
 
सभी प्रश्न प्रकृति में उद्देश्य होंगे। उम्मीदवारों को प्रत्येक प्रश्न के लिए दिए गए 4 उत्तर विकल्पों में से किसी एक को चुनना होगा। यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. की प्राथमिक परीक्षा के प्रश्न पत्र में वर्तमान की घटनाक्रम, सामान्य अध्ययन और दुनिया भर की घटनाओं के बारे में पूछा जाता है। परिक्षार्थियों की अधिक जानकारी के लिए नीचे सारणी दी जा रही है। इस सारणी के द्वारा परीक्षार्थी आई.ए.एस. की प्राथमिक परीक्षा के विषयों से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं:
 

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएं

भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन

भारतीय और विश्व भूगोल– भारत और विश्व की भौतिकसामाजिक,आर्थिक भूगोल

भारतीय राजनीति और शासनव्यवस्थासंविधान,राजनीतिक व्यवस्थापंचायती राजसार्वजनिक नीतिअधिकारमुद्दे आदि।

आर्थिक और सामाजिक विकाससतत विकासगरीबी

समावेशनजन सांख्यिकीसामाजिक क्षेत्र की पहल आदि।

पर्यावरण पारिस्थितिकीजैवविविधता और जलवायु परिवर्तन संबंधित सामान्य मुद्दे

सामान्य विज्ञान

 
यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. प्राथमिक परीक्षा पेपर 2
 
आई.ए.एस. परीक्षा के पेपर 2 के अंतर्गत वैसे प्रश्न पूछे जाते हैं जो अभ्यर्थियों की योग्यता कौशल का परीक्षण करते हैं। यदि परीक्षार्थियों को इस परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण होना है तो उन्हें नीचे दी गई सारणी में उल्लिखित विषयों का अध्ययन करना चाहिए:-
 

समझ कौशल (कॉम्प्रिहेंशन)

संचार कौशल एवं पारस्परिक कौशल

तर्क संगत एवं विश्लेषणात्मक प्रश्न

निर्णय लेने की क्षमता एवं समस्या सुलझने का ज्ञान

सामान्य मानसिक क्षमता

संख्यात्मकता संबंधित प्रश्न (संख्याएं और उनके संबंध,परिमाण संबंधी प्रश्न आदि) (कक्षा 10वीं के स्तर पर आधारित)

डेटा व्याख्या (चार्टग्राफ़टेबलडेटा पर्याप्तता आदिकक्षा10वीं के स्तर पर आधारित)

अंग्रेजी भाषा कौशल (कक्षा 10वीं के स्तर पर आधारित)

 
यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. मुख्य परीक्षा का पैटर्न
 
यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. मुख्य परीक्षा के अंतर्गत 7 पेपर होते हैं। इस परीक्षा के आधार पर परीक्षार्थी तीसरे चरण की परीक्षा के लिए उत्तीर्ण माने जाते हैं और अच्छे अंक प्राप्त कर मेरिट लिस्ट में अपना स्थान बनाते हैं। मुख्य परीक्षा लिखित रूप से ली जाती है जो दो चरणों में आयोजित की जाती है। इस परीक्षा के प्रश्न पत्र अंग्रेजी और हिंदी (दोनों) माध्यमों में होते हैं। नीचे की तालिका में आई.ए.एस. की मुख्य परीक्षा से संबंधित विस्तृत जानकारी दी जा रही है:-
 

परीक्षा की अवधि

प्रत्येक पेपर के लिए 3 घंटे

परीक्षा का कुल अंक

2025 अंक

प्रश्न के प्रकार

निबंध आधारित प्रश्न

अंक

 

पेपर से पेपर VII तक के प्रत्येक पेपर के लिए 250 अंक एवं व्यक्तित्व परीक्षण के लिए 275 अंक

प्रश्न पत्र की भाषा

हिंदी और अंग्रेजी में

 
 
परिक्षार्थियों को निम्नलिखित बिंदुओं को ध्यान में रखना चाहिए:- पेपर ए और पेपर बी (भारतीय भाषाएं और अंग्रेजी) मैट्रिक या समकक्ष कक्षा पर आधारित प्रश्न होंगे। इस परीक्षा में आपको केवल उत्तीर्ण होना है क्योंकि इसके नंबर आपके मेरिट लिस्ट में नहीं जुड़ेंगे। 
अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और सिक्किम के राज्यों के अभ्यर्थियों के लिए पेपर-ए देना आवश्यक नहीं है।
अभ्यर्थी परीक्षा की भाषा या माध्यम के लिए अपनी लिपियों का उपयोग कर सकते हैं।
 
यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम 
 
अभ्यर्थी, जो आई.ए.एस. की प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करेंगे वे मुख्य परीक्षा में शामिल होने के लिए पात्र होंगे। आई.ए.एस. की मुख्य परीक्षा में अभ्यर्थियों की समग्र बौद्धिक क्षमता एवं निपुणता का गहराई से परीक्षण किया जाता है।
 
मुख्य परीक्षा के पेपर I से पेपर vii के लिए परिक्षार्थियों को नीचे लिखे विषयों का अध्ययन करना चाहिएः-
 
पेपर I- निबंध
पेपर II – जनरल स्टडीज I (भारत की विरासत, भारत की संस्कृति, इतिहास, भारतीय समाज और विश्व का भूगोल)
पेपर III- जनरल स्टडीज II (भारतीय शासन व्यवस्ता, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध)
पेपर IV- जनरल स्टडीज III (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन)
पेपर V-जनरल स्टडीज- IV (एथिक्स, इंटिग्रिटी, और एपटीट्यूड)
पेपर VI और पेपर VII- इसके लिए परीक्षार्थी वैकल्पिक विषय पेपर I  और पेपर II में किसी एक विकल्प का चयन कर सकते हैं- 
 

कृषि

विद्युत अभियांत्रिकी

चिकित्सा विज्ञान

पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान

भूगोल

 

भूगोल दर्शन

मानव विज्ञान

भूविज्ञान

भौतिकी

वनस्पति विज्ञान

इतिहास

राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंध

रसायन विज्ञान

कानून विषय

मनोविज्ञान

सिविल इंजीनियरिंग

प्रबंधन

लोक प्रशासन

वाणिज्य और लेखा

गणित

समाजशास्त्र

अर्थशास्त्र

मैकेनिकल इंजीनियरिंग

सांख्यिकी

प्राणी विज्ञान

साहित्य

 

 
यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. परीक्षा का साक्षात्कार
 
यू.पी.एस.सी. आई.ए.एस. परीक्षा के साक्षात्कार में नागरिक सेवाओं से संबंधित कार्यकुशलता की जांच की जाती है। इसके लिए अभ्यर्थियों के संचार कौशल और कार्य कुशलता का आंकलन किया जाता है। साक्षात्कार में बौद्धिक क्षमता, सामाजिक गुणों, वर्तमान घटनाओं और मामलों के प्रति उनकी जागरूकता का मूल्यांकन करते हैं तथा अंक प्रदान करते हैं।
 
साक्षात्कार में परिक्षार्थियों से मानसिक सजगता, अनुकूलता पर आधारित प्रश्न, सवालों एवं परिस्थितियों से संबंधित तार्किक और प्रश्न, निर्णयपरकता संबंधी प्रश्न, अभ्यर्थियों की विविधता और उनकी रूची, सामाजिक सामंजस्य और नेतृत्व क्षमता तथा बौद्धिक और नैतिकता संबंधी प्रश्न पूछे जाते हैं।
 
अभ्यर्थी साक्षात्कार में जाने से पहले अपने विषय का गहराई से अध्ययन जरूर करें। हालांकि परिक्षार्थियों के तकनीकी ज्ञान की जांच लिखित परीक्षा में की जाती है लेकिन साक्षात्कार के द्वारा परिक्षार्थियों का व्यक्तित्व और कैरियर संबंधी रिकॉर्ड में सबलता आती है। प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों एवं परीक्षार्थी के बीच की बातचीत के बाद अंतिम रूप से परिक्षार्थियों का चयन किया जाता है।
 
परीक्षा संबंधी अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें:
 
Source: Collegedunia (यह आलेख कॉलेजदुनिया.कॉम ने प्रभासाक्षी के लिए विशेष रूप से लिखा है)

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts