Breaking News

ऊँ के साथ सम्पन्न हुआ विद्यारंभ संस्कार

मंदसौर निप्र। सरस्वती विद्या मंदिर केशव नगर व अभिनन्दन नगर के कक्षा अंकुर के नवीन प्रवेशी भैया/बहिनों का विद्यारंभ संस्कार का आयोजन हुआ। शिशु मंदिर प्राचीन सभ्यता को आज भी जीवित रखने का सराहनीय कार्य कर रहा है। इस कार्यक्रम का शुभारंभ गायत्री शक्ति पीठ से पोथी पूजन के साथ भव्य शोभा यात्रा के साथ प्रारंभ हुआ। पोथी यात्रा में भैया/बहिनों के घोष दल व ज्ञान कुम्भ लेकर विद्यालय के दीदी श्रीमती ज्योति भाले सप्त ऋषि बने भैयाओं एवं भारतीय प्रतीक चिह्नों एवं मातृ देवो भवः, पितृ दोवों भवः, गुरूदेवो भवः के बैेनर के साथ नगर के मुख्य मार्ग से होती हुई विद्यालय पहुँची। जहाँ चारों वेदों का पूजन तथा माताओं के पग पूजन के पश्चात् कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मंदसौर विभाग समन्वयक श्री महादेव जी यादव, प्रो. राजेन्द्रसिंह शिक्षण समिति के अध्यक्ष श्री अशोक जी पारिख, व्यवस्थापक श्री कृष्णस्वरूप जी भटनागर, समिति सदस्य व भारतीय आदर्श शिक्षण समिति के अध्यक्ष श्री गोविन्दजी वैेशयम्पायन, विद्यालय प्राचार्या श्रीमती सरोज प्रसाद तथा आचार्य परिवार उपस्थित थे। अतिथि परिचय मंदसौर विभाग की शिशु वाटिका प्रमुख श्रीमती उमा भाटीया व स्वागत श्रीमती सोनल मिण्डा, श्रीमती पूनम श्रीवास्तव ने किया। नन्हे मुन्ने बहिनों ने नृत्य कर अतिथि व अभिभावकों का मन मोह लिया नृत्य की प्रस्तुति श्रीमती आयुषी जैन ने कराई। मुख्य अतिथि ने अपने उद्बोधन में कहा कि परिवार में संस्कार का होना आवश्यक है यदि हम पढ़ लिखकर उच्च पद प्राप्त कर लेते है पर यदि संस्कार नही हो तो हमारा जीवन अधूरा है। कार्यक्रम में भैया/बहिनों कीे प्रथम गुरू माँ की गोद में बैठाकर ऊँ व श्री की रचना कराई गई। श्रीमती रेखा पाटीदार व श्रीमती वैशाली कामरगांवकर ने भैया/बहिनों के हाथ में प्रसाद रख ऊँ का उच्चारण कराया। प्राचार्या श्रीमती सरोज प्रसाद ने भैया/बहिनों तथा उनके अभिभावको को शुभकामना देते हुए भैया/बहिनों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। कार्यक्रम का संचालन सुश्री शिखा चैबे ने किया व आभार श्रीमती उषा शर्मा ने माना।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts