Breaking News

एक अरब से शिवना नदी का अस्तित्व बचाने की जद्दोजहद

100 करोड़ रुपए की शिवना शुद्धिकरण योजना, भोपाल की टीम ने 2 घंटे दिया प्रेजेंटेशन, नपाध्यक्ष कोटवानी ने कहा- चौड़ीकरण, गहरीकरण व सौंदर्यीकरण होगा

मन्दसौर। शहर की पहचान शिवना नदी को नया स्वरूप देने के लिए करीब 100 करोड़ रुपए की लागत के शिवना शुद्धिकरण प्लान के तहत शुक्रवार को भोपाल की टीम ने पूरे 2 घंटे नपा में प्रेजेंटेशन दिया। योजना अगले 18 साल को ध्यान में रखकर तैयार की गई है। इस प्लान को लेकर नपाध्यक्ष राम कोटवानी ने बताया चौड़ीकरण, गहरीकरण व सौंदर्यीकरण समेत अन्य बिंदू भी शामिल किए गए हैं। शिवना नदी के प्रदूषण का स्थायी समाधान करने को लेकर नपा सभागार में यह बैठक हुई। शिवना के लिए पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन भोपाल की टीम ने 99 करोड़ 62 लाख रुपए की योजना तैयार की है और प्रदेश शासन की इस कार्ययोजना को लेकर विचार-विमर्श का दौर काफी देर तक चला। भोपाल की टीम से अनुप श्रीवास्तव, राजेश मिश्रा ने करीब 2 घंटे तक प्लान के बारे में बताया। कहा कि इसमें रामघाट से लेकर मुक्तिधाम तक सीवरेज निर्माण कर पानी की निकासी, घाट निर्माण का कार्य भी शामिल है। नपाध्यक्ष कोटवानी ने कहा शिवना का संरक्षण हमारी जिम्मेदारी है। गंदे पानी की समस्या दूर करना और पूरी स्थिति में सुधार करना हमारी प्राथमिकता रहेगी। प्लान में शामिल बिंदुओं से पशुपतिनाथ मंदिर परिसर तक सुविधाओं का विस्तार होगा। प्रदेश शासन ने शिवना नदी को लेकर जो कार्ययोजना बनाई है, काम जल्द पूर्ण हों, यही हमारा प्रयास रहेगा। सामाजिक कार्यकर्ता मनीष भावसार ने भी बिंदुओं को लेकर टीम से चर्चा की और जिज्ञासाओं पर अधिकारियों ने जवाब दिए। नदी में गंदे पानी को मिलने से रोके जाने पर बेहतर अमल होना जरूरी है। बैठक में नपाध्यक्ष कोटवानी, उपाध्यक्ष सुनील महाबली, सीएमओ प्रेमकुमार सुमन समेत अधिकारी व अनेक संस्थाओं के सदस्य मौजूद रहे। 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts