Breaking News

ऐसे बनवाएं ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस, एक क्लिक पर जानें सभी जानकारी

Hello MDS Android App

अगर आप बाइक, कार या ट्रक चलाते हैं तो आपके के पास ड्राइविंग लाइसेंस होना जरूरी है।

 
अगर आप बाइक, कार या ट्रक चलाते हैं तो आपके के पास ड्राइविंग लाइसेंस होना जरूरी है। भारत की सड़कों व राजमार्गों पर गाड़ी  चलाने के लिए मोटर व्हीकल एक्ट ए 1988 की धारा तीन के मुताबिक वाहन चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) होना चाहिए।
 
ऐसे करें अप्लाई
लाइसेंस बनवाने के लिए आपको राज्य के परिवहन विभाग की वेबसाइट पर जाना होगा और वहां दिया दिया गया एप्लिकेशन फॉम भरना होगा। इसके बाद पहचान के दो डाक्यूमेंट्स और जन्‍म संबंधी दस्‍तावेज स्कैन कर अपलोड करने होंगे। आप अपनी सुविधा के अनुसार कंप्यूटराइज्ड टेस्‍ट के लिए तारीख ले सकते हैं।
आवेदनकर्ताओं को तय की गई तारीख तक दफ्तर आकर ऑनलाइन फीस जमा करानी होगी। इसी दौरान कंप्यूटराइज्ड टेस्ट भी लिया जाएगा। टेस्‍ट पास होने पर आवेदक को लर्निंग लाइसेंस से दिया जाएगा। इसके बाद एक से छह महीने बीच आप ड्राइविंग टेस्‍ट देकर स्थाई लाइसेंस पा सकते हैं।
30 रुपए में लर्निंग और 300 में परमानेंट लाइसेंस
आप दलालों को लाइसेंस बनवाने के लिए आठ सौ से एक हजार रुपए तक दे देते हैं। लेकिन अब आपको ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस सिर्फ बनवाना ही आसान नहीं होगा बल्कि इसकी फीस भी कम है। आप मात्र 30 रुपए देकर लर्निंग लाइंसेंस ले सकते हैं। वहीं परमानेंट के लिए 300 रुपए की फीस देनी होगी। आपके ई-बैकिंग से जुड़ते ही फीस भी ऑनलाइन जमा करवाई जा सकेगी। फिलहाल विभागीय सॉफ्टवेयर को ई-बैंकिंग से नहीं जोड़ा गया है। आवेदक को ऑनलाइन आवेदन करने के बाद फीस जमा कराने के लिए कार्यालय आना ही होगा।
मोबाइल फोन पर भी बन सकता है लाइसेंस
ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आप मोबाइल फोन से भी ऑनलाइन एप्लाई कर सकते हैं। अपने मोबाइल फोन से ही आप नया डीएल बनवाने से लेकर डूप्लीकेट, डीएल रिन्यूवल, डीएल ब्लॉकिंग से लेकर आरसी और नोड्यूस सर्टिफिकेट बनवाकर हासिल कर सकते हैं।
अप्लाई के ये तरीके भी हैं कारगर
ऑलाइन मोबाइल फोन पर डीएल बनवाने के लिए आपको अपने राज्य की ट्रांसपोर्ट कार्यालय की वेबसाइट फोन के ब्राउजर में ओपन करनी है। इसके बाद वेबसाइट पर दिया गया ऑनलाइन फॉर्म ओपन करना है। उसके बाद में उसमे चाही गई जानकारियां फिल करके उसें सबमिट कर दें। इसके बाद फॉर्म का प्रिंट आउट निकालें ओर चाहे गए दस्तावेजों और ट्रांसपोर्ट ऑफिस द्वारा निर्धारित फीस के साथ कार्यालय में जमा करवा दें।
तीन तरह के होते हैं ड्राइविंग लाइसेंस 
 
1. नॉन ट्रांसपोर्ट लाइसेंस
यह लाइसेंस पर्सनल गाडिय़ां चलाने के लिए मिलता है। इसे हासिल करने के लिए पहले लर्निंग लाइसेंस बनवाना होता है। इस लाइसेंस की वेलिडिटी 20 साल तक होती है। हालांकि अलग-अलग राज्यों में यह अवधि कुछ कम या ज्यादा भी हो सकती है।
2. ट्रांसपोर्ट लाइसेंस
इस लाइसेंस की वेलिडिटी 3 साल तक की होती है इसके बाद इसें रिन्यू करवाना होता है। यह लाइसेंस लेने के बाद आप कॉमर्शियल यानी ट्रांसपोर्ट वाहन चला सकते हैं।
3. इंटरनेशनल ड्राइविंग पर्मिट
इस लाइसेंस से आप विदेशों में भी वाहन चला सकते हैं। हालांकि इस इस लाइसेंस की वेलिडिटी 1 साल तक की होती है उसके बाद इसें फिर से रिन्यू करवाना होता है।
मोबाइल फोन पर डीएल बनवाने के लिए किन चीजों की होती है जरूरत, जानिए आगे की स्लाइड में…
मोबाइल फोन पर डीएल बनवाने के लिए इन डाक्यूमेंट्स की जरूरत
ऑनलाइन, मोबाइल फोन अथवा कंप्यूटर के जरिए डीएल बनवाने के लिए एड्रेस और फोटो आईडी प्रूफ की जरूरत होती है। जबकि कई राज्यों में न्यूनत शैक्षणिक योग्यता की मार्कशीट तथा मेडिकल सर्टिफिकेट भी अनिवार्य होते हैं। एड्रेस और फोटो आईडी प्रूफ के लिए आप आधार कार्ड, पेन कार्ड, राशनकार्ड, बिजली-पानी,टेलीफोन बिल साथ ही 16 तरह के दस्तावेज फॉर्म के साथ संलग्र कर सकते हैं।
ड्राइविंग लाइसेंस के लिए टेस्ट
एकबार ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने के बाद आपको 1 महिने में लर्निंस लाइसेंस दिया जाएगा। इसके बाद आपका टेस्ट होगा जिसके 1 महीने के बाद आपको ड्राइविंग टेस्ट और इंटरव्यू लिया जाएगा। ड्राइविंग टेस्ट और इंटरव्यू में पास होने के बाद आपका ड्राइविंग लाइसेंस भारतीय डाक द्वारा आपके घर भिजवा दिया जाएगा।
कैसे बनता है ड्राइविंग लाइसेंस
ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अपना आवेदन स्थानीय आरटीओ ऑफिस में किया जा सकता है। व्यक्ति का भारतीय होना जरूरी है। साथ ही वह मानसिक रूप से विक्षिप्त या गंभीर रूप से विकलांग न हो है। ड्राइविंग लाइसेंस तभी जारी होगा जब तक वह वाहन की कैटिगिरी के लिए तय उम्र सीमा के दायरे में आता होगा
अगर आप बाइक, गियर वाले स्कूटर, कार या जीप जैसे चार पहिया वाले वाहन चलाने के लिए डीएल बनवाना चाहते हैं तो आपको यह ध्यान में रखना होगा कि आप की उम्र 18 साल या उससे ज्यादा हो। 21 साल की उम्र के बाद ट्रैक्टर व दूसरे किसी वाहन के लिए लाइसेंस बनाया जाता है।
अपॉइंटमेंट के बाद देना होगा ये टेस्ट 
-60 रुपए में लाइसेंस हासिल करने के लिए आपको ट्रांसपोर्ट विभाग के जोनल ऑफिस में एक परीक्षा से गुजरना होता है। इस परीक्षा के दौरान आपके 10 आब्जेक्टिव सवाल पूछे जाएंगे।
-लर्निंग लाइसेंस पर कुछ दिन गाड़ी चलाने के बाद ही आप पर्मानेंट लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको जोनल ऑफिस में फॉर्म नंबर 4 भरना होता है।
-लाइसेंस आवेदन करने के बाद आपको कई नियमों का पालन करना होगा। अगर चाहते हैं कि आपका लाइसेंस आपके घर पहुंच जाए, तो फॉर्म के साथ एक डाक लिफाफा देना होगा। नहीं तो आपको एसडीएम ऑफिस जाकर डीएल लेना होगा।
लाइसेंस के लिए इन डॉक्यूमेंट की होगो जरुरत
-रेजिडेंस प्रूफ
-किसी गजटेड ऑफिसर से अटेस्टेड हो, या नोटरी की कॉपी या फिर
-शपथ पत्र के साथ राशन कार्ड
-बिजली का बिल, टेलीफोन बिल, किसी रास्ट्रीयकृत बैंक का पासबुक एफिडेविट के साथ
-एलआईसी की पालिसी
-पासपोर्ट
वोटर आई कार्ड
-एज प्रूफ
-दसवीं का सर्टिफिकेट (अटेस्टेड)
-पासपोर्ट
-बर्थ सर्टिफिकेट
 
 
प्राइवेट लाइसेंस के लिए
-एप्लीकेशन फॉर्म नंबर 9
-रीसेंट पासपोर्ट साइज़ फोटो की 3 कॉपी
-ड्राइविंग लाइसेंस
-एज प्रूफ और आवासीय प्रूफ
-फॉर्म नंबर 1
-मेडिकल फॉर्म नंबर 1, अगर आपकी उम्र 50 साल से ज्यादा है
 
कमर्शियल लाइसेंस के लिए
उपरोक्त सभी के साथ ट्राफिक चालान का क्लियरेंस
फॉर्म 4 (ए), फॉर्म 1 (ए)
वैध लाइसेंस
एड्रेस प्रूफ
 
डुप्लीकेट लाइसेंस कैसे पाएं
-एप्लीकेशन फॉर्म एलएलडी
-खोए या किसी कारण से गुम हुए लाइसेंस की FIR
-ट्रैफिक पुलिस से चालान क्लियरेंस रिपोर्ट (अगर कमर्शियल लाइसेंस रिन्यूअल कराना हो तो)
-एड्रेस प्रूफ, ऐज प्रूफ, फॉर्म 33
ऐसे करें ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यूअल (प्राइवेट लाइसेंस)
इसके लिए आपको फॉर्म 9 का एप्लीकेशन चाहिए होगा
रुपये 250 की फीस और जुर्माना जो एप्लीकेबल हो
रीसेंट के दो फोटो पासपोर्ट साइज़
ओरिजिनल ड्राइविंग लाइसेंस जो रुका हुआ है
वैलिड प्रूफ की अटेस्टेड फोटो कॉपी, उम्र और आवासीय
फॉर्म 1 जिसमें आपको खुद को फिजिकल फिट बताना होगा
 
ड्राइविंग लाइसेंस पर पता बदलने की जानकारी कैसे दें
सबसे पहले तो आपको आरटीओ से एनओसी लेना होगा, और नजदीकी आरटीओ ऑफिस जाकर पता बदलने के लिए अप्लाई करना होगा.
ये डॉक्यूमेंट भी साथ रखें
-एनओसी
-फॉर्म 7
-एक पासपोर्ट साइज़ की फोटो
-बदला हुआ एड्रेस प्रूफ

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *