Breaking News

ओम नमः शिवाय से गूंजे देवालय – महादेव मंदिरो में उमड़ा सैलाब

विश्व विख्यात पशुपतिनाथ मंदिर में कतारबद्ध होकर डेढ लाख श्रद्धालुओं ने भूतभावन की पूजा अर्चना

मंदसौर। महाशिवरात्रि पर सूर्यादय के पूर्व से ही नगर के देवालय ओम नमः शिवाय से गूंजने लगे थे। इस बार महाशिवरात्रि सोमवार को होने के कारण इस पर्व का महत्व और बढ़ गया था। दिनभर नगर के विभिन्न क्षेत्रों सहित ग्रामीण अंचलों में स्थित भगवान महादेव के मंदिरों में भक्तों का सैलाब उमड़ रहा था। वहीं शिवना तट पर स्थित विश्व प्रसिद्ध भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पर प्रातः 4 बजे से ही भक्तों के आने का सिलसिला शुरू हो गया था। जो निरंतर चल रहा था। एक अनुमान के अनुसार देश के विभिन्न अंचलों से आए लगभग डेढ लाख सें अधिक भक्तों ने भूतभावन के दर्शन वंदन कर धर्मलाभ प्राप्त किया। यहां पर भक्तों ने कतारबद्ध होकर अपने आराध्य देव को नमन किया।

शिव के प्रिय सोमवार को आई महाशिवरात्रि से भक्तों में खासा उत्साह था। अलसुबह से ही श्रद्घालु शिवालयों में पहुंचने लगे। श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पर अलसुबह पट खुलते ही श्रद्घालुओं के पहुंचने का क्रम शुरू हुआ, जो रात 11 बजे तक अनवरत चलता रहा। दिनभर में लगभग 80 हजार भक्त बाबा के दरबार में पहुंचे। श्री पशुपतिनाथ मंदिर पर अलसुबह पांच बजे से ही भक्त पहुंचने लगे थे। दोपहर बाद तो महिला-पुरुषों की कतारें मंदिर से बाहर निकलकर पार्किंग एरिया तक पहुंच गई। पुलिस और प्रशासन दोनों की व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रही। पशुपतिनाथ सहित जिले के सभी शिवालयों में दिनभर जयकारे गूंजते रहे। भक्तों ने शिव का अभिषेक कर आशीष मांगा।

महाशिवरात्रि पर शिवालयों में महादेव का आकर्षक श्रृंगार किया गया। भक्तों ने पंचामृत से अभिषेक कर आशीष मांगा। पशुपतिनाथ मंदिर पर भक्तों की सुरक्षा और मंदिर पर व्यवस्था को 150 से अधिक पुलिस जवानों व अधिकारियों ने संभाले रखा। वॉच टॉवर से पुलिसकर्मियों ने निगाहें जमा रखी थीं। यहां एक मिनट में लगभग 60 भक्तों ने दर्शन किए। पशुपतिनाथ मंदिर के अलावा अफीम गोदाम रोड स्थित अमलेश्वर महादेव, विश्वपति शिवालय गांधी चौराहा, रेलवे स्टेशन पर स्थित नीलकंठेश्वर महादेव रेलवे स्टेशन, भूरिया महादेव जनकूपुरा, धोलागढ़ महादेव खिलचीपुरा, भूतेश्वर महादेव सब्जी मंडी, जागेश्वर महादेव नीम चौक सहित सभी शिवालयों में आकर्षक विद्युत साज-सज्जा की गई। मंदिरों पर सुबह से ही विशेष आयोजन हुए, ठंडाई की प्रसादी का वितरण किया गया।

रातभर चारों प्रहर के अभिषेक

पशुपतिनाथ मंदिर पर चारों प्रहर के अभिषेक हुए। शाम 6.20 से 9.30 तक प्रथम प्रहर का अभिषेक-आरती की गई। दूसरा प्रहर 9.30 से 12.39 तक चला। मध्य रात्रि में तीसरे प्रहर का अभिषेक व मंगलवार सुबह 6.58 बजे चौथे पहर का अभिषेक हुआ। सभी पहर में प्रतिमा का अलग-अलग श्रृंगार किया गया एवं चाय प्रसादी वितरित की गई।

हर मार्ग से भक्त पहुंचे पशुपतिनाथ

महाशिवरात्रि पर्व पर यातायात व्यवस्था को भी बदला गया था। पशुपतिनाथ महादेव मंदिर के आस-पास लगभग 200 मीटर क्षेत्र नो व्हीकल जोन था। सदर बाजार, खानपुरा व कलेक्टोरेट तरफ से आए वाहनों को दोस्त पुलिस चौकी के सामने खड़ा कराया गया। चंद्रपुरा तरफ से आए वाहनों को केफेटेरिया के पास खाली मैदान में खड़े कराए गए। इधर हर मार्ग से पैदल भी काफी भक्त पहुंचे।

पुलिस रही तैनात, पुलिस अधीक्षक भी पहुुंचे

पशुपतिनाथ मंदिर पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद रही। पुलिस एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एसडीएम एसएल शाक्य, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, कोतवाली टीआई, वायडी नगर टीआई, नईआबादी टीआई सहित सहित पुलिसकर्मी दिनभर व्यवस्थाओं पर निगाह जमाए रहे। कलेक्टर धनराजू एस व एसपी विवेक अग्रवाल भी दिनभर व्यवस्थाओं पर नजर रखे रहे।

11क्विंटल खिचड़ी का लगाया भोग

महाशिवरात्रि पर महाघंटा अभियान के सदस्यों द्वारा भगवान पशुपतिनाथ महादेव को 11 क्विंटल खिचड़ी का भोग लगाया गया। पश्चात खिचड़ी भक्तों में वितरित की गई। इसके अलावा भक्तों द्वारा मंदिर पर पेड़े की प्रसादी भी वितरित की गई।

 

रातभर हुआ विशेष श्रृंगार

भगवान आशुतोष की रात्रिकालीन आराधना के संदर्भ में रात्रि 10 बजे से पूजन कर महारूद्रपाठ श्ुरू हुआ और फिर अभिषेक शुरू किया गया, रातभर प्रतिमा का विशेष श्रृंगार किया गया चारो अभिषेक व आरती के समय प्रतिमा का श्रृंगार बदला गया।

सीतामऊ में भी मनी महाशिवरात्रि

नगर सहित अंचल क्षेत्र में में सोमवार को महाशिवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। सुबह से ही मंदिरों में भक्तों की लंबी लाइनें लगी हुईं है। महाशिवरात्रि के इस पावन अवसर पर शिवभक्त भक्तिमय होकर भगवान शंकर की पूजा अर्चना कर रहे हैं इस अवसर पर भगवान शिव का श्रृंगार कर जलाभिषेक किया गया है पूरा नगर हर-हर महादेव के नारे से गुंजायमान रहा। मंदिरों में कतारों में लगे लोग भगवान भोले का अभिषेक करने के लिए इंजतार कर रहे हैं। नगर व अंचल के प्रसिद्ध मंदिर गंगेश्वर महादेव, कोटेश्वर महादेव, भड़केश्वर महादेव, एवली महादेव, गोर्धननाथ मंदिर, चारभुजा नाथ मंदिर, हंडियाबाग हनुमान मंदिर पट सुबह से ही लोग जलाभिषेक के लिए कतारों में लगें हुए थे।इस बार शिवरात्रि सोमवार को है इसलिए इसका खास महत्व है। इस पर्व के चलते बाजारों में भीड़ और उत्साह देखने को मिला मंदिरो में भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए।

अन्य शिवालयों में अमड़े भक्त

इसी के साथ ही शहर के प्रसिद्ध नीलकंठ महादेव, अमलेश्वर महादेव, जागेश्वर महादेव, भूरिया महादेव आदि प्राचीन शिवालयों में भक्तो की भीड़ उमडी। पुरानी सब्जी मण्डी गजा महाराज कॉम्पलेक्स घण्टाघर के पीछे स्थित प्राचीन शिवालय श्री भूतेश्वर महादेव मंदिर में महाशिवरात्री पर्व पर भगवान भोलेनाथ का पूजन-अभिषेक, आकर्षक श्रृंगार के साथ ही रात्री 8 बजे महाआरती हुई।

प्रसादी का वितरण हुआ

महाशिवरात्री के अवसर परं जगह-जगह प्रसादी वितरण का आयेाजन हुआ। पशुपतिनाथ मंदिर प्रांगण में खिचड़ी का वितरण हुआ। श्रद्धालुओं को सांसद सुधीर गुप्ता, विधायक यशपाल सिसौदिया ने खिचड़ी वितरण की। इसी के साथ ही कई स्थानों पर खिचड़ी, फलहारीं, फल सहित भांग का प्रसाद वितरण किया गया।

दलौदा मे धूमधाम से मनाई शिवरात्रि

रेलवे स्टेशन रोड़ पर स्थित शिव मंदिर पर महाशिवरात्रि पर्व धूम-धाम से मनाया गया। इसी दौरान प्रातः काल से ही मनोकामेश्वर महादेव की पूजा अर्चना व अभिषेक किया गया। मंदिर पंडित सुनील शर्मा के द्वारा हवन किया। दोपहर में भगवान के सामूहिक आरती की गई। वहीं प्रातः से ही धर्मालुओ की दर्शन के लिए भीड़ लगी रही। वह प्रगति चौराहा स्थित शिव मंदिर पर भी पूजा अर्चना हुई।

शिव अभिषेक के लिए घण्टो इंतजार- सोमवार को महाशिवरात्रि होने से शिवभक्तों का मंदिरो में अभिषेक के लिए ताता लगा रहा। इस अवसर पर बिलपत्र भांग धतूरे पुष्प मालाओ की पूछ परख रही एवं अभिषेक के लिए भक्तों को कई घण्टो इंतजार करना पड़ा। इस अवसर पर मंदिरो मे भजन कीर्तन शिव महापुराण आदि का दौर दिनभर चलता रहा। पूरा नगर हर हर महादेव के नारों से गुंजायमान रहा।

रातभर चला भक्ति का दौर- नगत सहित अंचल के शिव मंदिरों पर रातभर भजन कीतर्न के आयोजन हुए। महाआरति व महाप्रसादी के आयोजन हुए जिसमे बड़ी संख्या में भक्तों ने भाग लेकर धर्मलाभ उठाया।

पुलिस प्रशासन रहा मुस्तेद- महाशिवरात्री पुलिस प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पूरी तरह मुस्तेद रहा। टीआई बीएस गोरे अपनी टीम के साथ धार्मिक स्थलों का दौरा कर सुरक्षा का जायजा लिया।

नगर व अंचल मे महाशिवरात्रि पर प्रसादी के साथ भक्तो ने बड़ा उत्साह से मनाया पर्व व दर्शन किए

नगर का प्राचीन स्थान भीमगढ महादेव मंदिर पर सुबह से ही भक्तो का आना शुरू हो गया था। महादेव की विशेष पूजा-अर्चना के बाद दिन भर अलग -अलग प्रसादी किचडी साबूदाने, अंगूर व संतरे का वितरण संत कमलनाथ महाराज के हाथो से सभी भक्तो को हुआ। भीमगढ आने व जाने वाले भक्तो का भोले के दर्शन व पूजा-अर्चना का दौर दिन भर चलता रहा है। महिला विशेष पूजा महाशिवरात्रि पर करके दर्शन करती रही है। रात्रि मे भजन-कीर्तन के साथ खीर की प्रसादी व चाय का वितरण भी होता है। नगर व अंचल के भक्त महिला -पुरुष के साथ युवा व बच्चे बड़ी संख्या मे उपस्थित होकर दर्शन किये।

 

भक्तों की उमड़ती भीड़ को देखते हुए जिला प्रशासन ने पशुपतिनाथ मंदिर परिसर में माकूल व्यवस्था को अंजाम दिया था। ताकि कोई अव्यवस्था न हो। वहीं पुलिस प्रशासन भी पूरी तरह से मुस्तैद नजर आ रहा था। दर्शनों के दौरान कहीं कोई अप्रिय घटना के समाचार नहीं है।

भगवान श्री पशुपतिनाथ प्रातःकालीन आरती मण्डल की ओर से रात के चारो पहर में चार अभिषेक तथा चार विशेष आरती के आयोजन किए गए। रातभर मंदिर में भजन-कीर्तन होते रहे। शिवरात्रि पर ग्रामीण क्षेत्रों से कई भजन मण्डलियां यहां आई। इसके अलावा नगर के कई शिवभक्त रात्रिकालीन पूजा-अर्चना में शामिल भी हुए।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts