Breaking News

कई बैंक व्यक्ति के खातो के पैसो से कर रही है खिलवाड़ …

विगत कुछ दिन पहले एक स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया नयापुरा रोड़ के एटीएम से किसी 22 वर्षीय युवक के 3000 रूपये उसके खाते में एटीएम मशीन से निकलने के दौरान उसमे fund not available बताया जा रहा था। और इधर युवक परेशानी में था क्योकि उसके हाथों पैसे नहीं लगे थे तब वो ऐसी स्थिति में क्या करता भला। हालाँकि पैसे उसके तीसरे दिन उसके हाथ में आ चुके थे तब तक युवक कैसे तैसे करके मुम्बई पहुँच चूका था। और एक वक्त किसी 24 वर्षीय युवक के एक स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया के खाते में बीपीएल चौराहा के एटीएम में किसी उसी के दोस्त ने मुम्बई से आकस्मिक परेशानी होने के कारण उसके अकॉउंट में पैसे डलवाये लेकिन युवक ने एटीएम से जब पैसे निकालने की कोशिश की तब भी उसके हाथ कोई पैसे नहीं लगे। जब 2 दिन बाद वह SBI शाखा महू-नीमच रोड़ गया तब बैंक ने सप्ताह भर पैसे आने का स्टेटमेंट दिया। और जब वह पैसे लेने गया तब तक उसका मुम्बई दोस्त मन्दसौर आ चूका था। और उसे वह सब स्थिति बतानी पड़ी जो कि वह उसे बताना नहीं चाहता था। और ऐसा ही कुछ दिनों पहले गांधी चौराहा स्थित बैंक ऑफ इण्डिया के एटीएम से 2 लड़कियों के साथ हुआ। जब उन्होंने मुझे स्टेटमेंट दिया तो ऐसा लगा की जैसे उनसे ज्यादा परेशानी और किसी को ना हो। क्योकि मुसीबत में भी एक युवक तो कही से भी पैसे अरेंज कर लेता है लेकिन एक युवती वो भी बैंक समय समाप्त होने के बाद मुसीबत में जब एटीएम में से 7000 रुपये की जरुरत हो और वो ना निकले और तो और कोई एटीएम पर कोई गार्ड भी एक घंटे तक मौजूद नहीं हो तो वो बेचारी युवतियां किधर भटकेगी। और उन्हें वो ही पैसे 07 दिन बाद रिटर्न मिले तब तक वो कहा से चुकायेंगी। इसका जिम्मेदार कौन है एक पैसे वाला डब्बा या पैसो से भरा घर….???
हालात अभी ही सम्भल जाये तो अच्छा है…वरना एक वक्त ऐसा भी होगा जब इंसान का विश्वशनीय बैंक से भी विश्वास उठ जायेगा!!!!!

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts