Breaking News

कमलेश जैन हत्याकांड : आजम ने स्वीकारा मैंने ही पत्रकार जैन को मरवाया

मंदसौर। पत्रकार कमलेश जैन की हत्या के मामले में आजम ने जिम्मेदारी ली है। रिमांड अवधि खत्म होने पर आजम को जेल भेज दिया। टीआई कमलेश सिंगार ने बताया अखेपुर निवासी आजम ने कमलेश जैन की हत्या करवाना स्वीकार किया है। उसने स्वीकार किया कि गोपाल संन्यासी के माध्यम से पिपलियामंडी निवासी धीरज अग्रवाल उसके पास आया और कहा कि सुधीर जैन की विधवा बहू से कमलेश शादी करना चाहता है। उसे रास्ते से हटा दो। मुंह मांगी कीमत मिलेगी। 50 लाख रुपए में सुपारी दी गई जिसमें से 5 लाख रुपए नकद दिए। मामले में तीनों आरोपी आजम, गोपाल संन्यासी व धर्मेंद्र को जेल भेज दिया है।

गोरतालब है कि पिपलियामंडी के कमलेश जैन हत्याकांड के आरोपी आजम लाला, गोपाल संन्यासी और धर्मेंद्र घारू को रिमांड पूरी होने पर सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया। वहां से तीनों को जेल भेजने के आदेश दे दिए गए हैं। मामले में फरार आरोपी सलमान की तलाश में पुलिस की टीम राजस्थान में खाक छान रही है। गोपाल सन्यासी को मंदसौर और आजम और धर्मेंद्र को प्रतापगढ़ जेल भेजा गया है।

पिपलियामंडी पुलिस हत्याकांड के मामले में 22 अगस्त को गोपाल संन्यासी को मंदसौर जेल से और 25 अगस्त को आजम लाला व धर्मेंद्र घारू को प्रतापगढ़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाई थी। सोमवार को रिमांड अवधि पूरी होने पर पुलिस ने तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया है। रिमांड अवधि में तीनों ही आरोपियों ने कमलेश जैन हत्याकांड की पहले सामने आई कहानी ही बताई है।

टीआई कमलेश सिंगार ने बताया कि फरार आरोपी सलमान उर्फ सम्मू पिता शेर बादशाह लाला निवासी अखेपुर आजम लाला का रिश्तेदार ही है। धर्मेंद्र के साथ एक अन्य बदमाश ने भी रेकी की थी, लेकिन धर्मेंद्र से तीन दिन की पूछताछ में पुलिस उसका नाम भी नहीं उगलवा सकी है। फरार आरोपी सलमान की गिरफ्तारी के लिए राजस्थान के अखेपुर सहित अन्य ठिकानों पर दबिश दी गई है। आरोपी को जल्द पकड़ लिया जाएगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts