Breaking News

कर्जमाफी के लिए किसानों व कर्ज के आंकड़े जुटाना शुरू – CM शपथ के बाद कर्ज होगा माफ

भोपाल से आया पत्र : 24 घंटों में मांगी जानकारी, 30 सितंबर से पहले के बकाया कर्ज की राशि भेजने को कहा

मंदसौर। भोपाल में अभी कांग्रेस की सरकार ने शपथ नहीं ली है। पर कांग्रेस के वचन पत्र के मुख्य बिंदु 10 दिन में 2 लाख रुपए तक की कर्ज माफी की घोषणा को लेकर अधिकारियों ने तैयारियां प्रारंभ कर दी है। गुरुवार को जिला सहकारी बैंक में भोपाल से इमेल पर एक पत्र भी आ गया है। इसमें तीन बिंदुओं पर अल्पावधि ऋण और अल्पावधि कन्वर्जन ऋण की जानकारी 24 घंटे में भेजने को कहा गया है। भोपाल से 30 सिंतबर 18, 31 मार्च 18 व 30 जून 18 की स्थिति में बकाया कर्ज व किसानों की संख्या की जानकारी मांगी गई है।

विपक्ष में आते ही भाजपा के पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि भी दिन गिन रहे हैं कि नई सरकार में मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण करते ही दस दिन गिनेंगे उसके बाद सड़कों पर आकर विरोध शुरू करेंगे। वहीं, इधर अभी सरकार के गठन की प्रक्रिया चल रही है पर अधिकारियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। गुरुवार को ही प्रदेश के अधिकांश जिला सहकारी बैंकों में सहकारिता विभाग से एक पत्र पहुंच गया। इसमें एक फॉर्मेट भी दिया गया है। उसमें जानकारी भरकर 24 घंटे में भोपाल भेजने को कहा गया है। फॉर्मेट पर जिले में कर्जदार किसानों की संख्या के साथ ही तीन अलग-अलग दिनांकों के आधार पर अल्पावधि ऋण और अल्पावधि परिवर्तित ऋण की जानकारी मांगी जा रही है। इसके भी तीन अलग-अलग तारीखों के आधार पर किसानों के खाते में बकाया कर्ज की जानकारी ली जाएगी। भोपाल से आए फॉर्मेट के अनुसार 31 मार्च 18, 30 जून 18 व 30 सितंबर 18 की स्थिति में जिले की विभिन्न सोसायटियों में कर्जदार किसानों की संख्या और बकाया कर्ज की जानकारी भेजना है। भेजने के लिए भी लगभग 24 घंटे का समय दिया गया है। इमेल मिलते ही जिला सहकारी बैंक के सीईओ भारद्वाज सहित कर्मचारी भी पूरी जानकारी एकत्र करने में जुट गए। जिला सहकारी बैंक के अंतर्गत मंदसौर-नीमच जिले में लगभग 172(मंदसौर 102, नीमच 68) सहकारी सोसायटियों में लगभग दो लाख से अधिक किसानों ने कर्ज ले रखा है। इसके अलावा जिला सहकारी बैंक की 35 शाखाओं से भी कर्ज दिया जाता है।

– भोपाल से एक पत्र आया है जिसमें 31 मार्च, 30 जून व 30 सितंबर की स्थिति में कर्जदार किसानों की संख्या व राशि की जानकारी मांगी गई है। 24 घंटे में फार्मेट पर उसे भेजने को कहा गया है। गुरुवार दोपहर बाद से हम इसी पर काम कर रहे हैं।-एके भारद्वाज, सीईओ, जिला सहकारी बैंक।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts