Breaking News

कर्ज से परेशान युवक कूदा नदी में, निर्माणधीन ओव्हरब्रीज की गाडर से युवक घायल, कुएॅ में गिरने से युवक की मौत

मंदसौर। शहर के गांधीनगर में रहने वाले एक ३० वर्षीय युवक ने मुक्तिधाम क्षेत्र की बड़ी पुलिया से शिवना नदी में कूद कर आत्महत्या कर ली। जिसका शव शुक्रवार सुबह पौने ११ बजे गोताखोर की मदद से कोतवाली पुलिस ने निकाला। पुलिस को मृतक के जेब से सुसाइड नोट भी मिला है। और एक सुसाइड नोट घर से मिला है। पुलिस ने दोनों सुसाइड नोट जप्त कर लिए है।

थानाप्रभारी विनोद सिंह कुशवाह ने बताया कि गत दिवस रात को बड़ी पुलिया पर बाइक मिली थी। जिससे शंका जाहिर की जा रही थी कि कोई युवक नदी में कूदा है। रात को ढूंढने का प्रयास भी किया गया। बाइक के नंबर से जानकारी ली तो सामने आया कि एक ऑटो मोबाइल की दुकान से कुछ दिन पहले गांधीनगर निवासी नरेश पिता भगवानदारस रामवानी उम्र ३० ने २५ हजार रूपए में बाइक खरीदी थी। जिसमें पांच हजार नगद दिए थे। और २० हजार रूपए देना थे। शुक्रवार को सुबह पौने ११ बजे गोताखोर की मदद से शव निकाला गया। मृतक की जेब से एक नोट मिला है। और एक घर पर मिला है। थानाप्रभारी कुशवाह ने बताया कि मृतक ने सुसाइड में लिखा कि तीन लाख रूपए नवीन नाहटा से ले रखे थे। मूल राशि के एवज में वह ३० लाख रूपए दे चुका है। तीन हजार रूपए प्रतिदिन ब्याज देता था। उसका एक मकान है जो नवीन नाहटा ने सोहिल नाहटा के नाम करवा दिया है। वह इससे परेशान होकर आत्महत्या कर रहा है। उसने सुसाइड नोट में लिखा कि मम्मी पापा मुझे माफ कर देना। मेरे पत्नी मीना और बेटा तीन वर्षीय नन्नु को जयपुर छोड़ देना है। मैं आपका नालायक बेटा हूं। उन्होंने बताया कि जो मकान नाम पर करवाया होना बताया गया है उस पर करीब २१ लाख रूपए का कर्ज है। शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। थानाप्रभारी कुशवाह ने बताया कि नवीन नाहटा के खिलाफ धारा ३०६ के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर तलाश शुरु कर दी है।

वायडीनगर थानाप्रभारी जितेंद्र ङ्क्षसह सिसौदिया ने बताया कि मृतक की बालागंज में बिस्किट एवं गोली की दुकान थी। वह प्रतापगढ़ क्षेत्र में भी बिस्किट बेचता था। मर्ग कायम कर लिया है। आगे की जांच के लिए डायरी कोतवाली थाने भेजी जाएगी।

मृतक नरेश के पिता भगवान दास रामवानी ने बताया कि नवीन नाहटा से तीन लाख रूपए लिए थे। रोज तीन हजार रूपए ब्याज के दे रहा था। उसने किटयानी वाला मकान भी अपने नाम करवा लिया। उसने परेशान होकर आत्महत्या की। वह गुरुवार रात साढ़े सात बजे घर से निकला था।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts