Breaking News

कहीं अाप के बाथरूम और चेंजिंग रूम में लगे LED बल्ब में कैमरा तो नहीं?

हो जाइए सावधान क्योंकि है किसी की नजर आप पर, अगर आप कहीं सार्वजनिक स्थान पर जा रहे है घूमने अपने परिवार के साथ तो आप को किसी होटल या किसी गेस्ट हॉउस में रुकना ही पड़ेगा और बाथरूम या कमरा इस्तेमाल करते हुये अगर आप ने रोशनी के लिए बल्ब का स्वीच आन किया तो रोशनी के साथ हो सकता है आप के जीवन में अंधेरा क्योंकि बल्ब जलाते हुए ही नए आ रहे चाइना एल ई डी के साथ आप की वीडियो बन रही है और आप के वीडियो का गलत इस्तेमाल हो सकता है , तो सतर्क रहे…
क्योंकि ये बिल्कुल नये तरीके का एल ई डी बल्ब चाइना की मार्केट से बाज़ार में फैल रहा है जिसमे वीडियो रिकार्डिंग भी की जा सकती है। इसके गलत इस्तेमाल से बचें और बाथरूम या चेंजिंग रूम इस्तेमाल करने से पहले ये जरूर जांच ले की कही आप जिस एल ई डी बल्ब को जला रहे वो वीडियो रिकार्डिंग वाला चाइनीस बल्ब तो नहीं, आज कल मॉल या कपड़ो के शो रूम में कपड़े खरीदने के बाद आप उसे चेंजिंग रूम में ट्राई करने जाते है तो वहां भी आपको सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि आप को कपड़े चेंज करते हुए
ट्रायल रूम में कही आप की वीडियो रिकार्डिंग तो नहीं हो रही। यहाँ तक की इससे सरकारी महकमों में भी कॉन्फिडेंशियल दस्तावेजों की जासूसी के लिए इसका इस्तेमाल करने से भी परहेज नहीं। मार्केट में इन चाइनीज बल्ब की डिमांड दिनों दिन बढ़ रही है और गलत और शातिर लोग इसका बेजा इस्तेमाल करने नहीं चुकेंंगे।

बाजार में गुपचुप तरीके से खुफिया कैमरे वाले एलईडी बल्ब बिक रहे हैं। रोशनी देने के साथ ही यह वीडियो रिकॉर्डिंग भी करते हैं। इसलिए इसका बेजा इस्तेमाल हो सकता। ऐसे में सार्वजनिक बाथरूम और चेंजिंग रूम इस्तेमाल करने वाले सावधान हो जाएं। सूत्रों ने बताया कि एलईडी बल्ब के अगले हिस्से से रोशनी आती है, पर उसके पिछले हिस्से में डिवाइस फिट है। इसी डिवाइस में मेमोरी कार्ड लगता। बल्ब के रोशनी बिखेरने वाले भाग के नीचे बहुत ही छोटा कैमरा सेट किया गया है। यह कैमरा वीडियो के साथ ही बातचीत को भी रिकॉर्ड करता है, जिसे मेमोरी कार्ड में सेव किया जाता।
अगर अाप शॉपिंग मॉल में कपड़े खरीद कर ट्रायल रूम (चेंजिंग रूम) में बदलने जा रहे हैं या फिर बाथरूम में नहाने जा रहे हैं तो जरा सावधान हो जाइए। इन जगहों पर अाप देख लीजिए कि कहीं वहां पर वीडियो रिकार्डिंग वाला एलईडी बल्ब तो नहीं लगा है। क्योंकि बाजार में इस समय खुफिया कैमरे वाले एलईडी बल्ब बिक रहे हैं जो रोशनी के साथ अाप की हरकत को रिकार्ड कर लेते हैं।

बाजार में इन वीडियो रिकार्डिंग वाले एलईडी बल्ब को गुपचुप तरीके से बेंचा जा रहा है। इन एलईडी बल्ब में अागे की तरफ लगे छोटे-छोटे कई बल्बों के बीच में एक खुफिया कैमरा लगा होता है। बल्ब के पिछले हिस्से में डिवाईस फिट रहती है। बल्ब के बीच वाले हिस्से में ऊपर की तरफ मेमोरी कार्ड भी लग जाता है जो वीडियो के साथ ही बातचीत को भी अपनी मेमोरी मे स्टोर कर लेता है।

गुपचुप तरीके से की जाती है बिक्री
सूत्रों के मुताबिक, खुफिया कैमरा लगे इन वीडियो रिकार्डिंग वाले एलईडी बल्ब की राजधानी के नाका मार्केट में भरमार है। इसके अलावा यह बल्ब कई इलेक्ट्रॉनिक की दुकानों पर भी उपलब्ध है। लेकिन इन बल्बों की बिक्री किसी जान पहचान वाले को ही की जाती है। सूत्रों के मुताबिक इन कैमरों की खरीदारी होटल वाले अधिक कर रहे हैं।

पकड़े जाने पर होगी कार्यवाई
इस संबध में डीअाईजी रेंज लखनऊ अारकेस राठौर ने बताया ऐसा कोई मामला संज्ञान में नहीं अाया है अगर कोई लिखित शिकायत अायेगी तो निश्चित कठोर कार्यवाई की जाएगी। अाप को बता दें ऐसा करने वालों पर आईपीसी की धाराओं 354-सी (दर्शनरति या ताकझांक), 509 (निजता में दखल) और आईटी कानून की धारा 66-ई (व्यक्ति की सहमति के बिना गोपनीय हिस्से की तस्वीर उतारना या प्रकाशित करना) के तहत कार्यवाई की जा सकती है जिसमें तीन से सात साल तक की सजा और जुर्माने का भी प्रावधान है।

स्मृति ईरानी भी हो चुकीं शिकार, ऐसे बरतें सावधानी
वैसे तो इन खुफिया कैमरे लगे बल्बों को पहचानने में काफी परेशानी होती है। लेकिन अगर अाप बाथरूम या चेंजिंग रूम में जा रहे हैं तो अपने फोन से किसी को कॉल करके देख लीजिए। अगर उस जगह पर ऐसा बल्ब लगा होगा तो अवाज ईको (खरखराहट) करने लगेगी। अाप को बता दें पिछले साल 3 अप्रैल 2015 को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने गोवा के एक शोरूम फैब इंडिया के चेंजिंग रूम में एक हिडेन कैमरा पकड़ा था। इस मामले मे चार कर्मचारियों को गिरफ्तार कर लिया गया था।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts