Breaking News

कांग्रेस भी चलेगी भाजपा की राह पर तो उठाना पड़ेगा खामियाजा – सपाक्स पार्टी

सपाक्स पार्टी ने ज्ञापन देकर चेताया मुख्यमंत्री को

मन्दसौर। सपाक्स पार्टी के प्रदेश आव्हान के तहत आज मंदसौर जिला मुख्यालय पर सपाक्स द्वारा 2 अप्रैल की घटना के प्रदर्शन, दंगों के दौरान दर्ज अपराध वापसी के विरोध, एट्रोसिटी एक्ट एवं पदोन्नति में आरक्षण में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री केे नाम एक ज्ञापन कोर्ट परिसर स्थित तहसील कार्यालय पर नायब तहसीलदार वैभव जैन को दिया गया। इसके पूर्व बड़ी संख्या में सपाक्स पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता गांधी चौराहा पर एकत्रित होकर वाहन रैली के रूप में कोर्ट परिसर पहुंचे। रास्ते में सभी ने एट्रोसिटी एक्ट के विरोध सहित अन्य मुद्दों पर जोरदार नारेबाजी की।

मुख्यमंत्री के नाम दिये ज्ञापन में कहा कि पिछले 9 माह में केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा सामान्य, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक वर्ग के विरुद्ध दो बड़े निर्णय लिए थे जिससे इस देश का बहुसंख्यक वर्ग आहत हुआ है पहला निर्णय एट्रोसिटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को बदलने के लिए एट्रोसिटी एक्ट अमेंडमेंट 2018 पासकर उसे जन भावना के विरुद्ध लागू किया तथा दूसरा निर्णय पदोन्नति में आरक्षण के संबंध में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई गाइडलाइन के विरुद्ध जाकर कार्मिक मंत्रालय द्वारा पदोन्नति में आरक्षण दिए जाने के निर्देश जारी किए। उक्त दोनों आदेशों के विरुद्ध आंदोलन का सरकार पर कोई प्रभाव नही हुआ तब जनता ने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ एवं राजस्थान में अपना जनादेश देकर सरकार ही बदल दी है, औऱ इसी कारण कांग्रेस सत्ता में आयी है।परंतु सत्ता में आने के बाद आपने सामान्य, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक समाज की किसी समस्या पर विचार कर हल करने के बजाय भाजपा की भांति उक्त समाज पर चोंट करना प्रारंभ कर दिया है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर राजनीतिक कारणों से दर्ज मुकदमे उठाने के बहाने मायावती के बयान पर आपकी सरकार के एक मंत्री द्वारा 2 अप्रैल की हिंसा एव दंगों के दर्ज मुकदमे भी उठाने की बात कह कर पुनः न केवल समाज को जातिवाद के आधार पर बाँटने का कुत्सित प्रयास किया है, वरन असामाजिक तत्वों को क़ानून के ख़ौफ से भी मुक्त करने का प्रयास किया है। यदि ऐसा हुआ तो इस प्रदेश में कानून का नही भीड़तंत्र का राज होगा। यह विषय अत्यंत गंभीर है और यदि सरकार ऐसा कोई निर्णय लेती है तब मध्यप्रदेश में सामान्य, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक समाज के संगठन तथा सपाक्स पार्टी मिल कर एक बड़ा आंदोलन चलाएंगे जिसकी जवाबदारी कांग्रेस पार्टी की सरकार की होगी तथा 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को उसका खामियाजा उठाना पड़ेगा। ज्ञापन में मुख्यमंत्री से आशा व्यक्त की कि आप की सरकार इस विषय पर गंभीर विचार-विमर्श कर ऐसे निर्णय लेगी जिससे इस प्रदेश के बहुसंख्यक वर्ग की भावना और सम्मान को ठेस न पहुँचे।

ज्ञापन का वाचन सपाक्स जिला उपाध्यक्ष एम.पी.सिंह परिहार पूर्व टी.आई. ने किया। संचालन विधानसभा प्रभारी सुनील बंसल ने किया एवं आभार सपाक्स किसान जिलाध्यक्ष भारतसिंह राजाखेड़ी ने माना। इस अवसर पर सपाक्स युवा जिला संयोजक राहुल शर्मा, हरिशंकर शमा, अर्जुनसिंह राठौर, सलभ बंसल, लोकेश गर्ग सहित अनेक पदाधिकारी कार्यकर्ता एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। उक्त जानकारी सपाक्स के सत्येन्द्रसिंह सोम ने दी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts