Breaking News

काई तो बतादे हमे, पशुपतिनाथ नर्सिंग कॉलेज कहां है?- चौहान

यह बात अभाविप के प्रांत संगठन मंत्री बंटी चौहान नें कही। वे रविवार को नपा सभागृह में पत्रकारों से चर्चा में बोल रहे थे। उन्होंने बताया कि अतिथि विद्वानों, प्राचार्य नियुक्ति, छात्रसंघ चुनावों सहित विभिन्न मांगों को लेकर अभाविप का प्रतिनिधिमंडल उच्च शिक्षा मंत्री जयभानसिंह पवैया से मिला था। पवैया ने मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया है। उच्च शिक्षा मंत्री ने नवीन सत्र से सेमेस्टर पद्घति समाप्त कर वार्षिक पद्घति प्रारंभ करने की बात कहीं। उच्च शिक्षा मंत्री ने नवीन सत्र में छात्रसंघ चुनाव कराने की भी बात कहीं। प्रवेश प्रकिया सरल करने के साथ ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन सुविधा भी दी जा सकती है।

हर साल बनेगा उत्कृष्ट महाविद्यालय
उच्च शिक्षा मंत्री ने उत्कृष्ट स्कूल की तर्ज पर उत्कृष्ट महाविद्यालय बनाने की भी बात कहीं। उन्होंने कहा कि नवीन सत्र से जिले में हर साल एक उत्कृष्ट महाविद्यालय प्रारंभ किया जाएगा।

पशुपतिनाथ नर्सिंग कॉलेज कहां है?
बंटी चौहान ने जिला प्रशासन पर शिक्षा का बाजारीकरण करने का आरोप लगाते हुए दलालों को संरक्षण देने की बात कहीं। कई बार कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर पशुपतिनाथ नर्सिंग कॉलेज कहां संचालित है? इसकी जानकारी मांगी। जिला प्रशासन ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की। इससे साबित होता है कि जिला प्रशासन से सांठ गांठ कर फर्जी नर्सिंग कॉलेज संचालित हो रहे हैं। इस पर रोक लगाने के लिए अभाविप जल्द आंदोलन प्रारंभ करेगी।
इस दौरान चौहान ने बताया छात्र संगठन पशुपतिनाथ नर्सिंग कॉलेज कहां है अभियान शुरू करने जा रहा है। यह काॅलेज कागजों में ही संचालित है। प्रशासन को अवगत कराने के बाद भी कार्रवाई नहीं हुई। भानपुरा हरकचंद चौरड़िया कॉलेज के एक हिस्से में कब्जे के प्रयास के मामले को लेकर आंदोलन करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा हर जिले में उत्कृष्ट कॉलेज की योजना इस बार से शुरू होगी। इस सत्र से 5 वीं, 8 वीं को शासन फिर से बोर्ड करने जा रहा है। इससे शिक्षा में गुणवत्ता रहेगी। इसके अलावा शिक्षा क्षेत्र की अन्य समस्याओं का समाधान होगा।
यह बात एबीवीपी के प्रांत मंत्री बंटी चौहान ने कही। वे रविवार दोपहर नपा सभागार की प्रेस काॅन्फ्रेंस में बोल रहे थे। उन्होंने कहा अन्य प्रमुख मांगों जैसे नए छात्रावासों को खोलना, छात्रवृत्ति राशि में बढ़ोतरी, जटिल प्रवेश प्रक्रिया को खत्म कर सरलीकरण करना आदि शामिल हैं। एबीवीपी ने इस बार नए कोर्स में तकनीकी, कृषि, चिकित्सा, विधि, विश्वविद्यालय प्रशासनिक समस्या व उच्च शिक्षा संबंधी मांगों पर उच्च शिक्षा मंत्री जयभानसिंह पवैया को अवगत कराया है। कॉलेज प्राचार्य पदों की स्थायी नियुक्ति के साथ छात्रवृत्ति वितरण समय पर कराने का आश्वासन भी मिला है। 30 जनवरी तक सभी कॉलेजों में स्मार्ट फोन वितरण कर दिया जाएगा। प्रांत मंत्री ने बताया फरवरी में 35 सूत्री मांगों पर चर्चा के लिए सीएम व उच्च शिक्षा मंत्री पवैया से संगठन का प्रतिनिधिमंडल मिलेगा। अतिथि विद्वानों के मानदेय बढ़ोतरी पर भी सहमति बनेगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts