Breaking News

किसानों एवं कांग्रेस नेताओं ने पिपलियामंडी से मंदसौर तक ट्रैक्टर रैली निकाली

मंदसौर। लहसुन के दाम 10 हजार रुपए प्रति क्विंटल करने की मांग को लेकर मंगलवार को किसानों एवं कांग्रेस नेताओं ने पिपलियामंडी से मंदसौर तक ट्रैक्टर रैली निकाली। किसान और कांग्रेस नेता नारेबाजी कर मंदसौर के गांधी चौराहे पर पहुंचे। सभी अपने साथ लहसुन भी लेकर आए थे। गांधी चौराहे पर हुई नुक्कड़ सभा में प्रदेश और देश की सरकार को कांग्रेस नेताओं ने जमकर कोसा। इस दौरान ज्ञापन लेने कलेक्टर नहीं आए तो कांग्रेस नेताओं व किसानों ने एसडीएम को ज्ञापन नहीं देकर गांधीजी की प्रतिमा के सामने रख दिया और लहसुन भी वहीं भेंट कर दी।

पिपलियामंडी से किसान एवं कांग्रेस की ट्रैक्टर रैली को लेकर पुलिस प्रशासन सतर्क रहा। रैली के रूप में किसान मंदसौर कलेक्टोरेट में ज्ञापन देने निकले थे। पहले प्रशासन ने जिला पंचायत में ज्ञापन लेने के लिए तैयारी की। जिपं एवं श्री कोल्ड तिराहे पर पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी तैनात रहे। दोप. 2.45 बजे यहां रैली पहुंची तो किसान ज्ञापन देने से मना कर आगे बढ़ गए। फिर गांधी चौराहे पर पहुंचकर ज्ञापन देना तय किया। ट्रैक्टरों में रखकर लाए लहसुन को किसानों ने गांधी चौराहे पर ही रख दिया। कांग्रेस नेता श्यामलाल जोकचंद ने कहा कि कांग्रेस की सरकार में किसानों की लहसुन 22 हजार रुपए प्रति क्विंटल तक बिकती थी आज 800 रुपए से भी कम दाम किसानों को मिल रहे हैं। भावांतर में लहसुन को शामिल करना महज एक जुमला है। लहसुन के दाम 10 हजार रुपए क्विंटल नहीं किए गए तो 15 दिन बाद पिपलियामंडी में चक्काजाम कर गिरफ्तारी देंगे। पूूर्व विधायक नवकृष्ण पाटिल, जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातड़िया, उपाध्यक्ष महेंद्रसिंह गुर्जर, मुकेश काला, परशुराम सिसौदिया, किसान नेता अमृतराम पाटीदार ने भी संबोधित किया।

कलेक्टर नहीं पहुंचे तो एसडीएम को भी नहीं दिया ज्ञापन

रैली के बाद किसान एवं कांग्रेस नेता कलेक्टर को ज्ञापन देना चाहते थे। कलेक्टर नहीं पहुंचे तो एसडीएम शिवलाल शाक्य ज्ञापन लेने गांधी चौराहे पर आए। उस समय भाषण चल रहे थे। कांग्रेस नेताओं ने 10-15 मिनट बाद ज्ञापन देने के लिए कहा। एसडीएम कुछ देर रुके और फिर वाहन में जाकर बैठ गए। नुक्कड़ सभा समाप्त होने के बाद कांग्रेस नेता श्यामलाल जोकचंद ने कहा कि कलेक्टर ज्ञापन लेने नहीं आए हैं, हम बापू की प्रतिमा को ज्ञापन देकर अपनी मांगे रखेंगे। इसके बाद किसानों और कांग्रेस नेताओं ने महात्मा गांधी की प्रतिमा के ज्ञापन रख दिए, साथ में लाए लहसुन भी वहीं पर भेंट की। इस दौरान एसडीएम, सीएसपी व अन्य अधिकारी भी गांधी चौराहे पर ही रहे।

डोडाचूरा को एनडीपीएस एक्ट से बाहर करने की भी मांग

किसानों ने लहसुन के दाम बढ़ाने के साथ ही डोडाचूरा को एनडीपीएस एक्ट से बाहर करने की मांग का ज्ञापन भी गांधीजी की प्रतिमा को सौंपा। इसमें कहा गया कि डोडाचूरा में मार्फिन की मात्रा 0.02 प्रश होती है। इसे एनडीपीएस एक्ट से बाहर किया जाना चाहिए। डोडाचूरा के मामले में अनेक निर्दोष लोग जेलों में बंद है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts