किसानों की हड़ताल, सड़कों पर बहा रहे कंटेनरों का दूध

Hello MDS Android App

मंदसौर। किसान हड़ताल पर हैं, जिससे शहर में नागरिकों को कृषि से जुड़े जरूरी सामान न मिल पाने की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कर्जमाफी और अन्य मुद्दों पर बातचीत विफल रहने के बाद किसानों ने फैसला किया था कि बाजारों में सब्जियां व दूध नहीं बेचेंगे। किसानों का फैसला है कि एक हफ्ते तक मंडियों में दूध-सब्जी की सप्लाई नहीं की जाएगी। शहर सहित पूरे जिले में गुरुवाार को किसानों ने दूध, सब्जी व अन्य कृषि उपज की आपुर्ति रोकने की कोशिश की। जिले की मंडियां चालू तो रही पर कृषि उपज नहीं आई। जिला मुख्यालय पर नाम मात्र की उपज निलामी हुई। वहीं दूध एवं सब्जी आपुर्ति में भी बहुत कमी आई। कईगांवों में दूग्ध सोसायटियों व निजी दुग्ध कंपनियों के काउंटर पर भी दूध उत्पादकों को दूध नहीं देने दिया गया। वहीं थोक दुग्ध विक्रेताओं को भी गांव-गांव में दूध खरीदने से रोका गया। किसान संगठनों ने कृषि उपज के भाव दो गुना करने व किसानों का कर्जा माफ करने की मांग को लेकर एक से 10 जून तक हड़ताल करने की घोषणा की है। इसके पालन में संगठनों के कार्यकर्ता किसान गांव से कृषि उपज मंडियों तक जाने से रोक रहे है।वहीं दूध व सब्जियोंं को भी गांव से बाहर नहीं जाने दे रहे है। हांलाकि गुरुवार को अनेक दूध सब्जी उत्पादक हड़ताली किसानों से बचते बचाते नए-नए रास्तों से होकर शहर तक आए और उन्होंने दूध सब्जी खैरचीं विक्रेताओं को बेची। वहीं विभिन्न दुग्ध डेयरियों की पैक बंद दूध की आपुर्ति भी बनी रहने से लोगों को खास दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ा। शाम को बड़ी संख्या में लोग दूध के लिए भटकते रहे।

शाम को कईकिसान संगठनों के सदस्य शहर भर में घूमे। उन्होंने दुग्ध विक्रेताओं को दूध नहीं खरीदने को भी कहा। हड़ताली किसानों के अनुसार शुक्रवार से गांव से कृषि उपज सहित दूध को भी बाहर नहीं जाने से रोकेगें। दूध डेयरियों पर भी दूध विक्रय नहीं करने दिया जाएगा। कृषि उपज मंडी सचिव एमएस मुनिया ने बताया कि किसानों की हड़ताल की वजह से मंडी में कृषि उपज नहीं के बराबर रही। हड़ताल के कारण शुक्रवार को भी कृषि उपज आने की संभावना नहीं है। थोक सब्जी मंडी भी शुक्रवार को सब्जी की आवक नहीं होने से मंडी निलामी बंद रहेगी। केवल कार्यालय कार्य चालू रहेगा। शहर में युवा किसानों ने बाइक रैली निकालकर सब्जी व दूध विक्रेताओं से किसानोंं की हड़ताल में साथ देने व दूध सब्जी नहीं खरीदने की अपील की। सीतामऊ फाटक, गांधी चौराहा, नाहर सय्यद रोड सहित कईक्षेत्र में हड़ताली किसानों ने दूध उत्पादकों का दूध छिनकर सड़क पर उड़ेल दिया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *